कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

सामाजिक मुद्दे
‘कब तक लड़ेंगे अपनों से’ कहकर आयशा आरिफ खान ने मौत को गले लगा लिया…

लोग वीडियो को शेयर कर रहे हैं और लोगों की आंखें नम हैं मगर ये लोगों की ही बनाई मानसिकता है कि आयशा आरिफ खान अपनी जिंदगी से तंग हो गई। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
अब आपकी ये नालायक़ बहु चुप नहीं बैठेगी…

क्या जो तुमने पहले किया वो शादी के बाद भी कर रही हो? नहीं ना? तो जाकर चुपचाप नॉन-वेज बनाओ और नहीं बनाना तो अपने बाप के घर चली जाओ।

टिप्पणी देखें ( 0 )
बहु घर का काम ही कितना होता है जो टाइम नहीं मिला…

आलोक को भी अच्छा खाने का शौक था, वह निशा से रोज़ नई सब्ज़ी बनवा कर खाता, इन सब चक्करों में निशा को समय ही नहीं मिलता...

टिप्पणी देखें ( 0 )
मर्द बनाने की बजाय आप अपने बेटे को औरत की इज्ज़त करना सिखाते तो अच्छा होता…

आपने अपनी बेटी को तमीज ही नहीं सिखाई, ले जाइए अपनी बेटी। हमें ऐसी बहु नहीं चाहिये जो अपने पति को मारती हो।

टिप्पणी देखें ( 0 )
एक सेक्सी-मॉडर्न बीवी से ही मेरा काम बनेगा…

डिअर तन्वी मैं तुमको समझाने की कोशिश कर रहा हूं और तुम समझ नहीं रहीं, इस मीटिंग में तुम्हारा जाना ज़रूरी है और सेक्सी-मॉडर्न लुक में।

टिप्पणी देखें ( 0 )
आपने हमें बताया कि दुखी होने के बावजूद औरतें शादी के रिश्ते को निभाती हैं क्यूँकि…

बच्चों की वजह से मैं अपने सपनों ओर इच्छाओं की कुर्बानी दे सकती हूँ लेकिन बच्चों को किसी चीज की कमी बर्दाश्त नहीं कर सकती।

टिप्पणी देखें ( 0 )
topic
social-issues-2
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020