सामाजिक मुद्दे
जब मेरी सहेली ने माँ बनने के लिए मुझे एक नया तरीका सुझाया!

ये तो वरदान है, और तो और आप बिना शादी किए भी इस तकनीक से बाल सुख ले सकते हो। आजकल तो कितने ही बॉलीवुड स्टार्स भी इसकी मदद से माँ-बाप बन रहें हैं। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्यों लड़कों की अपने ससुराल के प्रति कोई ज़िम्मेदारी नहीं होती?

हमारे समाज में लड़की वालों को कब तक लड़के वालों द्वारा बनाये गए मापदंडों पर खरा उतरना पड़ेगा? क्या शादी का मतलब है लड़की के घर वालों से लड़की का रिश्ता ख़त्म?

टिप्पणी देखें ( 0 )
बिना जाने समझे किसी के चरित्र का हनन करना कितना उचित है?

आज समाज चाहे कितना भी आगे बढ़ रहा हो, पर लोगों की सोच में मझे विशेष परिवर्तन देखने को नहीं मिलते। अफ़सोस की बात है कि महिलाएं ही महिलाओं को नहीं बख्शतीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
आज भी सिर्फ लड़कियों का ही सर्वगुण सम्पन्न होना क्यों ज़रूरी है?

आज भी समाज की मानसिकता लड़कियों को हर कदम पर लड़कों से कम आंकती है, आखिर क्यों? क्या  'लड़का लड़की एक समान' सिर्फ कागजों में लिखी एक खूबसूरत पंक्ति है?

टिप्पणी देखें ( 0 )
यदि आपका मोबाइल फ़ोन आपका सबसे बड़ा हमदर्द है तो इसे खतरे की घंटी समझें!

अगर आप सब कुछ छोड़ कर अपने मोबाइल फ़ोन में ही खोए रहते हैं तो आप इसके गुलाम बन गए हैं और इस एडिक्शन से छुटकारा पाने के लिए आपको काउंसलर की ज़रुरत है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
समीरा रेड्डी कहती हैं, खुलकर अपने डर पर बात करो, मज़ाक उड़ाने वालों को मुंह तोड़ जवाब दो!

एक्ट्रेस समीरा रेड्डी कहती हैं, “एक टीनएज होने के बावजूद भी मुझ पर अच्छा दिखने का बहुत प्रेशर था।” अपनी इंसिक्योरिटी पर समीरा ने बड़ा ही बेबाक होकर लिखा है। एक एक्ट्रेस हैं समीरा रेड्डी, नाम से शायद आपको याद ना आए लेकिन उन्होंने बॉलीवुड में एक टाइम में काफी फिल्में की हैं और डांस […]

टिप्पणी देखें ( 0 )
topic
social-issues-2
और पढ़ें !

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?