कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

माँ की जुबानी
अब 40 की उम्र में भी तुम लोरी सुनोगी?

मेरी उत्सुकता भी बढ़ गई, “हाँ माँ बताओ ना, मैं कौन सी लोरी सुनती थी?” माँ ने झिड़कते हुए कहा, “अब 40 की उम्र में तुम लोरी सुनोगी?”

टिप्पणी देखें ( 0 )
माँ, आप फिर वही साड़ी पहन कर आ गयीं…

"माँ सही कहती हैं कि जितनी चादर हो उतने ही पैर फैलाने चाहिए। और तुम बुआ जी की बातों पर ध्यान मत दो।" साहिल की इस बात से सब सहमत थे। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्या मैं बिना सजे संवरे सुंदर नहीं लग सकती?

आखिर ज़रूरत ही क्या है इतना सजने संवरने की? क्या हम सामान्य रहकर सुन्दर नहीं लग सकते, ज़रूरी है इतना कुछ करना?

टिप्पणी देखें ( 0 )
माँ, मैं आपके जैसी नहीं बनना चाहती हूँ…

आप जैसी हो, मैं आपसे वैसे ही प्यार करती हूँ। मैं चाहकर भी आपसे प्यार करना बंद नहीं कर सकती लेकिन मैं आपके जैसा नहीं बनना चाहती।

टिप्पणी देखें ( 0 )
भाभी, साड़ी में आपके स्ट्रेच मार्क्स नज़र आते हैं…

एक औरत जब मां बनती है तो उसमें शारीरिक बदलाव होना बहुत ही नॉर्मल सी बात है और यह कोई शर्म की बात नहीं है

टिप्पणी देखें ( 0 )
दीदी, सिर्फ माँ बनने से ममता नहीं आती…

"अरे पिंकी अभी तक यही खड़ी है। चाय के कप क्या तेरा बाप उठाकर ले जाएगा?" संगीता ने अपने घर काम करने वाली छोटी सी बच्ची से कहा।

टिप्पणी देखें ( 0 )
topic
stories-from-moms
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020