कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

रिश्ते
अपने जीवन में विशेष रिश्तों के बारे में भारतीय महिलाओं की सच्ची कहानियाँ
क्या आज रात तुम मेरे लिए दुल्हन की तरह सजोगी?

शन्नो और अनस की शादी हो गयी, एक ही कपड़ों के जोड़े में बिना मेहँदी और चूड़ियों के शन्नो ब्याह दी गयी और अब उसके सारे सपने चूर-चूर हो चुके थे।

टिप्पणी देखें ( 0 )
बेटा अगर तुमसे गलती हुयी है तो माफ़ी मांग लो…

रेखा की आँखों से नींद कोसों दूर थी, रात के क़रीब एक बज चुके थे लेकिन रेखा को समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे।

टिप्पणी देखें ( 0 )
मैं इस घर की बहू हूँ कोई बंधुआ मज़दूर नहीं…

इतने कहते ही, उसकी सास उस पर बरस पड़ी, "तुझे तो आराम फ़रमाने के बहाने चाहिए बस एक बहाना बना लो और सारा दिन बिस्तर तोड़ो।”

टिप्पणी देखें ( 0 )
मैं अपनी सासू माँ को बहुत अच्छे से जानती हूँ…

अरे यार क्या हो गया है आज? सुबह-सुबह क्या हो गया है मम्मी को? इतनी तेज़ आवाज़ में गाने गा रही है और रसोई में बर्तन बजा रही है?

टिप्पणी देखें ( 0 )
माँ क्या मेरा तलाक मेरे जीवन की सबसे बड़ी गलती है?

अब रीना को सब बातें समझ में आने लगीं। उसे अब समझ आया कि क्यूँ उसकी माँ हर वक़्त उससे खींची-खींची और नाराज़ रहती थीं। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
मेरा बेटा अब जोरू का गुलाम बन कर रह गया है…

वाह बेटा वाह! बड़ी जल्दी बीवी का चेहरा पढ़ना सीख गया? जा अब जा कर मना उसे, खाना बना खिला, रसोई में रखे बर्तन धो...जोरू का गुलाम!

टिप्पणी देखें ( 0 )
topic
relationships
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020