कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

परवरिश
आधुनिक भारतीय माँ के दृष्टिकोण से बच्चों के पालन-पोषण के बारे में
अगर आप एक खुशहाल परिवार चाहते हैं तो आपका ज़िम्मेदार होना भी ज़रूरी है!

जब आप अपने घर, बच्चों और अपनी पत्नी की जिम्मेदारी उठा नहीं सकते थे, तो पहले ही मुझे बता दिया होता तो आज कहानी कुछ और होती।

टिप्पणी देखें ( 0 )
होम स्कूलिंग को अब अपने बच्चों की ज़िंदगी का परमानेंट हिस्सा बनाइये

आज स्कूलों द्वारा बच्चों से जुड़े रहने हेतु उन्हें ऑनलाइन एजुकेशन और होम स्कूलिंग दी जा रही है, तो फिर ये स्कूल जाने के ताम-झाम क्या वाकई इतने ही जरूरी हैं?

टिप्पणी देखें ( 0 )
वो मुलाकात एक अजनबी परिवार के साथ

हर माता-पिता को चाहिए कि वे इस तरह से अपने बच्‍चों को सकारात्‍मकता के साथ समझाएँ कि सब अजनबी बुरे नहीं होते, सिर्फ उन्‍हें सही परखने की जरूरत है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
हर बच्चे और उनके पेरेंट्स के लिए एक ज़रूरी अपील

ये बेहद ज़रूरी है कि हम अपनी बच्चों को सुरक्षा के दायरे में रखें, अपने बच्चों को गुड टच और बैड टच की जानकारी बचपन से ही देना शुरू कर दें।

टिप्पणी देखें ( 0 )
माँ प्लीज़ अब तुम भी बड़ी हो जाओ ना

आज ज़माना बदल गया है, थोड़ा आप भी समझिये और बच्चे के दोस्त बनिये। यकीन मानिये बच्चा कुछ भी नहीं छुपाएगा आपसे। आज ज़माना बदल गया है। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
बच्चों की नैतिक शिक्षा घर से हो शुरू करें

आज ज़रूरत है कि माता-पिता अपने बच्चों को आवश्यक रूप से समय देते हुए उन्हें प्रारंभ से ही अच्छा-बुरा, सही-गलत इत्यादि के बारे में नैतिक शिक्षा अवश्य दें। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
topic
parenting-tips
और पढ़ें !

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?