कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

LGBTQ
क्या आप जानते हैं कि LGBTQ के प्रति हमारे नज़रिये को बदलने में इतना समय क्यों लग रहा है?

रिपोर्ट्स का कहना है कि LGBTQ को कुछ लोग काम पर रख तो लेते हैं परन्तु वहां उनका मानसिक उत्पीड़न किया जाता है, उनका मज़ाक बनाया जाता है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
ग्रामीण लोग आज भी समलैंगिकता को भूत-प्रेत से जुड़ा मानते हैं

लोग समलैंगिकता का मतलब ही नहीं समझते कि यह क्या तथ्य है, ग्रामीण लोग इस बात को देवी देवता और अंधविश्वास से जोड़ कर देखते हैं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
हमारे जैसे ‘सामान्य लोग’ असमान्य व्यवहार करते हैं और कहते हैं, कि ‘वो’ सामान्य नहीं?

इस लेख में मैंने छोटे-छोटे कस्बों और शहरों में केवल LGBTIQ कम्यूनिटी के T को पेश आती मुश्किलों के बारे में बात की है। बाकि आप 'सामान्य लोग' खुद सोचें...

टिप्पणी देखें ( 0 )
इस प्राइड मंथ एलजीबीटी से जुड़े कुछ मिथकों को दूर कर तथ्यों को समझें   

अगर आपने अभी भी अपने मन में एलजीबीटी से जुड़ी अनगिनत गलत फ़हमिया पाल रखी हैं तो इस प्राइड मंथ में जानिए एलजीबीटी से जुड़े कुछ मिथक और तथ्य। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
ये है मेरा राजीव से सोनाली बनने का सफर..

मैंने आँखों में काजल लगाया, तो आपने मुझे नचनिया बना दिया? मैंने अपने पसंद के कपड़े पहने तो आपने मुझे हिजड़ा और छक्का बना दिया?

टिप्पणी देखें ( 1 )
होमोफोबिया : अब इस फोबिया को दूर करने का समय आ गया है!

होमोफोबिया दो शब्दों से मिलकर बना है जो दो शब्दों का युग्म है, मगर न जाने कितनी ही तक़लीफ़ों का और असमानता का एक अंबार लिए है।

टिप्पणी देखें ( 0 )

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?