फेमिनिस्ट
वो कुछ नहीं करती बस हॉउस वाइफ है

कई बार ज़िक्र हुआ, कई बार बहस हुई, ढेरों लेख लिखे गए, लेकिन हर घर में कभी ना कभी ये ज़रूर सुनाई दिया है, "ये कुछ नहीं करती!"

टिप्पणी देखें ( 0 )
फेमिनिस्ट आइकॉन प्रिया मलिक जनता से कुछ अहम् सवाल पूछ रही हैं और हमें लगता है ये सबको सुनने चाहियें!

समाचार को प्रस्तुत करने का ये जरिया न ही सिर्फ लोगों को जागरुक करता है बल्कि खबरों की तरफ लोगों की रुचि भी बढ़ाता है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
खोने नहीं देंगे खुद को, वादा है मेरा और आपका

जैसे मेरे दिल को अंदर तक कुछ भेद दिया था। बहुत चुभन हुई, और सबके जाने के बाद आज आईने से बातें करने बैठ गई और खुद को निहारने लगी।

टिप्पणी देखें ( 0 )
तोड़ डाल सारे बंधनों को-क्योंकि कोमल है कमजोर नहीं तू

तोड़ डाल सारे बंधनों को, जो तेरी प्रगति की राह में कंटक हैं, दिखला दे पुरुषों को, समाज को, किसी क्षेत्र में उनसे कम नहीं तू, क्योंकि कोमल है कमजोर नहीं तू।

टिप्पणी देखें ( 0 )
मेरी सशक्तिकरण में सहायक पुरुष

एक पुरुष, स्त्री के बिना अधुरा है, और स्त्री को भी पुरुष की आवश्यकता है। सशक्तिकरण का मतलब, चाहे पुरुष हो या स्त्री, किसी भी सन्दर्भ में, अकेले चलना नहीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्यों स्त्रियों को एक समूचे अस्तित्व के तौर पर स्वीकारना इतना मुश्किल है

सम्मान दें और सम्मान पाएं, क्यूंकि मर्यादा का पालन सबको करना चाहिए, सिर्फ बहुओं या औरतों को ही नहीं। मर्यादा से ही समाज चलता है, ये न भूलें।

टिप्पणी देखें ( 0 )

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?