कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

manju singh

साहित्य समाज का दर्पण है यह मेरी मान्यता है। इसी कारण हमेशा सार्थक रचना करने का प्रयास करती हूं।

Voice of manju singh

सिर्फ भाभी ही नहीं, मैं भी कमाल की हूँ…

बच्चे अगर देर से सोकर उठते तो अनिला का यही कहना होता, "कावेरी भाभी ने अब तक सब को उठा कर नाश्ता भी करा दिया होगा।"

टिप्पणी देखें ( 0 )
माँ, काश तुम मुझे समझ पातीं…

धीरे-धीरे बिंदु ने अकेले बड़बड़ाना सीख लिया। जितना गुस्सा होता था वह अकेले कमरे में बोलकर निकालती थी और ऐसे ही वो बड़ी हो गयी...

टिप्पणी देखें ( 0 )
ये घर सिर्फ उनका नहीं तुम्हारा भी है…

यदि उसे ससुराल की आवश्यकता है तो पति और सास को भी तो उसकी आवश्यकता है। उसके बिना भला घर का काम कैसे चलेगा?

टिप्पणी देखें ( 0 )
और उसने परफ्यूम के साथ-साथ समय को भी सूंघना सीख लिया…

वह परफ्यूम की इतनी शौकीन रही है कि बहुत कीमती तथा आसानी से ना मिलने वाली सुगंध खरीद खरीद कर जमा करती रही।

टिप्पणी देखें ( 0 )
आज मेरा समय नहीं है शायद इसीलिए मैं नाराज़ थी

हेवी सिल्क, शिफॉन और चंदेरी साड़ियाँ उसने उन्हें दी थीं लेकिन वे कभी फटी जींस में और कभी अन्य आधुनिक पोशाकों में ही नजर आती थीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020