कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

पति कुछ कहे तो सुन लो, बेचारा दिन भर काम से थक के आता है…

मतलब घर से बाहर के काम, काम हैं उन्हीं से थकान होती है? ऐसा कहने वाली घर की कोई बड़ी स्त्री ही होती है, जो बस अपने ज़माने के कामों का बखान करती है।

हमारे समाज में व्याप्त लिंग भेद को बढ़ावा देते कुछ वाक्य….

मर्द को दर्द नहीं होता

ऐसा कह हम उससे उसकी भावनात्मक अभिव्यक्ति का अधिकार छीन लेते हैं।

क्या लड़कियों की तरह रो रहा है

ऐसा कह आप लड़के को सशक्त नहीं अपितु लड़कियों में उनके कमजोर होने का एहसास जगा रहे हैं।

क्या लड़कों की तरह व्यवहार करती हो लड़की हो लकड़ियों की तरह रहो

इस वाक्य से हम खुद ही लिंग भेद को जन्म देते हैं, आचरण तो दोनों का ही शालीनता भरा होना चाहिए फिर ये जिम्मेदारी लड़कियों पे ही क्यों।

घर के काम सीखो वरना ससुराल में जा कर नाक कटाओगी

Never miss real stories from India's women.

Register Now

गोया नाक ना हुई ग़ुब्बारा हो गया जो ज़रा सी पीन से फूट जाएगा, घर दोनों का है जनाब तो दोनों ही मिलकर काम क्यूँ नहीं कर सकते? दोनों को सीखना चाहिए, गाड़ी के एक भी टायर में हवा कम हो तो गड़ी चलाने में भारी हो जाती है।

पति कुछ कहा करें तो सुन लिया करो दिन भर काम से थक के आता है

ये सीख बेटों को नहीं दी जाती यानी खाना बनाना, घर, बच्चे, काम वाले इन सब को संभालने में कोई मेहनत नहीं लगती, ये सब बैठे बैठे हो जाता है? मतलब घर से बाहर के काम, काम हैं उन्हीं से थकान होती है और ऐसा कहने वाली भी घर की कोई बड़ी बूढ़ी स्त्री ही होती है, जो सारे दिन अपने ज़माने के कामों का बखान करती हैं।

अब वक़्त आ गया है इस सोच को बदलने का सोच बदलेंगे तो समाज बदलेगा।

इमेज सोर्स: Still from HealthPhone ad, YouTube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

Mere Khayal

Dr.Manishaa Yadava is an Author/poet/storyteller and writer/Reiki Master/Dowser/angels card reader/Motivational speaker/Meditater/Art of living volunteer and Member of Indian Literature society. She has done Phd in economics. read more...

3 Posts | 3,087 Views
All Categories