कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

topical
‘फेयर एंड लवली’ से फेयर शब्द हटाना ही क्या रंगभेद को रोकने के लिए काफी है?

हिंदुस्तान यूनीलीवर फेयर एंड लवली से फेयर शब्द हटाने जा रही है जो कि अपने आप में एक ऐतहासिक कदम है लेकिन क्या इतना काफी है? 

टिप्पणी देखें ( 0 )
फिल्म बुलबुल – महिला उत्पीड़न की परतों को खोलती एक फ़िल्म

फिल्म बुलबुल की पृष्ठभूमि 100 साल पहले की है, जब बंगाल में ईश्वरचन्द्र विद्यासागर जैसी हस्तियाँ महिलाओं के शोषण के विरुद्ध आवाज़ उठा रहीं थीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
सुष्मिता सेन के पावरफुल कमबैक के लिए ज़रूर देखें ‘आर्या’

सुष्मिता सेन आर्या के अवतार में पूरी तरह रच-बस गई हैं जिसे देखकर आपको भी लगेगा कि ‘आर्या’ सिर्फ वहीं बन सकती थी, कोई और नहीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
शादी डॉट कॉम ने रंग के फ़िल्टर हटा दिए तो क्या, लड़की तो हम गोरी…

हाल ही में शादी डॉट कॉम ने एक क्रांतिकारी फैसला लिया कि अब उनकी वेबसाईट पर स्किन शेड कार्ड के आधार पर लड़की की प्रस्तुति नहीं होगी। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
अनुष्का शर्मा की फिल्म बुलबुल बीसवीं सदी में महिलाओं की समस्याओं के आसपास बुनी नारीवादी कहानी है

अनुष्का शर्मा की फिल्म बुलबुल बीसवीं सदी के भारत में बाल विवाह, बेमेल विवाह, घरेलू हिंसा,  प्रतिशोध और बलात्कार की पीड़ा की कहानी है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
फिल्म चमन बहार – लड़कों के प्यार में एक लड़की की मर्ज़ी कितने मायने रखती है?

फिल्म चमन बहार की कहानी में एक लड़की की  मर्ज़ी जाने बगैर सब उससे एक तरफा प्रेम करने लगते हैं और अगर उसमें उनको रिजेक्शन मिल जाए तो....

टिप्पणी देखें ( 0 )
post_tag
topical
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020