कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

Manya Srivastava

Voice of Manya Srivastava

मेरे लिए शादी सिर्फ एक रिवाज़ या बंधन नहीं…

ऐसा नहीं है कि शादी का महत्व बिलकुल समाप्त हो गया है। बस शादी के मूल्य बदल चुके हैं। आज सिर्फ इज्जत पाने तथा दिखावे के लिए कोई शादी नहीं करना चाहता।

टिप्पणी देखें ( 0 )
ये 10 वुमन सेफ्टी ऐप्स मुसीबत के समय तुरंत करेंगे आपकी सहायता

डिजिटल दुनिया में आपका स्मार्ट फ़ोन ही आपका डिजिटल गार्ड है। लेकिन कैसे? तो यहां जानिए टॉप 10 वुमन सेफ्टी ऐप्स और उनके फ़ीचर्स के बारे में...

टिप्पणी देखें ( 0 )
ये हैं बॉलीवुड की 5 महिला गीतकार जिनके लिखे गीत गुनगुना रहे हैं हम

क्या आप मशहूर बॉलीवुड गानों के बोल लिखने वाली महिलाओ को जानते हैं? आइये आज रूबरू होते हैं बॉलीवुड की 5 महिला गीतकार से...

टिप्पणी देखें ( 0 )
इन 10 क्षेत्रों की पहली भारतीय महिला को क्या आप जानते हैं?

पुरुष प्रधान समाज के किसी भी क्षेत्र में किसी महिला का होना कोई आसान बात नहीं रही होगी, तो आइये जानते हैं कि इन 10 क्षेत्रों की पहली भारतीय महिला कौन थीं!

टिप्पणी देखें ( 1 )
इंस्टाग्राम पर इन 8 फीमेल फोटोग्राफर्स के लेंस से दिखती है दुनिया और भी खूबसूरत!

अगर आप को भी फोटोग्राफी का शौक है तो इंस्टाग्राम पर इन 8 फीमेल फोटोग्राफर्स को फॉलो करें, इनके फोटोग्राफ्स आपको ज़रूर नए आइडियाज़ देंगे।

टिप्पणी देखें ( 0 )
अमृता प्रीतम की कविताएं एक नारी की अंतरंग भावनाओं का प्रतिबिंब हैं!

अमृता प्रीतम की कविताएं कहती हैं कि उन्होंने कभी भी समाज के बंधनों को नहीं माना, समाज के दकियानूसी उसूलों पर सवाल उठाने में अमृता कभी पीछे नहीं रहीं।

टिप्पणी देखें ( 1 )
वर्चुअल पितृसत्ता दे रही है सोशल मीडिया पर लड़कियों को ‘चुप’ कराने की धमकी

एक १३-१४ साल का लड़का और एक ५०-६० साल के अंकल, दोनों की सोच आपको,वर्चुअल पितृसत्ता के चलते, किसी लड़की के पोस्ट के कमेंट सेक्शन में नज़र आ जाएगी। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
आज विमेंस इक्वालिटी डे पर मिलिए भारतीय राजनीती में सक्रिय इन 9 युवा महिला से!

इस 100 वें विमेंस इक्वालिटी डे यानि महिला समानता दिवस पर हम आपको भारतीय राजनीती में सक्रिय 9 युवा महिलाओं से परिचित कराते हैं, जो बन रही हैं सबकी प्रेरणा।

टिप्पणी देखें ( 0 )
पोक्सो एक्ट क्या है और ये कैसे सुरक्षा करता है हमारे बच्चों की?

पोक्सो एक्ट क्या है? इस कानून के जरिए नाबालिग बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के मामलों में कार्रवाई की जाती है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
इन 7 फीमेल यूट्यूबर्स को फॉलो करते हैं आप, मैं और न जाने कितने और!

आइये बात करते हैं कुछ टॉप की फीमेल यूट्यूबर्स की जिन्होंने विभिन क्षेत्रों से सम्बंधित यूट्यूब चैनेल्स बनाये और दुनिया भर में अपना नाम फैला दिया।

टिप्पणी देखें ( 0 )
इंटरसेक्शनल फेमिनिज्म क्या है और आज हमें इसकी ज़रुरत क्यों है?

इंटरसेक्शनल फेमिनिज्म यानि अंतर्विरोधी नारीवाद यह कहता है कि सिर्फ एक समुदाय या फिर एक जाति की महिलाओं की समस्याओं की बात करना असल नारीवाद नहीं है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
मथुरा वृंदावन की गलियों की पावन खुशबू आइये बिखेरें अपने घर में भी!

मथुरा वृंदावन के मंदिरों से तो सभी परिचित हैं लेकिन मथुरा वृंदावन की गलियों में सिर्फ राधे-राधे की गूँज ही नहीं चाट की दुकानों की खुशबू भी बिखरी रहती है

टिप्पणी देखें ( 0 )
रक्षा बंधन तब और अब!

जिस घर में केवल दो बहने ही हों, उस घर में रक्षा बंधन पर उन दो बहनों का एक दूसरे को राखी बाँधना क्या गलत है?

टिप्पणी देखें ( 0 )
हमारी बॉलीवुड फिल्मों से ऐसा क्यों लगता है कि दोस्ती का एक ही जेंडर है?

बॉलीवुड फिल्मों को देखकर ऐसा लगता है कि दोस्ती का भी जेंडर होता है, हिंदी फिल्मों के अनुसार एक लड़का-लड़की तो क्या, लड़कियां भी आपसी दोस्ती नहीं निभा सकतीं। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
मोदी जी देश के मर्दों को कहिये कि वे भी करें घर के काम! ये गुज़ारिश है सुबर्णा घोष की…

सुबर्णा घोष ने Change.org पर एक ऑनलाइन याचिका शुरू की है, जिसमें प्रधानमंत्री मोदी से पुरुषों को घर का काम साझा करने के लिए कहने का आग्रह किया गया है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
महिला ऑफिसर्स को अब स्थायी कमीशन मिलता है, पर हम आज भी उनकी क्षमताओं पर शक क्यों करते है?

हालाँकि अभी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र ने भारतीय सेना में महिलाओं के स्थायी कमीशन को आधिकारिक मंजूरी प्रदान कर दी है, परन्तु सरकार ने काफी समय तक यह दलील दी है की महिलाओं की शारीरिक विशेषताओं कम हैं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
भारत की इन 12 महिला डॉक्टर ने चिकित्सा क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई

आइये इस डॉक्टर्स डे ऐसी ही कुछ भारतीय महिला डॉक्टर के बारे में जानते हैं जिन्होंने चिकित्सा के क्षेत्र में अविस्मरणीय योगदान दिया। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
डॉक्टर्स डे : क्या आप भारत की पहली महिला डॉक्टर्स को जानते हैं?

भारत में १ जुलाई को हर वर्ष डॉक्टर्स डे मनाया जाता है, इस दिन का सही अर्थ है हमारे डॉक्टर्स को अपनी निस्वार्थ सेवा के लिए सम्मान देना।

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्या आप जानते हैं कि LGBTQ के प्रति हमारे नज़रिये को बदलने में इतना समय क्यों लग रहा है?

रिपोर्ट्स का कहना है कि LGBTQ को कुछ लोग काम पर रख तो लेते हैं परन्तु वहां उनका मानसिक उत्पीड़न किया जाता है, उनका मज़ाक बनाया जाता है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
लड़का क्या करता है? लड़का कितना कमाता है? दोनों ही गलत सवाल हैं, जानिये क्यों…

लड़कों की शादी लड़का क्या करता है के बल पर होना कितना सही है? क्या ये उतना ही गलत नहीं जितना कि लड़की को शादी के लिए खाना पकाना आता है पूछना...

टिप्पणी देखें ( 0 )
हमें सिर्फ हमारे काम से पहचानें, महिला होने की वजह से नहीं

जब भी किसी क्षेत्र में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले ना के बराबर है तो हम उसके पद या डिग्री के आगे अक्सर महिला शब्द लगा देते हैं, ऐसा क्यों?

टिप्पणी देखें ( 0 )
फेमिनिज्म क्या है – क्या आप इस शब्द का सही अर्थ जानते हैं?

आज के दौर की महिलाओं या लड़कियों की एक बड़ी संख्या है जो खुद को फेमिनिस्ट कहलवाना पसंद नहीं करती हैं, और फेमिनिज्म को नकारती हैं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
भारतीय सिनेमा में अभिनेत्रीयों का बदलता स्वरूप – कल, आज और कल

भारतीय सिनेमा का सफर सौ साल से ऊपर हो चुका है लेकिन इस सफर में महिलाओं की स्थिति में किस प्रकार बदलाव आया है इस पर नजर डालते हैं। 

टिप्पणी देखें ( 0 )

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020