कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

naari aur samaaj
हर महीने है बहता मेरे खून का वो कतरा, जिससे तुम्हें जन्म मिला…

वो एक खून का कतरा, उसी एक कतरे से दुनिया में अस्तित्व तुम्हारा होता है मानव, फिर भी तुमने स्त्री की उस पीड़ा को एक हौआ बना कर रख दिया है?

टिप्पणी देखें ( 0 )
आज भी नारी की पहचान सिर्फ अपने नाम से क्यों नहीं हो सकती?

क्या कभी किसी ने, किसी पुरुष से आज तक ये पूछा है, किसका बेटा है वो, किसका पति है? नहीं ना? तो नारी की पहचान पर इतना शोर क्यों?

टिप्पणी देखें ( 0 )
शादी डॉट कॉम ने रंग के फ़िल्टर हटा दिए तो क्या, लड़की तो हम गोरी…

हाल ही में शादी डॉट कॉम ने एक क्रांतिकारी फैसला लिया कि अब उनकी वेबसाईट पर स्किन शेड कार्ड के आधार पर लड़की की प्रस्तुति नहीं होगी। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्या ये रूढ़िवादी समाज हमारी औरतों को समानता का हक़ देगा?

मुझे लगता है कि अगर ये रूढ़िवादी समाज हमारी महिलाओं को चार दीवारी में बाँध कर न रखे, तो क्या पता वो पुरुषों से बहुत आगे जाएं?

टिप्पणी देखें ( 1 )
स्त्री तेरी ये दशा, हर युग में क्यों यही रही…?

क्यों सर्वशक्तिशाली चुनकर भी तुम्हारी दशा वही रही? क्यों रावण से जीतकर भी तुम ही शक की पात्र बनी? स्त्री तेरी यही दशा कलियुग में भी क्यों रही?

टिप्पणी देखें ( 0 )
अगर सुनता है अभी भी, तो सुन मुझे…

चौंक मत जाना, सिर्फ पहचान लेना, मेरा रास्ता तूने लिखा था ना...अपनी कलम से, तो क्यों मुझे कुचला गया यहाँ पे?

टिप्पणी देखें ( 0 )
post_tag
naari-aur-samaaj
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020