कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

मेरे को प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए? और क्या-क्या ना खाएं?

प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए? सिर्फ सब्ज़ी ही नहीं, ऐसी कई चीज़ें हैं जो प्रेगनेंसी में नहीं खानी चाहियें। यहाँ है एक लिस्ट। 

प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए? सिर्फ सब्ज़ी ही नहीं, ऐसी कई चीज़ें हैं जो प्रेगनेंसी में नहीं खानी चाहियें। यहाँ है एक लिस्ट। 

एक महिला के लिए गर्भावस्था का समय जितना खास होता है, उतना ही नाजुक भी होता है। गर्भावस्था के दौरान माँ को अपने खाने पीने का विशेष ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि माँ के खानपान का सीधा असर गर्भस्थ शिशु पर होता है। ऐसे में ये जानकारी होना जरूरी है कि हमें गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए और क्या नही खाना चाहिए।

इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताएंगे कि ऐसी कौन कौन सी चीजें है जो गर्भवती स्त्री को नही खानी चाहिए। 

समान्यतः लोगो को कहते है सुना होगा कि, “गर्भवती स्त्री को जो भी मन करे वो तुरंत खाने के लिए देना चाहिए, नहीं तो जन्म के पश्चात बच्चे की लार टपकती है।”

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए

लेकिन ऐसे में प्रश्न ये उठता है कि यदि गर्भावस्था में कुछ ऐसा खाने का मन कर जाए जो गर्भवती स्त्री एवं गर्भस्थ शिशु दोनो के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो तो क्या वो भी चीजें खाने के लिए दे देनी चाहिए? 

यहाँ हम आपको कुछ ऐसे ही फ़ूड के बारे में बताने जा रहे है जिनको गर्भावस्था के दौरान नहीं खाना चाहिए। वैसे तो लिस्ट बहुत लम्बी है- फ्राइड फ़ूड, जंक फ़ूड, मसालेदार खाने, अधपके मीट, मछली, इत्यादि लेकिन यहां हम कुछ खानों की लिस्ट लाएं हैं जो हर घर में मिलते हैं।

तो आइए जानते है कि कौन कौन से फ़ूड का इस्तेमाल नही करना चाहिए। 

प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए?

वैसे तो कोशिश करें कि हर चीज़ बैलेंस में खाएं लेकिन कुछ सब्ज़ियां जैसे, पत्ता गोभी, अन्य सलाद, स्प्राउट्स इत्यादि कई लोग आपको ना खाने की सलाह देंगे। ऐसे में अपने डॉक्टर की सलाह लेना ना भूलें और जो अपना ध्यान रखें। सब्ज़ियां, फल, आदि अच्छे से धो पर ही उनका सेवन करें। 

Never miss real stories from India's women.

Register Now

कच्चा पपीता

अगर ये सवाल उठता है कि प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए तो जानें कि गर्भावस्था मे कच्चा पपीता नही खाना चाहिए क्योंकि इसमें पपैन और काईमोपपाइन नामक दो एंजाइम पाएं जाते है। ये दोनों एंजाइम एबोर्टिफाएंन्ट और टेरोजेनिक है।

पपाइन के कारण गर्भपात हो सकता है, तो वही टेरोजेनिक से भ्रूण का विकास प्रभावित हो सकता है। कच्चा पपीता शरीर मे गर्मी पैदा करता है, जिस कारण ऐस्ट्रोजन हार्मोन्स का उत्पादन तेज हो सकता है, जो गर्भस्थ शिशु के लिये अनुकूल नही होता।

प्रेगनेंसी में कौन सा फल नहीं खाना चाहिए 

अनानास

गर्भावस्था में शुरू के तीन महीने अनानास नहीं खाना चाहिए। क्योंकि अनानास में ब्रोमलीन होता है। जो शरीर में जमने से गर्भाशय की ग्रीवा मुलायम हो सकती है, जिससे गर्भपात या समय से पूर्व प्रसव की समस्या उत्पन हो सकती है। इसलिए गर्भवती को अनानास खाने से बचना चाहिए।

अंगूर

गर्भावस्था के दौरान हरे रंग एवं काले रंग के अंगूर नही खाने चाहिए। हरे अंगूर काफी खट्टे होते है, जिसे खाने से एसिडिटी की समस्या उत्पन्न हो सकती है। काले रंग के अंगूर की बाहरी स्किन सख्त होती है, जिसे पचाने में समस्या होती है। क्यूंकि गर्भावस्था के दौरान गर्भवती का पाचन तंत्र कमजोर होता है। इसलिए ये दोनो प्रकार के अंगूर नहीं खाने चाहिए।

गर्भवती महिला को और क्या नहीं खाना चाहिए  

कच्चा अंडा 

अंडा ऐसे तो एक हेल्थी खाद्य पदार्थ है, लेकिन कच्चा अंडा खाने से बैक्टीरिया इंफेक्शन होने का डर रहता है। क्योंकि अंडे के छिलके में साल्मोनेला नामक बैक्टीरिया होता हैं। जिसे खाने से फूड पॉइज़निंग होता है। कच्चा अंडा खाने से उल्टी, दस्त और बुखार की समस्या हो जाती है। कच्चा अंडा खाने से पाचन में परेशानी उत्पन्न हो सकती है।

गर्भवती महिलाओं को कच्चा अंडा खाने से प्रीमैच्योर प्रसव, गर्भाशय संकुचन, निर्जलीकरण, उल्टी इत्यादि समस्याएं उत्पन्न हो सकती है। इसलिए यदि आप गर्भावस्था में अंडे का सेवन कर रही है तो उसे कच्चा या अधपका ना खाएं। अंडे को अच्छे से पका कर ही उसका सेवन करें। क्योंकि पके हुए अंडे से बैक्टीरिया नष्ट हो जाता है।

चाय,काफी एवं ब्लैक टी 

गर्भावस्था के दौरान चाय, काफी एवं ब्लैक टी नही पीनी चाहिए। गर्भवती महिलाओं को पाउडर के दूध वाली चाय, अदरक वाली चाय, काफी या फिल्टर काफी नही पीनी चाहिए। क्योंकि इनमें कैफीन की मात्रा काफी अधिक होती है। जो गर्भस्थ शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है।

क्योंकि कैफीन प्लासेंटेल मेम्ब्रेन द्वारा बच्चे के ब्लड में जा सकते है। अदरक वाली चाय पीने से गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। ब्लैक टी पीने से हाई ब्लड प्रेशर एवम एनीमिया का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए चाय, काफी और ब्लैक टी नहीं पीनी चाहिए।

शराब एवं धूम्रपान

गर्भवती स्त्री के शराब पीने एवं धूम्रपान करने से नवजात शिशु के जन्मजात विकृतियां हो सकती है। इनके कारण तालु की विकृति एवं होंठ कटे हुए हो सकते है। कटे होंठ बच्चे के बोलने एवं खाना चबाने में समस्या उत्पन्न करते है। चेहरे की आकृति बिगड़ सकती है। दांत बेतरतीब और जबड़े से उनका तालमेल बिठाने में समस्या हो सकती है।

गर्भावस्था में शराब सेवन करने से गर्भपात भी हो सकता है। इसलिए गर्भावस्था में इसका सेवन गर्भवती स्त्री को नही करना चाहिए।

चाइनीज फूड

गर्भावस्था के दौरान चाइनीज फूड चाऊमीन, मोमोज इत्यादि खाने की इच्छा होती है। लेकिन ये फूड गर्भवती स्त्री और उसके बच्चे दोनो के लिए हानिकारक होते है।

चाइनीज़ खाने में मोनो सोडियम ग्लूटामेट मौजूद होता है। जिसे बच्चे के अंदर जन्म से कोई शारिरिक समस्या देखने को मिल सकती है। चाइनीज खाने में ज्यादा मात्रा में सोया सॉस एवं अजीनोमोटो का इस्तेमाल भी किया जाता है, जो गर्भवती स्त्री एवं गर्भस्थ शिशु के लिए नुकसानदेह होता है ।

जंक फूड

गर्भावस्था में जंक फूड जैसे पिज्जा, बर्गर, आइसक्रीम, डोनट्स, केक इत्यादि खाने की इच्छा होती है। लेकिन गर्भवती स्त्री को इसका सेवन नही करना चाहिए। क्योंकि इसके सेवन से शरीर मे सुगर लेवल बढ़ जाता है, जिससे गर्भवती महिला एवं गर्भस्थ शिशु में डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इस दौरान जंक फ़ूड का सेवन करने से बचना चाहिए।

इन सब के अतिरिक्त आप प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा भोजन ना खाएं जैसे कि कच्चा नानवेज एवं अधिक मात्रा में स्प्राउट्स इत्यादि। भोजन को हमेशा अच्छे से पकाकर खाएं। सब्जी या फल खरीदते समय उन्हें ना सूँघे।

डिस्क्लेमर: उपरोक्त सुझाव सिर्फ एक सामान्य जानकारी है। कृपया इसे चिकित्सकीय राय ना समझें। कोई भी सुझाव अपना ने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य करें।

 

मूल चित्र: NACO India Via Youtube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

79 Posts | 1,600,595 Views
All Categories