प्रेग्नेंट होने पर मछली खाने के फायदे या नुकसान? एक ज़रूरी गाइड!

Posted: January 6, 2020

प्रेग्नेंट होने पर मछली खाने पर लाखों सवाल उठाते हैं? लेकिन अगर आप मछली खाना चाहती हैं तो बस इन बातों का ध्यान रखें और सुरक्षित रहें!

अनुवाद : मानवी वाहने 

“क्या गर्भावस्था के दौरान मछली खाई जा सकती है?” प्रेग्नेंट होने पर मछली खाने से नुक्सान तो नहीं होगा? यह एक ऐसा  सवाल है जिसे लेकर बहुत सी माँ बनने वाली स्त्रियाँ असमंजस में रहती हैं। बड़ी संख्या में लोगों का कहना है कि प्रेग्नेंट होने पर मछली खानी नहीं चाहिए क्योंकि मछलियों में मरक्यूरी पाई जाती है और मरक्यूरी शिशु के विकसित होते मस्तिष्क और नर्वस सिस्टम को हानि पहुंचा सकती है। लेकिन कुछ स्टडीज़ की मानें, तो मुझे यकीन है कि आप मछली खाने से परहेज़ नहीं करेंगी।

एक स्टडी के अनुसार मछली से ऐसे कई पोषक तत्व प्राप्त किए जा सकते हैं जो आपके शिशु के विकास के लिए आवश्यक हैं।

मछली में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स, विटामिन डी और प्रोटीन पाए जाते हैं, साथ ही इसमें कम मात्रा में सैचुरेटेड फैटी एसिड्स होते हैं जिसके कारण यह किसी भी गर्भवती महिला के लिए सबसे बेहतर खाद्य पदार्थों में से एक है।

इसीलिए अगर आप आमतौर पर मछली खाना पसंद करती हैं, तो गर्भावस्था के दौरान भी इसे आपकी डाइट का हिस्सा ज़रूर होना चाहिए।

क्या प्रेग्नेंट होने पर मछली खाना सुरक्षित है?

जी हाँ, आप कुछ ऐसी मछलियाँ खा सकती हैं जिनमें अधिक मात्रा में मरक्यूरी नहीं पाई जाती और जो मनुष्य निर्मित टॉक्सिकेंट पॉलीक्लोरिनेटेड बिफ़िनाइल्स (polychlorinated biphenyls (PCBs)) से रहित हों।

प्रेग्नेंट होने पर मछली खाना एक सप्ताह में 2 – 3 बार ठीक है। अधिक जानकारी के लिए कृपया निम्नलिखित सूची पढ़ें।

इन मछलियों को प्राथमिकता दी जा सकती है 

  •  बटरफिश (Butterfish/Pomfret)
  •  कैटफिश/सिंघाड़ा (Singhada)
  •  हेरिंग/हिलसा (Hilsa)
  •  मैकेरल/बांगड़ा (Bangada)
  •  सैलमन (भारतीय सैलमन रावस के नाम से जानी जाती है।)
  •  सारडाइन (Sardine)
  •  तिलपिया (Tilapia)
  •  वाइटफिश (Whitefish)
  •  क्लैम (Clam)
  •  अनचोविज़ – नेथिली मलयालम/तमिल में (Anchovies – Nethili in Malayalam/Tamil)

वे मछलियाँ जो नहीं खाई जानी चाहिए 

  • बैस (Bass)
  • कार्प/रोहू (Carp/Rohu)
  • कॉड/गोब्रू (CodGobru)
  • लॉबस्टर/झींगा (Lobster)
  • स्नैपर (Snapper)
  • टूना/कैंड चंक्स (Tuna/Canned chunks)
  • ब्लूफिश (Bluefish)
  • ग्रूपर (Grouper)
  • सी बैस/एशियाई मछली भेक्ति (Sea bass)
  • टूना/येलोफिन (Tuna/Yellowfin)
  • शार्क (Shark)
  • सोर्डफिश (Swordfish)
  • टूना/अहि (Tuna/Ahi)

उपरोक्त मछलियाँ नहीं खाई जानी चाहिए क्योंकि उनमें भारी मात्रा में मरक्यूरी पाई जाती है। मछलियों द्वारा मेटल मरक्यूरी का सेवन कर लेने से, बाद में वह मिथाइल मरक्यूरी में तब्दील हो जाती है (जल – प्रदूषण के कारण) जो प्लेसेंटा/अपरा के ज़रिए भ्रूण तक पहुंचने में सक्षम होती है और नर्वस सिस्टम व भ्रूण के मस्तिष्क – विकास को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है।

इसीलिए प्रेग्नेंट होने पर उपरोक्त मछलियाँ आपके और आपके शिशु के लिए हानिकारक हैं।

सिर्फ इतना ही नहीं, पॉलीक्लोनिरेटेड बीफेनयल्स (polychlorinated biphenyls) जो कि औद्योगिक कचरे का दुष्परिणाम है और इन मछलियों के भीतर जमा होने के लिए जाना जाता है, इन मछलियों को भोजन के रूप में हानिकारक साबित कर सकता है।

कुछ तरीके जिनके ज़रिए बेहतर तरह से पकाई जा सकती हैं प्रग्नेंसी के दौरान खाने वाली मछलियाँ :

पानी में पकाएँ

यह तरीका मछली की नमी बनाए रखने में मदद करता है। एक पैन या बर्तन में पानी/चिकन स्टॉक/सब्ज़ियों का स्टॉक डालें और मछली के टुकड़े रखें। कुछ समय तक गर्म होने दें और जब बुलबुले दिखने लगें, तब मछली को पैन से बाहर निकाल लें।

भाप में पकाएँ 

मछली को भाप में पकाना उसके पोषक तत्वों को बचाए रखने का सबसे सही तरीका होता है। मछली को स्टीमर बास्केट में रखने से पहले, आल उसपर लहसुन/अदरक और हल्के मसाले लगा सकतीं हैं। इस प्रकार मछली न सिर्फ बेहतर तरीके से पकेगी बल्कि उसका स्वादिष्ट भी होगी।

भुनी हुई मछली 

यह तरीका मछली में पोषक तत्वों को बरकरार रखने में मददगार साबित होता है और आप भुनी हुई सब्ज़ियों के साथ इसका सेवन कर सकती हैं। 

कुछ स्वादिष्ट मछली की रेसिपीज़ :

हेल्थी स्टीम्ड फिश

सामग्री –

  • 500 ग्राम पॉम्फ्रेट 
  • ½ चम्मच लहसुन
  • 1 चम्मच कटी हुई लेमन ग्रास
  • कुछ कटी हुई पुदीने की पत्तियाँ
  • 1-2 लाल मिर्च
  • तिल का तेल
  • 1 चम्मच शहद
  • कटा हुआ धनिया
  • ¼ काली मिर्च पाउडर
  • गोल कटा प्याज़
  • जैतून का तेल

विधि –

  • एक स्टीमर या प्रेशर कुकर में शहद के अलावा सभी सामग्री मिला दें। अब मछली डालें और उसके पकने तक स्टीम करें।
  • स्टीम होने के बाद थोड़ा शहद, काली मिर्च, प्याज़ और धनिया पत्ती उसपर छिड़क दें।

ग्रिल्ड फिश स्टेक्स

सामग्री –

  • 1 पिसा हुआ लहसुन
  • 1 चम्मच जैतून का तेल
  • 1 चम्मच सूखी हुई तुलसी
  • ½ चम्मच सेंधा नमक
  • 1/4 चम्मच काली मिर्च पाउडर
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 1 चम्मच कटा हुआ धनिया
  • 1 फिलेट व्हाइट फिश/पॉम्फ्रेट

विधि – 

  • एक कांच के बाउल में लहसुन, जैतून का तेल, तुलसी, सेंधा नमक, काली मिर्च पाउडर, नींबू का रस और धनिया मिला दें।
  • फिलेट को एक कांच के बर्तन में रखें और उस पर मैरिनेड डालें। एक घंटे तक उसे ऐसे ही रहने दें।
  • एक बार मैरिनेड हो जाए तो फिलेट को ग्रिल ट्रे में रखें और दोनों ओर से 5 मिनट के लिए ग्रिल करें। एक बार भूरा हो जाने पर धीरे से पलटें।
  • अच्छी तरह से ग्रिल कर लेने के बाद उसके ऊपर कटा हुआ धनिया छिड़कें।

फिश सूप

सामग्री –

  • 1 चम्मच कटा हुआ लहसुन
  • 1 छोटा कटा हुआ प्याज़
  • 500 ग्राम प्रॉम्फ्रेट मछली, सिर, मांस और हड्डियाँ
  • 1 चम्मच जैतून का तेल
  • 1 चम्मच कटा हुआ धनिया
  • 1 छोटी गाजर कटी हुई
  • 3 कप पानी
  • ½ चम्मच सफेद विनेगर
  • सेंधा नमक, काली मिर्च स्वादानुसार

विधि –

  • एक पैन में जैतून का तेल डालें और कटा हुआ लहसुन व प्याज़ फ्राई करें।
  • अब पानी डालें और उबलने दें।
  • फिर सारी सामग्री डालकर कुछ समय तक पकने दें।
  • धीमी आंच पर रखें और ऊपर से झाग हटाकर पकाते रहें।
  • एक बार तैयार हो जाए तो सूप को अच्छे से छानकर पी लें।

अतः आप प्रग्नेंट होने पर मछली खा सकती हैं लेकिन सावधानी ज़रूर बरतें। 

मूल चित्र : Canva

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

A Nutritionist,Clinical Dietitian,Speaker,health/fitness blogger who runs a nutrition website named NutriBond

और जाने

Gaslighting in a relationship: गैसलाइटिंग क्या है?

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?