कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

अनपॉज़्ड – कोविड के दिनों की 5 कहानियों से बुनी एक प्यारी फिल्म

अमेजन प्राइम पर रिलीज अनपॉज़्ड की ये 5 कहानियाँ इस सत्य को ही बयां करती है कि भले ही लॉकडाउन के समय जीवन ठिठक सा गया था पर ठहरा नहीं था।

अमेजन प्राइम पर रिलीज अनपॉज़्ड की ये 5 कहानियाँ इस सत्य को ही बयां करती है कि भले ही लॉकडाउन के समय जीवन ठिठक सा गया था पर ठहरा नहीं था।

साल 2020 में कोरोना वायरस पैन्डेमिक के महौल में शायद ही कोई हो, जिसके जिंदगी पर गंभीर असर नहीं डाला हो। मार्च महीने में पैन्डेमिक का खौफ इतना बढ़ने लगा कि सरकार को देशभर में लॉकडाउन लागू करना पड़ा। वायरस के खौफ ने किस तरह लोगों के रिश्ते-नातों, काम-धंधों और मानसिक स्थिति पर असर डाला है। इसी विषय को फिल्म अनपॉज़्ड ने पांच शार्ट फिल्मों में पिरोनों की कोशिश की है जो पिछले हफ्ते अमेजन प्राइम पर रिलीज हुई है।

पांचों कहानी, रिश्तों में आए गए खालीपन, बेबसी और लोगों के मानसिक घुटन को बयां करने की कोशिश करती है। इसमें कुछ कहानियां दिलों को छू जाती हैं, तो दिमाग में पॉज़ बटन के तरह ठहर सी जाती हैं।

यह कहानियां इस सत्य को ही बयां करती हैं कि भले ही लॉकडाउन के समय जीवन ठिठक सा गया था पर ठहरा नहीं था। वह चल रहा है। लोगों के जहन में अपने अंदर कई अनिश्चिताओं को लेकर। कुछ को इसका जवाब मिल रहा था तो कुछ के सवाल अधूरे रह गए जो आज भी जवाब तलाश रहे हैं। भले ही लॉकडाउन धीरे-धीरे खत्म हो गया है पर उनकी जिंदगी फिर से शुरु होने के इंतजार में है।

अनपॉज़्ड में पहली कहानी है ‘ग्लिच’

पहली कहानी है “ग्लिच” जिसमें गुलशन देवैया और संयामी खेर लीड रोड में है और निर्देशन राज और डीके ने किया है। कहानी के दोनों ही पात्र वर्चुअल डैट्स पर एक-दूसरे से मिलते हैं। और फिर कोविड़ के बाद, एक-दूसरे को नापसंद करते हुए भी दोनों दुबारा से बातचीत शुरु करते है। तो क्या इनकी वर्चुअल डैट सक्सेसफुल होगी?

अनपॉज़्ड फिल्म की दूसरी कहानी बात करती है मानसिक तनाव पर

“अपार्टमेंट” फिल्म की दूसरी कहानी है जिसमें रिचा चड्डा, सुमीत व्यास और ईश्र्वाक सिंह मुख्य़ भूमिका है। इस कहानी को पिरोने की कोशिश निर्देशक निखिल ने की है। रिचा चड्डा और सुमीत व्यास एक मीडिया संस्थान के प्रमुख हैं। सुमीत व्यास पर कई लड़कियों के हरास्मेंट्र के मामले सामने आते है और वह सुमीत व्यास पर यह आरोप लगाता है कि इसकी वज़ह वह रिचा चड्डा भी है क्योंकि उसने उसे नहीं रोका।  रिचा चड्डा मानसिक तनाव में घिरी हुई और पंखे पर फांसी लगाकर खुद को खत्म करना चाहती है। तो क्या वे ये कदम उठा लेंगी?

Never miss real stories from India's women.

Register Now

तनिष्ठा द्वारा निर्देशित ‘रैंट-ए-टैट’ है तीसरी कहानी

‘रैंट-ए-टैट’ फिल्म की तीसरी कहानी है जिसको तनिष्ठा ने निर्देशित किया है। रिंकू राजगुरू और लिलेट दुबे इस कहानी के मेन लीड हैं। लिलेट दुबे एक विधुर महिला है जो बिल्डिंग के एक घर में अकेले रहने की आदत डाल चुकी है। एक रात उसके घर में चूहा घुस जाता है और वो बिल्डिग के सीढ़ी पर जाती है क्योंकि उसे चूहे से डर लगता है। और उसी बिल्डिंग में रह रही दूसरी महिला उसकी मदद के लिए आगे आती है। अनपॉज़्ड की रैट-ए-टैट कहानी में आगे एक ट्विस्ट है जिसे जानने के लिए आप खुद इसे देखें।

अनपॉज़्ड में एक प्रवासी परिवार की कहानी भी बयां की गई है

अनपॉज़्ड में “विषाणु” फिल्म की चौथी कहानी है जिसमें मुख्य किरदार अभिषेक बनर्जी और गीतिका विधा ओहल्यान है। इस कहानी को कहने की कोशिश अविनाश अरूण ने की है। लॉकडाउन के दौरान यह एक प्रवासी परिवार की कहानी है जिसको मकान-मालिक ने घर से निकाल दिया है। और एक दिन ये परिवार एक टिक-टॉक वीडिओ बनाता है जो वायरल हो जाता है। और इसके बाद इनकी परेशानी और बढ़ जाती है। लेकिन आखिर क्यों?

अनपॉज़्ड में अभिषेक बनर्जी और गीतिका विधा ओहल्यान का अभिनय प्रभावित करता है। उनका शांत और ठहरा हुआ अभिनय बताता है कि उन दोनों में अभिनय करके की अदभुद क्षमता है।

पांचवी कहानी, ‘चांद मुबारक’ एक आत्मनिर्भर वरिष्ठ महिला और एक आटो रिक्शा डाईवर की है

पांचवी कहानी नित्या मेहरा की “चांद मुबारक है” जिसके मुख्य आकर्षण रतना शाह पाठक है और उनके साथ अभिनय किया है शारदुल भारद्दाज की। यह कहानी एक अकेली आत्मनिर्भर वरिष्ठ महिला और एक आटो रिक्शा डाईवर की है।

कहानी एक उम्मीद देती है कि तकलीफ को कम करने के कई रास्ते हैं। हमें उन रास्तों के दरवाजे खोलने की कोशिश करनी चाहिए। जब हर खिड़की दरवाजे बंद होगे तो हमारे जीवन की कोई तकलीफ कभी कम नहीं होगी और हम अपनी-अपनी जिंदगी और हालातों को कोसते रहेंगे और कुछ नहीं।

तो आज ही अनपॉज़्ड की कहानियों को अपने मस्ट वॉच शोज़ की लिस्ट में जोड़िये। यकीनन आपको निराशा नहींं होगी।

मूल चित्र : Stills from the film, Unpaused 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

240 Posts | 668,745 Views
All Categories