Sana Mahmood

Sana Mahmood

Voice of Sana Mahmood

क्यों मुस्कुरा रहे हो ऐ दोस्त? मैं, रुकने वाली नहीं

"आज एक अरमान दफ़न हुआ है, कल और ख़्वाब शहीद होंगे," पर मैं, रुकने वाली नहीं तब तक, जब तकअपने ख़्वाब को हक़ीक़त ना बना लूँ।

View Comments ( 0 )

Get our weekly mailer and never miss out on the best reads by and about women!

#MyEverydaySuperStar