कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

hinsa
क्या इतना आसान है अपनी पत्नी को मार डालना और कहना कि वह इसके लायक़ थी?

हरीश ने अपनी पत्नी नीलू की सरे बाजार हत्या करके कहा, "वह इसके लायक़ थी", क्योंकि अपने पति के मना करने के बाद भी वह नौकरी कर रही थी...

टिप्पणी देखें ( 0 )
और मैंने ससुराल वालों की गलत बातों का विरोध किया…

मेरे ससुराल वाले मुझे दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। पापा ने कितना कुछ उन्हें दहेज में दिया था। फिर भी उनकी डिमांड बढ़ती जा रही थी...

टिप्पणी देखें ( 0 )
देश में हिंसक यौन अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं, तो हम चुप्पी कैसे साध लें?

देश में हो रहे हिंसक यौन अपराध के बारे में सुन कर कई बार हम चुप रहते हैं, आख़िर क्रोध की भी तो सीमा होती है, हर बार उतना आक्रोशित नहीं हो सकते। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
मुजफ्फरपुर गैंगरेप केस : हर घंटे ऐसी ख़बरें! किसी को कुछ भी फर्क पड़ रहा है?

आज हम आज मुजफ्फरपुर गैंगरेप के बारे में सुन रहे हैं, हो सकता है कल आपके शहर या गांव की खबर सुन रहे हों। तो इन सबका कोई अंत है भी या नहीं?

टिप्पणी देखें ( 0 )
आज रुपा तो कल कोई और होगी, लेकिन कब तक…

जहां एक तरफ एक बेटी के पैदा होने पर सब खुशियां मना रहे थे, वहीं दूसरी तरफ एक बाप ने रेप की वजह से प्रेग्नेंट हुयी बेटी और उसके होने वाले बच्चे को खो दिया।

टिप्पणी देखें ( 0 )
हाथरस गैंगरेप केस को लेकर देशभर में गुस्सा और आक्रोश

हाथरस गैंगरेप केस का मामला अब देशभर में एक बड़ा रूप ले चुका है और हर कोई पीड़िता के ख़िलाफ़ हुए इस अन्याय का विरोध कर रहा है।

टिप्पणी देखें ( 0 )

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020