कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

वो लड़कियां जो बैक बेंचर्स होती हैं ना…

Posted: जुलाई 3, 2020

यकीन मानो, वही लड़कियां, एक दिन नाम कमाकर, दुरुस्त करती हैं समाज की वे सारी अव्यवस्थाएं, जो झेली थीं उन्होंने कभी, चुपचाप रहकर!

लड़कियां भी बैठती हैं,
क्लास की सबसे पिछली वाली
बैंचों पर!

वे भी करती हैं मनमर्ज़ियां,
कमाती हैं तमगे,
शैतान, नटखट, शरारती और
पढ़ाई में कमज़ोर होने के!

बीच लैक्चर के, छुपकर
खाती हैं वे भी चुराए हुए
टिफिन से खाना,
और खेलती हैं
राजा-वजीर वाली पर्चियां !

वे भी लिखती हैं कापियों के पीछे,
पहला अक्षर उसके नाम का,
जो प्यार करता है उसकी
सबसे पक्की सहेली से!

वे भी पल्ले नहीं डालती ,
एक भी सूत्र गणित का,
कि कहीं किसी
फिल्मी गीत का सुर,
गड़बड़ा न जाए!

वे भी लेती हैं फिरकी
आँखों ही आँखों में,
क्लास के उन शर्मीले लड़कों की,
जो टीचर के किसी सवाल
के जवाब में
हाथ उठाने से भी डरते हैं!

‘मे आई कमिन’ में ई की मात्रा
को लंबा खींचकर कनखियों से
क्लास को देखकर मुस्कुराती हैं वे भी!

लड़कियाँ भी बनाती हैं
पेज फाड़कर हवाई जहाज,
और उड़ा देती हैं सबसे ज्यादा
उबाऊ और पकाऊ टीचरों पर!

वे भी फेयरवेल वाले दिन पाती हैं,
हिदायतें टीचरों की,
“भगवान ही जाने, तुम्हारा क्या होगा ?”

यकीन मानो, वही लड़कियां,
एक दिन नाम कमाकर,
दुरुस्त करती हैं समाज की
वे सारी अव्यवस्थाएं,
जो झेली थी उन्होंने कभी,
चुपचाप रहकर!

मूल चित्र : Canva

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

महिलाओं का मानसिक स्वास्थ्य - महत्त्वपूर्ण जानकारी आपके लिए

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020