कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

इस बार होली होगी मेरी बेटी की पसंद की…

Posted: मार्च 9, 2020
Tags:

मेरी बेटी होली को लेकर बहुत उत्साहित है क्योंकि इस बार तो उसका 2 साल का शैतान भाई जो उसके साथ है, उस चुटकी ने तो पहले से सब प्रोग्राम फ़िक्स कर लिया है।

होली का त्यौहार है रंगों का त्यौहार है। लाल, गुलाबी, नीले, पीले रंग हमारी ज़िंदगी को रोशन कर देते हैं। वैसे तो हर साल होली का त्यौहार हम सब बड़ी खुशी से मनाते हैं लेकिन इस वर्ष की होली मेरी बेटी और उसके भाई की होली है।

मेरी 6 साल की बेटी का होली सबसे पसंदीदा त्यौहार है क्यूंकि उसे पानी में खेलना बहुत पसंद है। रात को ही पापा-बेटी रंग से भरे गुबारे तैयार कर लेते हैं और धुंलंडी वाले दिन सुबह ही गली से गुजरने वाले बच्चों पर गुबारे मारते हैं।

इस बार भी मेरी बेटी होली को लेकर बहुत उत्साहित है क्योंकि इस बार तो उसका 2 साल का शैतान भाई जो उसके साथ है। उस चुटकी ने तो पहले से सब प्रोग्राम फ़िक्स कर लिया है। अपने पापा और मुझे पूरी हिदायत दी गई है कि कैसे-कैसे और क्या-क्या करना है।

चलिए आपको भी बताती हूँ मेरी लाड़ो का पूर्ण प्रोग्राम। होलिका दहन वाले दिन अपने भाई को तिलक लगाकर फिर दोनों शैतान मिलकर पापा के साथ होलिका दहन देखने जाएंगे और मुझे कहा गया है, मम्मा आप थोड़ा काम कर लेना। हमारे लिए गुझिया बना देना, वो भी चाशनी वाली जिसके अंदर खूब सारे बादाम हों।” हो गयी न मैं बिज़ी? अब घर की साफ सफाई के बाद मैडम के लिए गुजिया बनानी है।

फिर कहा है, “मम्मा अगले दिन सुबह पापा और हम आलू-पूड़ी खाएंगे और साथ में सूजी का हलवा भी और उस दिन हम सुबह जल्दी नहीं नहायेंगे क्यूंकि उस दिन हम होली खेलेंगे। नाश्ता जल्दी दे देना और आप भी कोई पुराना सूट पहन लेना। फिर मैं और छोटू आप दोनों को खूब रंग लगाएंगे। आप को तो मैं पूरा भूतनी बना दूंगी। पापा आप तो बस हम सबकी फोटोज़ ले लेना और दादी और नानी-नानू के पास भेज देना कि हमने भी इस बार खूब होली खेली है…”

“मम्मा घर पर जो भी अंकल-आंटी आपसे मिलने आएंगे, उन्हें भी आप रंग मत लगाना….आप तो उनके लिए कोल्ड ड्रिंक और गुजिया, नमकीन लाना। रंग तो उन्हें मैं ही लगाऊँगी।”

अब आप ही बताओ… इस बार की होली पर सब तैयारियां जैसा मेरी बेटी करवा रही है वैसे ही करनी है क्योंकि घर में बेटी के होने से ही त्यौहार का पता चलता है। बेटी के साथ त्यौहार की धूम-धाम कुछ और ही है।

अब तो बस होली के दिन का इंतज़ार है और देखना है कि मेरे दोनों बच्चे किस तरह से होली का आनंद लेते हैं।

आप सबको भी होलीका दहन और धुंलंडी की हार्दिक शुभकामनाएं।

मेरी पूरे परिवार की तरफ से होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं। अपने सभी गिले-शिकवे मिटाकर, साथ में मनाना त्यौहार।

मूल चित्र : Unsplash 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020