कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

8 फरवरी से दोबारा मुस्कुराहटें फ़ैलाने आ रहा है वागले की दुनिया, एक नए अवतार में

वागले की दुनिया में वागले का किरदार निभाने वाले अंजन श्रीवास्तव उसी तरह मशहूर हुए जैसे अरुण गोविल 'राम', नीतीश भारद्वाज 'कृष्ण' के रूप में हुए...

वागले की दुनिया में वागले का किरदार निभाने वाले अंजन श्रीवास्तव उसी तरह मशहूर हुए जैसे अरुण गोविल ‘राम’, नीतीश भारद्वाज ‘कृष्ण’ के रूप में हुए…

टेलीविज़न के इतिहास में कई ऐसे शो हुए है जिन्होंने दर्शकों का मनोरंजन किया, लेकिन इन सब में कुछ शो ऐसे भी बने जिन्होंने इतिहास बनाया और सालों बाद भी उन्हें दर्शक याद करते हैं। उनमें से ही है एक शो रहा है ‘वागले की दुनिया’ इस शो की खासियत रही वास्तविक सी लगने वाली इसकी कहानी, खूबसूरती से गढ़े इस शो के किरदार और एक आम आदमी की कहानी जिसने पूरे देश को अपना दिवाना बना दिया।

अस्सी के दशक के अंतिम में दूरदर्शन पे आने वाला ये शो बहुत लोकप्रिय हुआ था और वागले का किरदार निभाने वाले अंजन श्रीवास्तव उसी तरह मशहूर हो गए थे जैसे अरुण गोविल ‘राम’, नीतीश भारद्वाज ‘कृष्ण’ और रघुवीर यादव ‘मुंगेरी लाल’ के रूप में हुए थे।

‘वागले की दुनिया’ एक बार फिर टेलीविज़न पर अपना जादू चलाने आ रही है जल्दी ही दर्शकों के लिये सोनी टीवी पे 8 फ़रवरी 2021 से रात 9 बजे इस शो का प्रसारण होगा, ‘वागले की दुनियां- नई पीढ़ी, नये किस्से’ के नाम से। ‘वागले की दुनिया’ की खूबसूरत यादों के रूप में सोनी टीवी एक बार फिर से अंजन श्रीवास्तव और भारती आचरेकर की जोड़ी को ही ले कर आ रही है, श्रीनिवास वागले और राधिका वागले के रूप में।

वागले की दुनियां के इस नये दौर में सुमित राघवन, श्रीनिवास वागले के बेटे राजेश वागले के बेटे के रूप में और परिवा प्रणति उनकी पत्नी वंदना वागले के किरदार में होंगी। इस बार ‘वागले की दुनिया’ में अलग अलग मुद्दों और घटनाओं को राजेश वागले के नज़रिये से दिखाया गया है। यही चीज इस शो को आज के दौर के दर्शकों के लिये प्रासंगिक बन जाती है।

जे. डी. मजेठिया के ‘हैट्स ऑफ प्रोडक्शन’ द्वारा प्रोड्यूस्ड ‘वागले की दुनिया- नई पीढ़ी, नये किस्से’, एक खुशनुमा कहानी है जो राजेश वागले के इर्द गिर्द घूमती है। राजेश वागले एक सीधा-साधा इंसान है जो अपने परिवार से बहुत प्यार करता है। राजेश अपने परिवार के लिये अच्छी जिंदगी भी चाहता है लेकिन इसके लिये जोखिम लेने और समय का फायदा उठाने से डरता है। इस शो में नई पीढ़ी के मूल्यों और आज के मध्यमवर्गीय परिवार के रोजमर्रा के जीवन और उससे जुड़े मुद्दों को दर्शाया गया है।

इस शो की वापसी ऐसे समय में हो रही है जब ना इसके जनक लक्ष्मण हैं और ना ही उनकी कल्पनाओं को साकार रूप देने वाले कुंदन शाह। आर.के.लक्ष्मण की कल्पनाओं में जो आम आदमी नज़र आता था, वागले उसी की नुमाइंदगी करता था। ‘वागले की दुनियां- नई पीढ़ी, नये किस्से’ के साथ महान कार्टूनिस्ट आर.के.लक्ष्मण को उनके शताब्दी वर्ष में सोनी टीवी के तरह से एक श्रद्धांजलि भी है।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

इस नये शो में श्रीनिवास और राधिका के रोल को पिछले शो की तरह की रख शो को आगे बढ़ाया गया है और इस बार राजेश के नज़रिये से आम आदमी के मुद्दों को दिखाया गया है। इस शो के किरदार मध्यमवर्ग के छोटे छोटे सपनों को देखने में उम्र गुजारा देता है और छोटी खुशियों भी जहाँ बड़े जश्न सरीखी लगती है।

लक्ष्मण और कुंदन शाह की जुगलबंदी को वागले के किरदार के माध्यम से आम आदमी के इर्द गिर्द ऐसी सहज घटनाओं का ताना-बाना बुनती है जो स्वाभाविक हँसी पैदा करती है, ऐसी हँसी जो आपके अंदर से आती है और आपको ख़ुश कर देती है।

मुझे तो बेसब्री से इंतजार है इस नये शो का जो पिछली बार की तरह की दर्शकों के चेहरे पर मुस्कान ले आयेगी। मेरे साथ अब दर्शकों को भी उत्सुकता होगी की क्या ‘वागले की दुनियां- नई पीढ़ी, नये किस्से’ अपना जादू चला पाने में इस बार भी कामयाब हो पायेगी?

मूल चित्र : Screenshot of Poster, Wagle ki Duniya  

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

164 Posts | 3,774,692 Views
All Categories