कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

ट्वीक इंडिया : ट्विंकल खन्ना महिलाओं और LGBTQ के लिए ट्वीक कर रही हैं

Posted: September 25, 2019

ट्वीक इंडिया पर इन इंटरव्यूज़ के ऐसे ही छोटे-छोटे टीज़र्स देखने को मिलेंगे। लेकिन इन्हें देखकर लग रहा है कि ट्वीक इंडिया पॉज़िटिव बातें रखेगा।

एक्टर, राइटर और खिलाड़ी कुमार की पत्नी ट्विंकल खन्ना ने अभी हाल ही में ट्वीक इंडिया डिजिटल कंपनी शुरू की है, जिसका मकसद महिलाओं और LGBTQ कम्यूनिटी के लिए कुछ नया और बेहतर करना है।

‘Tweak India- A space for Indian women to challenge old ideas and discover new ones’

अभी जब मैं ये लिख रही हूँ, उससे कुछ ही मिनट पहले मैं ट्वीक इंडिया का इंस्ट्राग्राम देख रही थी। इस पर एक वीडियो है, मॉडल और परफॉर्मर सुशांत दिव्गीकर और उनके पिता का। गोवा के रहने वाले सुशांत, टीवी और फैशन जगत में अच्छा खासा नाम रखते हैं। उन्हें साल 2014 में मिस्टर गे इंडिया का अवॉर्ड भी मिला था, जिसके बाद उन्होंने उसी साल उन्होंने मिस्टर गे वर्ल्ड के मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व किया था। इसके अलावा भी उन्होंने बहुत सारे अवॉर्ड जीते हैं और बार-बार अपनी काबिलियत साबित की है। रियलिटी शो बिग बॉस 8 में भी आपने उन्हें ज़रूर देखा होगा।

सुशांत के लिए भी ये सफ़र, आसान शायद उतना आसान नहीं होगा, लेकिन उनके परिवार ने उनका पूरा साथ दिया। सुशांत के पिता प्रदीप दिग्वीकर ने जो कहा वो वाकई काबिले तारीफ़ है। प्रदीप दिव्गीकर कह रहे हैं कि ‘मैंने एक दिन ऐसे ही अपने बेटे से पूछ लिया कि आर यू गे? तो सुशांत ने बिना कुछ टेढ़ा-मेढ़ा जवाब दिए निडर होकर कहा, येस पापा, आई ऍम। मैंने उस दिन अपने बेटे को कहा कि आज से मेरा प्यार तुम्हारे लिए और भी बढ़ गया है।’

प्रदीप दिव्गीकर की ये बातें उनके बेटे को ही नहीं इस कम्यूनिटी के लाखों लोगों को इस बात की उम्मीद देती हैं कि LGBTQ समुदाय को लोग सिर्फ दिखावे के लिए ना अपनाएं बल्कि असल में दिल से वो जगह दें जिसके वो हकदार हैं।

ट्वीक इंडिया के इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज पर और भी कई वीडियो हैं जिनमें महिलाओं और LGBTQ की बात की जा रही है। एक वीडियो टीज़र में वहीदा रहमान से ट्विंकल पूछ रही हैं कि आपकी बकेट लिस्ट में क्या है जो आप करना चाहती हैं। वहीदा रहमान कहती हैं, ‘स्कूबा डाइविंग’। जिसपर ट्विंकल हैरान होकर कहती हैं ‘81 की उम्र में स्कूबा डाइविंग’। वहीदा रहमान बड़ी ज़िंदादिली से कहती हैं, ‘हां, क्यों नहीं?’

अभी आपको ट्वीक इंडिया पर इन इंटरव्यूज़ के ऐसे ही छोटे-छोटे टीज़र्स देखने को मिलेंगे। लेकिन इन्हें देखकर लग रहा है कि ट्वीक इंडिया इन समुदायों पर थोड़ा अलग हटकर पॉज़िटिव बातें रखेगा। अपनी किताबों और बेबाक बातों से हमेशा ख़बरों में रहने वाली ट्विंकल को इस पहल के लिए काफ़ी सपोर्ट मिल रहा है। उम्मीद है उनकी ये कोशिश समाज में कुछ बेहतर कर पाए।   आप भी इसे फॉलो कर सकते हैं इसी नाम से ।

मूल चित्र : YouTube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

Online Safety For Women - इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार (in Hindi)

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?