मुझे देश की माटी से प्यार है-मेरी आन है, मेरी शान है, मेरा देश मेरी जान है। 

Posted: February 21, 2019

दुश्मनों ना आना पास, क्या तुम्हें मौत का इंतज़ार है, कस कर कमर को खड़े हैं वो, सरहद पर सब तैयार हैं। 

लिया जन्म मैंने इस धरा पर,
यही मेरा संसार है,
है कोटि-कोटि नमन इसे,
मुझे देश की माटी से प्यार है।

डरते ना थे सीमा पर जो,
वो लाल रंग उनका लहू,
कैसे मैं उनको भूल जाऊँ,
कब तक मैं यूँ चुप सी रहूँ।

दी जिन्होंने देश पर कुर्बानियाँ,
वो गौरव, वही अभिमान है,
मेरी आन है, मेरी शान है,
मेरा देश मेरी जान है।

है भाईचारे की मिसाल ये,
हर दिन यहाँ त्यौहार है,
मेरी सरज़मीं भारत मेरा,
मुझे देश की माटी से प्यार है।

दुश्मनों ना आना पास,
क्या तुम्हें मौत का इंतज़ार है,
कस कर कमर को खड़े हैं वो,
सरहद पर सब तैयार हैं।

ना मोह उनको मौत से है,
ये वतन ही उनका यार है,
है देश उनकी महबूबा,
उन्हें देश की माटी से प्यार है।

है रोम-रोम जिसका ऋणी,
नस-नस में जो संचार है,
नमन है उस मातृभूमि को,
झुकता ये सिर बार-बार है।

लहराऊँ विजयी विश्व तिरंगा मेरा,
हाँ, मुझको ये अधिकार है,
हर साँस में है आजादी यहाँ,
मुझे देश की माटी से प्यार है।

स्वरचित और मौलिक-
मनीषा दुबे | (सिंगरौली, म.प्र.)

पसंद आया यह लेख?

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स में पाइये! बस इस फॉर्म में अपना ईमेल एड्रेस भरें!
Video Of The Week

VIDEO OF THE WEEK

Comments

Share your thoughts! [Be civil. No personal attacks. Longer comment policy in our footer!]

NOVEMBER's Best New Books by Women Authors!

Get our weekly mailer and never miss out on the best reads by and about women!

#MyEverydaySuperStar