कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

swatantrata
आज़ादी तो मिल गई हमको, क्या सचमुच हम आज़ाद हो गए?

आज़ादी तो मिल गई हमको, पर क्या सचमुच हम आज़ाद हो गए? भ्रूणहत्या, बलात्कार, चोरी,दान-दहेज की बेड़ियाँ, ऐसे दानवों के आगे हम अब भी रगड़ते एड़ियाँ!

टिप्पणी देखें ( 0 )
मैं तिरंगा, केवल लाल किले से ही नहीं बोलता हूं!

किसी कालेज के फ्रीडम फैस्ट में आज़ादी मांगती, अल्हड़ युवती के गालों पर सजे तिरंगे की टैटू बन उसके दिल में बहते देशभक्ति के झोंके से भी बोलता हूं!

टिप्पणी देखें ( 0 )
स्वतंत्रता दिवस की 74वीं वर्षगाँठ और आज भी इन बंदिशों से औरतें मांग रही हैं आज़ादी?

एक और स्वतंत्रता दिवस की बधाई, लेकिन अभी भी हमारी सबसे बड़ी बंदिश है, 'औरत होने की बंदिश!' आज भी कुछ ऐसा ही मानना है इस 'आधी आबादी' का...

टिप्पणी देखें ( 0 )
मैं आज़ाद नहीं : कहाँ हैं महिलाओं के सामाजिक अधिकार और उनकी आज़ादी?

आज़ादी शब्द जब भी स्त्री के सामने आता है तो वह जाग उठती है, आज भी वह आज़ाद होकर आज़ाद क्यों नहीं है? कहाँ हैं महिलाओं के सामाजिक अधिकार और उनकी आज़ादी?

टिप्पणी देखें ( 0 )

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020