कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

dahej
प्रॉपर्टी में हिस्सा लेना था तो इतना दहेज क्यों लिया?

यह सुनते ही रुचि का शर्म के मारे बुरा हाल हो गया और भाइयों के चेहरे तन गए। भाभियों की आंखों में तिरस्कार और व्यंग्य का भाव आ गया। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
क्या सोने की चमक बेटियों के खुशहाल भविष्य की गारंटी है?

बहु के लाए हुए गहनों और कपड़ों की नुमाइश की जाती है। क्या कभी ऐसा किसी ने सुना है कि सास-ननद ने घर की नयी बहू को अपने गहने दिखाए हों?

टिप्पणी देखें ( 0 )
पापाजी, मैं शगुन के नाम से दहेज़ नहीं लूँगा…

रस्म अदायगी हुई और फिर नवल और उसके परिवार वालों के लिए लाए गए उपहार देने का सिलसिला शुरू हुआ जो खत्म होने का नाम ही न ले रहा था।

टिप्पणी देखें ( 0 )
इस शादी से मेरी नहीं, आपकी ज़रुरत पूरी होगी…

"जो महिलाएं और लड़कियां मर्यादा में रहना नहीं जानती उनके साथ यही सब होता है। वो तो तेरे बाप पे तरस खा के हम तैयार हो गए थे शादी के लिए।"

टिप्पणी देखें ( 0 )
मैंने दहेज़ में कुछ नहीं माँगा…

मां ने बताया कि अमन के घर वालों ने ऑफिस के पास एक बड़ा फ्लैट देख कर रखा है, ताकि शादी के बाद नेहा और अमन को ऑफिस आने-जाने में सुविधा हो।

टिप्पणी देखें ( 0 )
दहेज प्रथा को रोकने के लिए दहेज निषेध कानून क्या है?

दहेज प्रथा को बढ़ावा देते हुए, पत्नी के परिवार से ऐंठी हुई धनराशि और संपत्ति पर इतराने की बजाय पति और उसके परिवार वालों को शर्म आनी चाहिए। 

टिप्पणी देखें ( 0 )

The Magic Mindset : How to Find Your Happy Place

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020

All Categories