कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

प्रमुख लेख
अगर ये वक्त चुनाव का होता तो हमारी इन बेटियों को इंसाफ जल्दी मिलता…

हमारे देश में औरतों की सुरक्षा हमेशा से एक चुनावी मुद्दा बन कर रह गया। लेकिन सत्ता में कोई भी पार्टी आये, औरतें कहीं सुरक्षित नहीं हैं।

टिप्पणी देखें ( 0 )
20 महीने की धनिष्ठा बनीं सबसे कम उम्र की कैडेवर डोनर

मेरा सत-सत नमन है धनिष्ठा और उसके महान माता-पिता को जिन्होंने अपनी 20 महीने की बच्ची के अंगदान कर उसे सबसे कम उम्र की कैडेवर डोनर बना दिया। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
पसंद है उसे ख्वाबों की ताबीर को सच कर दिखाना…

खुद ही सीखा है उसने तूफानों में खुद को संवारना, पर फिर वो वो नहीं रह जाती इन सब बातों में, भूल जाती है ठहाके लगाकर हंसना खिलखिलाना।

टिप्पणी देखें ( 0 )
भाभी गलती हो गयी प्लीज़ माफ़ कर दो…

परिवार में सुख और शांति किसे अच्छी नहीं लगती। लेकिन राधेश्याम जी के घर से जैसे सुख शांति रूठ ही गई थी। रोज़-रोज़ के तनाव और कलेश से तंग आ  राधेश्याम जी ने अंत में ना चाहते हुए भी अपने दोनों बेटों के बीच बँटवारा कर ही दिया। राधेश्याम जी के दो बेटे थे बड़ा […]

टिप्पणी देखें ( 0 )
अबके तिल के लड्डू बनाते हुए इन बातों का ख्याल रखें

हमारे यहाँ कुछ लड्डुओं में सिक्के छिपा कर रखे जाते हैं। फिर जिसके तिल के लड्डू में सिक्के निकलते हैं उसके लिए ये वर्ष शुभ माना जाता है।

टिप्पणी देखें ( 0 )
बेटी ये लोग नहीं, तुम्हारा भाग्य खराब है…

पैसा होने की वजह से समाज में रूतबा भी ससुराल वालों का बहुत था, लेकिन दरवाजे पर लगे महंगे पर्दे के पीछे की सच्चाई बिलकुल ही उलट थी।

टिप्पणी देखें ( 0 )
category
new-stories
और पढ़ें !

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020