कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

Anju Verma

मैं एक अध्यापिका हूँ,पढते पढाते हुए लिखने के शौक के प्रति रुचि हुइ,इसलिए खास तौर महिलाओं के ऊपर लिखना मुझे अच्छा लगता है।

Voice of Anju Verma

बस इतनी सी ख़्वाहिश है…

कदम से कदम मिलाकर जब चलती हूँ पुरूष के, तब भी मर्यादा का मान बनाये रखती हूँ। नारी को कमजोर समझने की सोच को बदल कर उसकी शक्ति को पहचान दिला सकूँ। 

टिप्पणी देखें ( 0 )
विदा घर से हुई हूँ, दिल से विदा ना करना बाबुल…

तूने जो सिखाया है उसका मान बढ़ाऊंगी, जो कभी टूटने लगे हिम्मत मेरी, आकर कंधा थपथपा देना, दो बोल हिम्मत के तुम बतला जाना...

टिप्पणी देखें ( 0 )
खुद से खुद करती प्रश्न, कौन हूँ मैं…कौन हूँ मैं?

नहीं था कोई जवाब खुद के ही सवालों का खुद के पास, बस एक ही आवाज़ आ रही थी, कौन हूँ मैं? आखिर कौन हूँ मैं?

टिप्पणी देखें ( 0 )
खिलौना नहीं हूँ…

लाचार नहीं है अब मजबूत है इरादों से, यह आज की नारी है कोई खिलौना नहीं।

टिप्पणी देखें ( 0 )

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020