कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

नवरात्र व्रत/उपवास में बरतें सावधानी!

व्रत रखने से शरीर के कई विषैले पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। साथ ही पाचन दृष्टि से भी काफी फायदेमंद होता है।

नवरात्रि के साथ ही माँ के नौ रूपों की पूजा अर्चना की उपासना शुरू हो जाती है। इसी के साथ शुरू होता है हिंदू धर्म में नौ दिवसीय व्रत उपवास। यह व्रत हमारी श्रद्धा और देवी उपासना के लिए एक अलग ही महत्व रखता है। प्राचीन काल से व्रत उपवास के नियम किसी कारणवश बनाएं जाते थे। जिससे इनका एक अलग ही वैज्ञानिक असर हमारे शरीर पर दिखता था। व्रत रखने से शरीर के कई विषैले पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। साथ ही पाचन दृष्टि से भी काफी फायदेमंद होता है।

इन नौ दिनों के व्रत रखना इतना भी आसान नहीं है इसलिए व्रत और उपवास के समय कुछ सावधानियां बरतनी भी जरूरी है। आज के समय में लोग डाइटिंग के लिए भी व्रत को काफी महत्व देते हैं पर थोड़ी भी असावधानी आपके शरीर को कमजोर बना सकती है। कुछ प्रमुख बातों के ध्यान में रख कर व्रत करें-

1) शरीर में बिल्कुल पानी की कमी ना होने दें। जितनी प्रचुर मात्रा में पानी का सेवन कर सकें करें।आप जितना जूस, नारियल पानी और दूध जैसे तरल पदार्थों का सेवन करेगें शरीर को स्वस्थ रखेगें उतना ही अच्छा होगा। पानी की कमी शरीर को डिहाइड्रेट कर सकती है। जिसके परिणाम आपके शरीर पर गलत असर डालते हैं।

2) तला भुना कम खाएं क्योंकि इस समय हमारे घरों में व्रत के नाम पर कुछ लोग खूब तला-भुना भोजन करते हैं। जो शरीर के लिए फायदेमंद नहीं होता है। तली हुई चीजों से आपको गैस, ब्लोटिंग और डाइजेशन की समस्याएं भी हो सकती हैं।

3) भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थ चुनें जो फाइबर से भरपूर हों और पचने में अधिक समय लेते हों, जिससे आपको लंबे समय तक पेट भरा हुआ रखने में मदद मिलती है। आप सामक का आटा, राजगीर, सिंघाड़ा, कुट्टू और अरबी का कई फॉर्म में सेवन कर सकते हैं।

4) इस समय बाज़ार में पैक्ड फूड बहुतायत में मिलते हैं। जैसे, फलाहारी नमकीन,लड्डू,चिप्स और पापड़। यह मिल तो बहुत आसानी से जाते है पर इसका सेवन‌ उतना ही नुकसानदायक होता है। यह बहुत सारे रिफाइंड स्टेज से गुजरने के कारण शरीर को नुकसान पहुचाते हैं।

5)अगर आप ऐसी तली चीजों के शौकीन हैं तो क्यूं ना घर पर ही तैयारी कर लें। जैसे मखाना और मूंगफली भून कर इसे जार में बंद कर लें। साथ ही केले और आलू की इंस्टेंट चिप्स बना लें। ऐसे कई तमाम रेसिपीज हैं जो घर पर बनने से स्वास्थ्य को  प्रभावित नहीं करतीं हैं।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

डायटीशियन रचना शुक्ला शर्मा ने बताया कि,”उपवास करते समय सबसे पहले खुद की सुनें कि आपके शरीर की वास्तविक जरुरत क्या है। इस समय शरीर को ज्यादा से ज्यादा हाइड्रेट रखें। यदि आपको मधुमेह या हृदय रोग से संबंधित बीमारी है तो किसी आहार विशेषज्ञ से परामर्श के उपरांत ही उपवास रखें। साथ ही प्रोटीन युक्त भोजन लें और अत्यधिक व्यायाम से बचें। इसके अलावा उपवास सिर्फ पेट तक ही सीमित नहीं होना चाहिए। आपको शांतचित्त रहकर सभी तरह के गैजट्स के उपयोग से भी बचना चाहिए इसलिए नियमित अंतराल पर कुछ ना कुछ हेल्दी खाएं और व्रत रहें।”

दोस्तों!आध्यात्मिक होना अच्छी बात है पर इसके साथ शरीर को नुकसान पहुंचाना उतना ही ग़लत इसलिए माता रानी के आशीर्वाद से अपने शरीर का भी उतना ही ध्यान रखें।

इमेज सोर्स : 5 मिनट के अंदर-अंदर बन जाने वाले जूस रेसिपी|3 Healthy Morning Juices|Youtube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

80 Posts | 379,356 Views
All Categories