कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

ब्यूटी स्टार्टअप नायका की असली ‘नायिका’ हैं फाल्गुनी नायर

फाल्गुनी नायर कौन हैं और कैसे उन्होंने नायका की नींव रखी इससे पहले आपको थोड़ा IPO के बारे में समझा देते हैं ताकि आपके लिए इसे समझना थोड़ा आसान हो जाए।

फाल्गुनी नायर कौन हैं और कैसे उन्होंने नायका की नींव रखी इससे पहले आपको थोड़ा IPO के बारे में समझा देते हैं ताकि आपके लिए इसे समझना थोड़ा आसान हो जाए।

सच यही है कि सफलता की कोई उम्र नहीं होती। बहुत से लोग बढ़ती उम्र का बहाना देकर कहते हैं कि अब हमसे ये नहीं होगा, वो नहीं होगा। उनकी सोच उन्हें कुछ भी नया करने से रोकती है। लोग मन से इतने कमज़ोर होने लगते हैं कि वो शरीर से भी थक जाते हैं। लेकिन बिरले वो लोग होते हैं जो उम्र को अपने सपने के आड़े नहीं आने देते और अपने अनुभव को औज़ार बनाकर सफलता हासिल कर लेते हैं।

50 की उम्र में ऑनलाइन ब्यूटी ब्रांड शुरू करने वाली फाल्गुनी नायर ने भी यही किया और आज वो भारत ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे अमीर महिलाओं की सूची में शामिल हो गई हैं।

नायका कंपनी के बारे में तो बहुत लोग जानते थे लेकिन लोगों की ज़ुबान पर फाल्गुनी नायर का नाम तब आया जब उनकी कंपनी स्टॉक मार्केट में चर्चा का विषय बनी। कंपनी ने अपना IPO लॉन्च किया जिसके बाद कई निवेशकों ने अपना पैसा लगाया। IPO में लिस्टिंग के बाद नायका ब्रांड के शेयर्स की कीमत तेज़ी से बढ़ी। ये रफ्तार इतनी तेज़ थी कि लिस्टिंग के बाद फाल्गुनी नायर की संपत्ति 6.5 अरब डॉलर पर पहुंच गई (49 हज़ार करोड़ रुपए) और वह देश की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिला बन गईं।

फाल्गुनी नायर और उनके परिवार के ट्रस्ट ऑफिस की नायका में 50 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के 10 नवंबर, 2021 के आंकड़ों के मुताबिक नायका की स्टॉक मार्केट में लिस्टेड कंपनी बनते ही इसका मार्केट कैप 1 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया। आइपीओ से मिले इस पैसे से नायका कंपनी अपने नए स्टोर्स खोलेगी।

नयका कंपनी ने हाल ही मकें अपना IPO लॉन्च किया

फाल्गुनी नायर कौन हैं और कैसे उन्होंने नायका की नींव रखी इससे पहले आपको थोड़ा IPO के बारे में समझा देते हैं ताकि आपके लिए इसे समझना थोड़ा आसान हो जाए।

IPO का मतलब होता है Initial public offering जारी करना यानि जब कोई कंपनी पहली बार आम लोगों को इन्वेस्टमेंट के ज़रिए अपनी शेयर्स खरीदने का मौका देती है। कई प्राइवेट कंपनियां कुछ शेयर होल्डर्स के साथ मिलकर कंपनी चलाते हैं। लेकिन जब कंपनी को और पैसों की ज़रूरत होती है या कंपनी को एक्सपेंड करना होता है तो वो अपने शेयर्स आम पब्लिक और निवेशकों के लिए जारी कर देती है यानि जो भी कंपनी में अपना पैसा लगाना चाहता है लगा सकता है। इसके बाद जिस जिस भी व्यक्ति या निवेशक को कंपनी के शेयर मिलते हैं वो भी कंपनी में हिस्सेदार बन जाता है। शेयर बाज़ार में लिस्टिंग के बाद कंपनी की कीमतें ऊपर-नीचे होती रहती है।

फाल्गुनी नायर कौन हैं और कैसे उन्होंने नायका की नींव रखी (Nykaa ki Falguni Nayar Kaun Hai)

फाल्गुनी एक गुजराती परिवार में पली बढ़ीं। उनके पिता एक छोटा सा बिज़नेस चलाते थे और उनकी मां भी पिता के साथ व्यापार में हाथ बंटाती थीं। परिवार का ये हुनर फाल्गुनी को भी मिला। इसलिए वह बचपन से ही शेयर बाज़ार और बिज़नेस से जुड़ी कई बातों को समझती थीं।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

IIM अहमदाबाद से ग्रेजुएशन करने के बाद फाल्गुनी ने एफएफ फर्ग्युसन कंपनी के साथ अपनी पहली नौकरी की।  बिज़नेस स्कूल में पढ़ाई करते हुए उनकी मुलाकात संजय नायर से हुई और कुछ समय बाद दोनों ने शादी कर ली।

संजय नायर KKR  इंडिया फाइनेंशियल सर्विसेस के चेयरमैन हैं। पहली नौकरी के बाद फाल्गुनी कोटेक महिंद्रा बैंक से जुड़ी और फिर 19 साल तक वो इसी बैंक में कई उच्च पदों पर काम करती रही। 2005-2012 तक वो कोटेक महिंद्रा बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर रहीं।

जीवन में सब कुछ हासिल करने के बाद भी फाल्गुनी को एक बात खटक रही थी। वह 50 की उम्र में अपना कुछ शुरू करना चाहती थीं। उनके दोनों बच्चे भी आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए थे। इसलिए उन्हें अपने सपने को पूरा करने का और समय मिल गया था। आख़िरकार साल 2012 में फाल्गुनी ने नायका कंपनी की शुरुआत की। थोड़ी परेशानी तो हुई ही क्योंकि फाल्गुनी पिछले कई अरसों से बैंकिंग में थीं इसलिए ब्यूटी और ई-कॉमर्स से उनका थोड़ा कम वास्ता रहा। लेकिन फाल्गुनी का मानना है कि महिलाएं ही महिलाओं की पसंद को सबसे अच्छे से जान सकती हैं।

अपने अनुभव और सकारात्मक सोच के साथ वह आगे बढ़ती गई। डिजिटल वर्ल्ड में उनके ऑनलाइन ब्यूटी प्लेटफॉर्म ने कंज़्मूयर तक विश्वसनीय और हाई-एंड ब्यूटी प्रोडक्ट पहुंचाए। देखते ही देखते नायका वन ऑफ दि लीडिंग ऑनलाइन ब्यूटी स्टोर बन गया।

Nykaa ने पहला फिजिकल स्टोर साल 2014 में शुरू किया था और 2021 तक नायका की पेरेंट कंपनी FSN ई-कॉमर्स के पास देशभर के 40 शहरों में 80 फिजिकल स्टोर हैं। अभी तो नायका का 11 साल का सफर और आगे बढ़ेगा जब कंपनी IPO से मिले पैसे से अपने नए स्टोर्स लॉन्च करेगी। फाल्गुनी की ये कहानी इसलिए भी ख़ास है क्योंकि उनकी ये सफलता लाखों-करोड़ों महिलाओं को प्रेरित करेगी।

और अब याद रखिए सपने देखने की कोई उम्र नहीं होती, कोई वक्त नहीं होता। एक्सीलेंस के पीछे भागिए, सक्सेस झक मारकर पीछे आएगी।

इमेज सोर्स: Nykka

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

133 Posts | 454,037 Views
All Categories