कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

दो साल बाद जायरा वसीम एक बार फिर सुर्खियों में!

जायरा वसीम की ये फोटो सोशल मीडिया पे आते ही छा गई और कुछ ही देर में इस फोटो पे जम के लाइक्स और कमैंट्स फैंस द्वारा कर दिये गए। 

जायरा वसीम की ये फोटो सोशल मीडिया पे आते ही छा गई और कुछ ही देर में इस फोटो पे जम के लाइक्स और कमैंट्स फैंस द्वारा कर दिये गए। 

“जायरा वसीम” सिर्फ नाम ही काफ़ी है इस छोटी उम्र की खूबसूरत प्रतिभाशाली दंगल गर्ल की जिनकी पहचान किसी भी परिचय की मोहताज नहीं। आमिर खान की सुपरहिट फ़िल्म दंगल से डेब्यू करने वाली जायरा वसीम अपने बहुत छोटे से बॉलीवुड सफर में ही फ़िल्म फेयर, राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार साथ ही राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी हैं।

बॉलीवुड के अपने सुनहरे सफर को गुड बाय करने के दो साल बाद भी दंगल फ़िल्म की वो बच्ची को भूलना उनके फैंस के लिये बिलकुल नामुमकिन है, जिन्होंने छोटी सी उम्र में ही अपने असाधारण अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया था। तभी तो एक लम्बे वक़्त के बाद जायरा उस वक़्त चर्चा में आ गई जब उनकी एक ताज़ा तस्वीर सोशल मीडिया आयी।

इस तस्वीर में बुर्के पहने जायरा एक पुल पे टहलती नज़र आ रही हैं। हालांकि, उनका चेहरा उनके फैंस नहीं देख पाये क्यूंकि उनकी पीठ कैमरे की तरफ थी। जायरा ने इस तस्वीर को एक कैप्शन भी दिया, “द वार्म अक्टूबर सन” 

जायरा की ये फोटो सोशल मीडिया पे आते ही छा गई और कुछ ही देर में इस फोटो पे जम के लाइक्स और कमैंट्स फैंस द्वारा कर दिये गए।

पूरे दो साल बाद आयी एक ऐसी तस्वीर जिसमें जायरा का चेहरा भी नहीं दिख रहा और चमक दमक और अभिनेत्रियों की तस्वीरों से अलग है। दंगल गर्ल की ऐसी साधारण तस्वीर पे कुछ ही समय में आये हजारों लाइक कमेंट इस बात का सबूत है कि जिस बॉलीवुड में चढ़ते सूरज को ही सलाम किया जाता है, वहाँ कुछ समय तक अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने वाली और सिर्फ गिनी चुनी फिल्मो में काम करने वाली जायरा ने अपने फैंस के दिलों में कितनी ख़ास जगह बनाई है और उनके फैंस कितने शिद्दत से उन्हें पसंद भी करते हैं।

जायरा वसीम ने कब और क्यों बनाई थी बॉलीवुड से दूरी(Zaira Waseem News)

करीब दो साल पहले, 30 जून 2019 में जायरा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पे एक लंबी पोस्ट डाल कर ये अनाउंस किया था वो धार्मिक कारणों से एक्टिंग छोड़ रही हैं। जायरा के इस कदम से उस वक़्त ना सिर्फ बॉलीवुड बल्कि उनके फैंस भी हैरान रह गए थे।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

क्या लिखा था जायरा ने अपनी पोस्ट में

जायरा की वो पोस्ट जिसने सबको हैरानी में डाल दिया था उसमे जायरा लिखती हैं कि पांच साल पहले मैंने एक ऐसा फैसला लिया जिसने मेरी जिंदगी हमेशा के लिये बदल कर रख दिया। जायरा कहती हैं कि बॉलीवुड में कदम रखते ही मेरे लिये पॉपुलर होने के कई रास्ते खुल गए। लोगों की अटेंशन मिलने लगी और कई बार उन्हें युवाओं का रोल मॉडल भी माना जाने लगा हालांकि ये सब वो नहीं था जिसकी ख्वाहिश उन्होंने की थी, ख़ास कर सक्सेस और फेलियर को ले कर।

बॉलीवुड को अलविदा करने के साथ ही जायरा ने एक बड़ा कदम उठाते हुए सोशल मीडिया से अपने सारे फोटोज भी डिलीट कर दिये थे। इसके साथ ही जायरा ने अपने फैंस से भी अनुरोध किया था की उनकी तस्वीरें फैंस पेज से डिलीट कर दिये जाये। ऐसे में दो साल के लम्बे वक़्त के बाद जायरा की तस्वीर आना खुद में ही बहुत ख़ास है।

इतनी जल्दी छोड़ा जायरा ने बॉलीवुड का सुनहरा सफर

कम समय में शोहरत की बुलंदियों छूने वाली जायरा वसीम ने बॉलीवुड को बहुत आसानी से गुड बाय कह दिया लेकिन यकीन मानिये ये इतना आसान भी नहीं था जायरा के लिये। कामयाबी के पांच साल बाद उन्हें अहसास हुआ कि चाहे वो बॉलीवुड में फिट बैठती हों लेकिन वो यहाँ के लिये नहीं बनी।

जायरा कहती हैं कि बॉलीवुड से उन्हें ढ़ेर सारा प्यार, कामयाबी और तारीफें दी लेकिन उन्हें गुमराही के रास्ते पे भी ले आया। जायरा के अनुसार उन्होंने ऐसे माहौल में काम किया जिसने लगातार उनके ईमान में दखल किया और ऐसे समय में कुरान और पैग़म्बर का मार्गदर्शन जिंदगी के प्रति उनके नज़रिये और मायने की बदल दिया।

अपने धर्म के सिद्धांतो में अपनी असली ख़ुशी तलाशती जायरा ने अपने धर्म में खुद के लिये एक नई ख़ुशी तलाशने के लिये अधिकारीक तौर पे खुद को बॉलीवुड से अलग होने की घोषणा कर दी।  हालांकि उनके इस फैसले से कुछ फैंस ने नाराज़ हो उन्हें ट्रोल भी किया, तो कुछ उनके सपोर्ट में भी आये। आखिर ये जायरा की अपनी जिंदगी है जिसे वो अपने ढंग से जीने को आजाद हैं।

कंट्रोवर्सी से अछूती नहीं रही हैं दंगल गर्ल

पांच साल के छोटे से फ़िल्मी करियर और छोटी सी उम्र में दंगल गर्ल ने काफ़ी नाम, सम्मान और शोहरत कमा लिया लेकिन इसके साथ ही जायरा कंट्रोवर्सी से भी दूर नहीं रह पायी।

पहली कंट्रोवर्सी तो उनकी पहली फ़िल्म से ही शुरू हो गई जब 2016 में फ़िल्म के सेट से एक तस्वीर वायरल हुई। इस तस्वीर में जायरा के बाल छोटे कटे थे, इस वजह से मुस्लिम कटरपंथी द्वारा जायरा को निशाने पे लिया गया जायरा के बाल छोटे कटवाने को गैर इस्लामिक कहा गया।

इसके तुरंत बाद 2017 में जायरा तब निशाने पे आ गई जब कश्मीरी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के साथ उनकी तस्वीर सामने आयी। इसके साथ ही महबूबा मुफ़्ती का वो बयान, जहाँ उन्होंने जायरा को कश्मीरी रोल मॉडल कहा था। ये मामला कुछ कटरपंथी विचारधारा के लोगो को पसंद नहीं आया और जायरा को तरह तरह की धमकी भी दी गई। हालांकि विवाद गहराता देख जायरा ने पोस्ट डिलीट कर माफ़ी भी मांग ली।

2017 में उनके द्वारा उनके इंस्टाग्राम अकॉउंट पे कई मैसेज पोस्ट किये गए जिनमें जायरा ने शिकायत की थी कि दिल्ली से मुंबई फ्लाइट से आते वक़्त उनके सीट के पीछे बैठे शख्स ने उन्हें गलत तरीके से छुआ। उस वक़्त जायरा के इस पोस्ट ने बहुत बवाल मचाया था और साथ ही ये मामला कोर्ट तक पहुँच गया था। 

बॉलीवुड छोड़ने पे जायरा पर उठे कई सवाल

कम उम्र और कम समय में अपार सफलता देखने वाली इस बॉलीवुड अभिनेत्री द्वारा बॉलीवुड को धर्म का हवाला दे अलविदा करना एक सनसनी सा फ़ैला गया। साथ ही जायरा वसीम का ये निर्णय कई सवाल भी खड़ा कर गया। कश्मीर का प्रतिनिधित्व करती जायरा की सफलता और लोकप्रियता कइयों को बिलकुल हजम नहीं हुआ।

देखा जाये तो निजी जिंदगी में इनके दवाब और संघर्ष को भी बॉलीवुड छोड़ने की बड़ी वज़ह मानी जा सकती है। जायरा का बॉलीवुड छोड़ने का कदम ये सोचने को भी मजबूर करता है कि जब एक महिला कलाकार सफल हो कर भी दबाव ना झेल सकी तो उन लड़कियों का भविष्य क्या होगा जो कश्मीर से बाहर निकल जिंदगी में कुछ बनना चाहती है?

दंगल गर्ल जायरा के द्वारा अपने मजहब का हवाला दे बॉलीवुड को अलविदा करना कहीं ना कहीं एक महिला होने के तौर पे मुझे कचोट गया। जायरा का ये फैसला निजी है या किसी दबाव में, ये तो हम नहीं जानते लेकिन सोचिये क्या जायरा का ये कदम उनके साथ उनके जैसी कई लड़कियों के सपनों को नहीं मारा?

ज़रा सोचिये कि क्या हम ऐसे युग में हैं जहाँ लड़कियों की सोच और सपने किसी धर्म या विचारधारा से प्रभावित होने चाहिए? जायरा के बढ़ते क़दमों ने जिस आशा की लौ को जगाया था क्या वो मजहब की आंधी में बुझ गई?

मेरे जैसे कई लोगो के लिये ये समझना मुश्किल होगा की आखिर एक्टिंग करना पाप कैसे हो सकता है? और एक्टिंग करना किसी धर्म विशेष से कैसे जुड़ा जा सकता है? मुझे आश्चर्य होता है कि  महिलाओं के मुद्दे पे अपनी रोटियां सेंकने वाले तब क्यों नहीं दिखते जब मजहब के नाम पे लड़कियों को उनके सपनों को जीने से रोका जाता है? अब समय है की हम इस सोच से निकलें और लड़कियों को खुल कर आजादी दें उनके सपने पूरे करने की।

फ़िलहाल, ज़ायरा वसीम को हमारी शुभकामनाएं!

इमेज सोर्स : Zaira Waseem/Intagram

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

164 Posts | 3,774,187 Views
All Categories