कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक करे ये 10 आहार और ये आपकी रसोई में हैं

महिलाओं में हार्मोन बैलेंस करने के लिए क्या खाना चाहिए? महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक करे ये 10 आहार जिसका सेवन आपको राहत दिलाएगा।

महिलाओं में हार्मोन बैलेंस करने के लिए क्या खाना चाहिए? महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक करे ये 10 आहार जिसका सेवन आपको राहत दिलाएगा। 

महिलाओं के शरीर में हार्मोन की भूमिका बहुत ही अहम है। किशोरावस्था से लेकर बच्चे के जन्म तक महिलाओं के शरीर में हार्मोन की प्रक्रिया और कार्य बदलती रहती है। हमारे शरीर के में हार्मोन कम या ज़्यादा हो जाए, तो इसे हार्मोन असंतुलन कहा जाता है।

महिलाओं में हार्मोन का असंतुलन होना आम बात है, और अच्छी बात ये है कि यह ठीक भी हो जाता है।

लेकिन कुछ परिस्थितियों में महिलाओं का हार्मोन संतुलन होने में काफी वक्त लगता है। ऐसे में महिलाओं को हार्मोन असंतुलन को ठीक करने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह तो लेनी ही चाहिए साथ ही साथ रिसर्च करके दिए गए 10 आहारों का सेवन करते रहना चाहिए।

महिलाओं में हार्मोन असंतुलन क्यों होता है?(mahilaon mein hormonal imbalance kyun hota hai)

हार्मोन में असंतुलन किसी को भी किसी भी उम्र में हो सकता है। इस वजह से कई बार महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

लेकिन हार्मोन असंतुलन क्यों होता है?

हार्मोन अंसतुलन होने के बहुत सारे कारण होते हैं। कुछ इस प्रकार हैं –

  1. अनियमित जीवनशैली इसका सबसे बड़ा कारण है।
  2. पौष्टिक आहार न लेकर उसकी जगह जंक फूड या प्रिजरवेटिव युक्त आहार का सेवन अधिक करना।
  3. समय पर खाना न खाना।
  4. नींद कम आना।
  5. तनाव में रहना।
  6. डिप्रेशन 
  7. धूम्रपान और शराब का सेवन 
  8. डायबिटीज 
  9. हाइपोथॉयराइडिज्म और हारइपरथॉयराइडिज्म की शिकायत होने पर
  10. पैराथॉयराइड हार्मोन का कम या अधिक उत्पादन होने के कारण भी यह समस्या हो सकती है
  11. सुस्ती और आलस भरे लाइफस्टाइल के कारण 

महिलाओं में हार्मोन अंसतुलन के लक्षण (mahilaon mein hormone imbalance ke lakshan)

महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के कई लक्षण पाए जाते हैं। उनमें से कुछ लक्षणों को मैंने यहाँ लिखा है।

Never miss real stories from India's women.

Register Now
  1. महिलाओं में अचानक वजन बढ़ना और घटना हार्मोन असंतुलन का कारण हो सकता है। 
  2. पीरियड्स देर से आना भी हार्मोन असंतुलन का कारण हो सकता है
  3. पीरियड्स में तेज ब्लीडिंग 
  4. महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) की समस्या हार्मोन असंतुलन के लक्षण भी हो सकते हैं।
  5. योनि में सूखापन 
  6. सेक्स करने की इच्छा में कमी होना 
  7. ब्रेस्ट काफी सॉफ्ट होना
  8. अत्यधिक थकान महसूस होना
  9. त्वचा का रूखा पड़ना
  10. चेहरे पर मुँहासे 
  11. बाल काफी कमजोर होना
  12. रात को सोते समय अधिक पसीना आना 

महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक करे ये आहार(mahilaon mein hormone asantulan theek karne ke liye kya khana chahiye)

हार्मोन के असंतुलन को सामान्य करना मुश्किल नहीं है। अच्छी बात यह है कि आप यह काम घरेलू उपायों की मदद से भी कर सकती हैं। इसका फायदा यह है कि इस तरह से आपकी सेहत कई तरह के साइड इफेक्ट्स से भी बची रहती है। यहां पर कुछ विषेश आहार दिये हुए हैं, जिसका सेवन आपको हार्मोन असंतुलन से राहत दिलाएगा। महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक करे ये 10 आहार।

  1. अलसी के बीज: अलसी के बीज अच्छी सेहत के लिए बहुत उपयोगी साबित होते हैं। जो महिलाएं नियमित रूप से अलसी के बीज का सेवन करती हैं, उनके शरीर में प्रोजेस्टेरॉन और एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर संतुलित रहता है।
  1. नारियल तेल: हार्मोन को संतुलित रखने के लिए नारियल तेल महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। नारियल तेल से हार्मोन्स संतुलित होने के साथ-साथ आपका वजन भी नियंत्रित रहेगा। 
  1. पानी: पानी पीने से शरीर हाईड्रेट रहता है और उससे स्‍ट्रेस लेवल भी कम होता है। तनाव यानी स्‍ट्रेस हार्मोन असंतुलन का सबसे बड़ा कारण है। पानी का शरीर में पर्याप्त मात्रा में रहना अत्यंत आवश्यक है। कम पानी पीना बीमारियों को न्योता देने जैसा है।
  1. दालचीनी: दालचीनी पाउडर को अपनी चाय या आहार में शामिल करें। यह हार्मोन्स को संतुलित रखने में सहायक है और इंसुलिन को भी काफी हद तक संतुलित रखता है।
  1. हरी साग-सब्‍जी: हरी सब्ज़ियाँ और बींस में बहुत सारा कार्बोहाइड्रेट और फाइबर होता है, जो हार्मोन असंतुलन को ठीक करने में मददगार साबित होता है।
  1. दही: प्रतिदिन एक कप दही का सेवन करें। यह शरीर में अच्छे बैक्टीरिया के संतुलन को बनाए रखते हैं। दही के सेवन से हम महिलाओं को कैल्सीयम भी भरपूर मात्रा में मिलता है।
  1. ग्रीन टी: ग्रीन टी के सेवन से हार्मोन भी संतुलित होता है। ग्रीन टी पीने से मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया बेहतर होती है। ऐसे में रोज़ाना 1 से 2 कप ग्रीन टी अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। 
  1. हर्ब्स : विटामिन-सी, बी-5, इल्युथेरो और रोडिओला ऐसे हर्ब्स हैं, जो एनर्जी देते हैं। ये तनाव दूर करने वाले हार्मोन का स्राव बढ़ाते हैं और शरीर में हार्मोन का प्राकृतिक संतुलन बनाने में मदद करते हैं।
  1. मछली (मांसाहारी महिलाओं के लिए): अपने आहार में सीफूड शामिल करें। टूना फिश में बहुत सारा ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, जो कि शरीर में हार्मोन को बैलेंस करता है। मछली के सेवन से शरीर में होने वाली फैटी एसिड की कमी पूरी होती है। इसके हम महिलाओं की त्वचा में निखार और बालों को मज़बूती भी मिलती है।
  1. फाइबरयुक्त आहार: फाइबरयुक्त आहार जैसे- साबुत अनाज, ओट्स के सेवन से आप अपने शरीर के हार्मोन को संतुलित रख सकते हैं। इससे आपके शरीर को भरपूर पोषक तत्व मिलेगा। साथ ही ब्लड शुगर भी नियंत्रित होता है।

इन सभी आहारों के साथ नियमित रूप से योगासन व व्यायाम करने के फायदों को नकारा नहीं जा सकता। इससे शरीर में रक्तसंचार बेहतर होता है। खुश रहने वाले हार्मोन एंडोर्फिन का स्राव बढ़ता है, शरीर का वजन सामान्य बना रहता है और दिल का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है।

उम्मीद है, बताए गए 10 आहारों के सेवन से आप सभी अपने असंतुलित हार्मोनस को सामान्य करने का प्रयास करेंगी और उसमें सफ़ल होंगी।

डिस्क्लेमर : इस लेख को एक समान्य जानकारी हेतु पढ़ें। ये डॉक्टरी सलाह नहीं है। समय आने पर अपने डॉक्टर की राय अवश्य लें 

मूल चित्र: SnowWhiteimages from Getty Images via Canva Pro

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

Ashlesha Thakur

Ashlesha Thakur started her foray into the world of media at the age of 7 as a child artist on All India Radio. After finishing her education she joined a Television News channel as a read more...

26 Posts | 54,781 Views
All Categories