कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

बेटियाँ भी करती हैं एक कन्या दान…

पर बेटियां जो करती हैं कन्यादान अपने दिल के अंदर किसी कोने में छिपी उस मासूम लड़की का तो नहीं होती उसके बाद पगफेरे की रस्म के लिए कोई जगह...

Tags:

पर बेटियां जो करती हैं कन्यादान अपने दिल के अंदर किसी कोने में छिपी उस मासूम लड़की का तो नहीं होती उसके बाद पगफेरे की रस्म के लिए कोई जगह…

माता-पिता ही नहीं करते कन्यादान बेटियों का
बेटियाँ भी करती हैं एक कन्यादान
मंडप में सात फेरों के वक़्त!

अपने दिल में छिपी उस मासूम, चुलबुली
बेफिक्री से जीने वाली लड़की का…
जो जिम्मेदारियों का मंगलसूत्र पहनकर कर देती है उस लड़की की विदाई हमेशा के लिए,

अपने दिल के मायके में लगा देती है ताला हमेशा के लिए क्योंकि वो मासूम लड़की बन जाती है विवाहित स्त्री!

सुना है विवाहित स्त्रियों को मर्यादा में रहना पड़ता है मासूम और चुलबुली लड़की की तरह बिना बात पर खिलखिलाकर जोर-जोर से हँसना समाज की नजर में अच्छे संस्कार नहीं होते?

मातापिता का किया गया कन्यादान
इंतजार करता है पगफेरे की रस्म का
जिसमे बेटियों को मिलता है प्यार, दुलार
वही आजादी, देर तक सोने की बेफिक्री
भाई बहनों के साथ मौजमस्ती!

पर बेटियां जो करती हैं कन्यादान अपने दिल के अंदर किसी कोने में छिपी उस मासूम लड़की का तो नहीं होती उसके बाद पगफेरे की रस्म के लिए कोई जगह,
क्योंकि विवाहित स्त्रियां कहां रह पाती है ससुराल में बेफिक्री से, उन पर तो होते हैं अनगिनत जिम्मेदारियों के बंधन…

नहीं सो पाती वो बेफिक्र होकर कभी भी
क्योंकि सब कुछ व्यवस्थित करना होता है उसे,
घर में किराने के समान से लेकर बच्चों की परवरिश तक
जैसे कन्यादान के वक़्त व्यवस्थित करते हैं माता-पिता विवाह की सारी तैयारियां अपना सर्वश्रेष्ठ देकर!

Never miss real stories from India's women.

Register Now

मूल चित्र : Still From Short Film Shaadi/Subash Chandra, YouTube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

Antima Singh

13 वर्ष की उम्र से लेखन में सक्रिय , समाचार पत्रों में कविताएं कहानियां लेख लिखती हूँ। एक टॉप ब्लागर मोमस्प्रेसो , प्रतिलिपी, शीरोज, स्ट्रीमिरर और पेड ब्लॉगर, कैसियो, बेबी डव, मदर स्पर्श, और न्यूट्रा लाइट जैसे ब्रांड्स के साथ स्पांसर ब्लॉग लिखती हूँ मेरी कहानियां समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने के लिए होती है रिश्तों के उतार चढ़ाव मेरे ब्लॉग की मुख्य विशेषता है read more...

12 Posts | 119,450 Views
All Categories