कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

कौन है राबिया नाज़ शेख़ जिसने यूट्यूबर बनकर अपनी ज़िंदगी बदल डाली?

राबिया नाज़ शेख़ ने भले ही अपने शौक को इंटरनेट से जोड़कर उसको रोजगार में बदल दिया, परंतु उसके लिए यह सफर आसान कतई नहीं था।

राबिया नाज़ शेख़ ने भले ही अपने शौक को इंटरनेट से जोड़कर उसको रोजगार में बदल दिया, परंतु उसके लिए यह सफर आसान कतई नहीं था।

पाकिस्तान में सिंध के जिले खैरपुर के कस्बे में रहने वाली 25 साल की राबिया नाज़ शेख़ रोज़ की जिंदगी पूरी तरह से यूट्यूब पर अपना चैनल शुरू करने से बदल गई। 12वीं के बाद अपने इच्छा से पढ़ाई छोड़ दिया और सिलाई-बुनाई के अपने शौक को वीडिओ बनाकर यूट्यूब पर अपलोड करना शुरू किया आज उसकी जिंदगी बदल गई है। वह पाकिस्तान में लोगों के लिए मिसाल बनकर उभरी है।

राबिया नाज़ शेख़ रोज़ पाकिस्तान के छोटे से गांव में रहने वाली आम सी लड़की है, जिसके हौसले काफी बुलंद हैं। इतने बुलंद कि आज राबिया जिसने बाहरवीं के बाद अपनी इच्छा से पढ़ाई छोड़ दी। सिलाई-बुनाई का काम उसने सीख रहा था और इंटरनेट से डिज़ाईन देखकर अपने और घरवालों के कपड़े बनाती थी। उसके इसी शौक के वज़ह से उसने यूट्यूब पर फैशन एडिक्शन के नाम से अपना चैनल शुरू बनाया, आज इस चैनल पर एक 190 हज़ार से अधिक सब्सक्राइबर्स हैं।

राबिया ने यूट्यूब के लिए वीडियो बनाना इंटरनेट से सीखा और उसको एडिट करना भाईयों के मदद  सीखा। आज राबिया जहां रहती है वहां न कायदे का इंटरनेट है, न ही ठीक से रहती बिजली, फिर भी वहां अपने दिमाग से महीने का चालीस-पचास हजार कमा लेती है, जिससे वह दो कमरे का घर बनवा रही है जो आधा बन भी चुका है।

आसान नहीं रहा, राबिया नाज़ शेख़ का ये सफर

राबिया नाज़ शेख़ ने भले ही अपने शौक को इंटरनेट से जोड़कर उसको रोजगार में बदल दिया। परंतु, उसके लिए यह सफर आसान कतई नहीं था।

राबिया अपने चैनल के वीडियो के लिए तस्वीरों के चयन से लेकर उसको जो बोलना है उसका कन्टेंट खुद ही लिखती है, उसका वांयस ओवर करती है, साफ्टवेयर से एडिट करती है और फिर पूरा हो जाने पर यूट्यूब पर अपलोड कर देती है। यह सारा काम राबिया अपने स्मार्टफोन से ही करती है।

चैनल शुरू करने और उससे आमदनी हासिल करने में उसे पूरा एक साल लग गया। उसे यूट्यूब का कोड, जो डाक से आता है वो भी वक्त पर नहीं मिला। मेल करने के बाद पहचान पत्र सही होने के बाद राबिया के लिए रकम जारी हुई।

अब रकम मिलने के लिए बैंक अकाउंट होना जरूरी था। जब बैंक वाले को राबिया ने बताया कि बाहर से पैसे आएंगे और यूट्यूब पैसे भेजेगा तो बैक मैनेजर को विश्वास नहीं हुआ, उन्होंने भी कभी नहीं सुना था कि यूटूयूब से कमाई होती है। जब पैसे अकाउंट में आ गए, तो उन्हें भी हैरानी हुई। आज राबिया को सिल्वर प्ले बटन मिल चुका है जिसको वह गोल्डन प्ले बन में बदलना चाहती है।

Never miss a story from India's real women.

Register Now

यूट्यूब चैनल से कमाई कैसे होती है

यूट्यूब से कमाई करने के लिए सबसे पहले जरूरी है यूट्यूब चैनल शुरू करना।

अगर आपमें कोई टैलेंट है तो उसको पहचान कर, उसके लिए अच्छा कन्टेंट तैयार करें और तय करें कि वीडियो आनलाइन डालना चाहते हैं या नहीं। अगर आपका आइडिया यूनिक है और कनटेंट यूजर फ्रेडली तो अधिक लोगों को पसंद आ सकता है।

वीडिओ अपलोड करते समय कॉपीराइट का ध्यान रखना जरूरी है। हफ्ते में एक दो वीडियो डालते रहने से आपके चैनल को देखने वालों की संख्या बढ़ती रहती है।

एक निश्चित संख्या में व्यूज़ मिलने के बाद आपको अपने चैनल को मांनेटाइजेंशन के लिए अप्लाई करना पड़ता है। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद आपको हर वीडिओ में मानेटाइजेंशन इनेबल करना होता है तब ही आपके वीडियो से कमाई शुरू होती है।

इस कमाई का 45 फीसदी हिस्सा यूट्यूब चैनल के पास चला जाता है और शेष 55 फीसदी आपके पास आ जाता है। यह चैनल पर आ रहे विज्ञापनों के जरिए होता है। यह विज्ञापन तब मिलते हैं जब आपके चैनल की व्यूअरशिप बढ़ती है। इसके साथ-साथ आपके चैनल के माध्यम से अगर कोई कंपनी मार्केटिग कर कमाती है तो उस कमाई का कुछ प्रतिशत आपके चैनल को पहुंचता है, इससे भी आपकी कमाई होती है।

तो देर की आप भी फटाफट अपना टैलेंट दुनिया  लाएं और घर बैठे-बैठे पैसे कमाएं

मूल चित्र : ptnewslive 

टिप्पणी

About the Author

210 Posts
All Categories