कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

मेरा दामाद हीरा है हीरा, पर बेटा जोरू का ग़ुलाम…

Posted: जून 20, 2021

सुनैना जी को अपनी बहु रूबी थोड़ी कम पसंद है क्योंकि बेटे अमित ने सबकी मर्जी के खिलाफ जाकर रूबी से प्रेम विवाह किया था।

सुनैना जी के दो बच्चे हैं, अमित और अमीषा। दोनों की शादी हो गई है, और सुनैना जी अपने दामाद के व्यवहार से बहुत खुश रहती हैं। पर उन्हें अपनी बहु रूबी थोड़ी कम पसंद है क्योंकि बेटे अमित ने सबकी मर्जी के खिलाफ जाकर रूबी से प्रेम विवाह किया था।

कुछ ही दिनों पहले अमीषा ने फोन पर बताया कि उसके पैरों में मोच आ गई है, यह बात सुनकर सुनैना की देवरानी सविता आज हाल चाल पूछने को आई थी।

“सविता अब तूझे क्या बताऊं! मेरा दामाद तो हीरा है हीरा। मेरी बिटिया के पैरों में मोच आ गई है, तीन दिनों से बिस्तर से उठने न दिया दामाद जी ने। उसकी दवाइयाँ, जूस, नाश्ता, खाना, पानी सब वो खुद लाकर देते हैं।

और तो और मेरी बिटिया के पैरों की मालिश भी वो स्वयं ही कर देते है। मैं तो धन्य हो गई ऐसा दामाद पाकर।” सुनैना जी अपनी देवरानी से बोली।

“अरे दीदी अमित और रूबी नही दिख रहें है घर में, आज तो इतवार है ना, छुट्टी नही है क्या उन दोनो की?” सविता ने पूछा। 

“अरे, पूछ मत सविता। अमित तो जोरू का गुलाम हो गया है। सुबह से रूबी ने सर दर्द का बहाना बनाया है, अभी रूखा सूखा खाना बनाकर अपने कमरे में गई है महारानी जी।

अमित भी हाथ में सर दर्द की दवा और गिलास में पानी लेकर उसके पीछे पीछे गया कमरे में सेवा करने। पूरा सर पे चढ़ा रखा है इस लड़के ने अपनी पत्नी को।” मुँह बिचकाते हुए सुनैना जी बोली।

सविता जी को समझ में नहीं आ रहा था की जो काम दामाद कर रहा है वो अच्छा है तो वही काम अमित करके जोरू का गुलाम कैसे बन गया।  

अब सविता जी ने बिना कुछ बोले वहां से जाने में अपनी भलाई समझी।क्योंकि जिस इंसान का दोहरा व्यवहार हो उसको कुछ भी समझा पाना आसान नहीं।


मूल चित्र: Parachute Advanced Via Youtube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020