कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

आप भी भारतीय जीवन बीमा निगम एजेंट बनें और अपनी इनकम खुद कमाएं

Posted: मई 16, 2021

आज हर महिला कुछ करना चाहती है, भारतीय जीवन बीमा निगम यानि एलआइसी एजेंट के रूप में भी आप अच्छी खासी इनकम बना सकते हैं। आइये जानें कैसे…

जब भी महिलाओं के आत्मनिर्भर होने की बात होती है तो हम में से कई ऐसे विकल्प तलाशते हैं जिनसे जुड़ कर हम अपने दम पे कुछ पैसे भी कमा लें और अपने परिवार की देखभाल भी कर सकें।

छोटे शहर में रहने वाली महिलायें जो पढ़ी लिखी तो होती है लेकिन मेट्रो सिटी की तरह उनके पास जॉब विकल्प बहुत कम होते हैं। ऐसे में आज की तारीख में एक महिला के लिये एलआइसी एजेंट के रूप में अपना करियर बनाना एक अच्छे और सुरक्षित विकल्प के रूप में सामने आ रहा है। 

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) से हर कोई परिचित है। लगभग हर घर में एलआइसी की पॉलिसी ली जाती है। ऐसे में अगर कोई महिला जो की दसवीं पास है और पैसा कमाना चाहती है तो एलआइसी से जुड़ कर उसके एजेंट के रूप में अपनी कुछ एक्स्ट्रा कमाई कर सकती है।

यहाँ सबसे अच्छी बात ये है की एजेंट के रूप में कोई फ़िक्स टाइम नहीं होता कोई भी महिला अपने फ्री टाइम में अपने क्लाइंट से संपर्क कर बीमा बेच सकती है और लाखों से करोड़ो तक कमा सकती है।

एलआइसी एजेंट कैसे बन सकते हैं? कैसे कमाई कर सकते है और आगे इस कॅरियर में कैसे बढ़ा जा सकता है? महिला होने के नाते क्या क्या चैलेंज इस कार्य क्षेत्र में देखने को मिलते हैं?

आपके साथ मेरे मन में भी ऐसे ढेरों सवाल थे जिसके लिये हाल ही मेरी मुलाक़ात बाड़मेर एलआइसी के लिये काम करने वाली एक महिला एजेंट कमला देवी जी से हुई और एक महिला एलआइसी एजेंट के रूप में वो कैसे संस्था से जुड़ी और महिला होने के नाते क्या क्या चुनौतियों का सामना करना पड़ा और भी कई ऐसे मुद्दे पे मेरी उनसे बातचीत हुई।

और उनसे मिली जानकारी आज मैं आपके साथ भी सांझा करने आयी हूँ। 

एलआइसी एजेंट बनने हेतु योग्यता

एक एजेंट का काम बीमा कंपनी और ग्राहक के बीच मध्यस्थता का होता है। एलआइसी ने हाल ही में एजेंट बनने की शैक्षणिक योग्यता 12 वी से घटा कर 10 वी कर दि है, ऐसे में अब ज्यादा से ज्यादा युवा महिलाओं और आम गृहणी के पास मौका है की वो एलआइसी से जुड़ कर खुद को आत्मनिर्भर बना सके।

कैसे और क्यों बनें भारतीय जीवन बीमा निगम एजेंट यानि एलआइसी एजेंट?

बीमा एजेंट बनने के लिये किसी भी महिला या पुरुष आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करना होता है। इसके लिये आपके पास के किसी भी निकटतम शाखा में संपर्क कर वहाँ के विकास अधिकारी से मिलना होगा।

एलआइसी संस्था में आम और ख़ास सभी का विश्वास है, इसलिए कोई भी महिला एजेंट के रूप में इस संस्था से पार्ट टाइम या फुल टाइम के लिये जुड़ कर अपना भविष्य सुरक्षित कर सकती है। यहाँ पार्ट टाइम से मतलब आप किस भी अन्य नौकरी के साथ एजेंट के रूप में भी कमाई कर सकते है या फिर फुल टाइम के रूप में सिर्फ एजेंट के रूप में काम कर सकते है।

लीछ यानि LIC एजेंट के रूप में आमदनी

एक महिला को घर और ऑफिस दोनों में बैलेंस कर के चलना पड़ता है। 9 से 5 के जॉब में महिलाओं को कई बार घर, बच्चों और अपनी नौकरी के बीच तालमेल बिठाने में काफ़ी परेशानी होती है, ख़ास कर जब वो एकल परिवार से हो। ऐसे में हर महिला एक ऐसा काम करना चाहती है जो वो आपने फ्री टाइम में अपनी सुविधानुसार कर सके साथ ही अच्छी कमाई भी कर सके।

एलआइसी एजेंट के रूप में कोई भी महिला जब बीमा अपने ग्राहक को बेचती है तो इसके लिये निश्चित प्रतिशत के रूप में उसे कमीशन प्राप्त होता है।

इस क्षेत्र में अगर कोई महिला नियमित रूप से बीमा बेचती रहे और मेहनत करें तो वो एलआइसी क्लब मेंबर की सदस्य भी बन सकती है, जिसके तहत अपना स्वं का ऑफिस खोलने का पैसा भी एलआइसी के द्वारा ही मिलता है। साथ ही मेडिकल फैसिलिटी एवं कार एडवांस, फेस्टिवल एडवांस जैसी अन्य आकर्षक सुविधायें भी प्राप्त होती है।

एक महिला के रूप में कार्य क्षेत्र में मिलने वाली चुनौतियां

हर कामकाजी महिला को अपने कार्य क्षेत्र में अकसर कई तरह की चुनौतियां देखने को मिलती है। इस मामले में ये क्षेत्र भी अछूता नहीं है। एजेंट के रूप में कार्य करने वाली महिलाओं की तुलना में आज भी पुरुष सदस्यो की संख्या ज्यादा होती है।

ऐसे में ग्राहक भी बहुत कौतुहल से महिला एजेंट को देखते है। ग्राहको से मिलने और उन्हें बीमा बेचने में कहीं ना कहीं महिला होने के नाते थोड़ा प्रयास ज्यादा रहता है। अपने व्यवहार और स्पष्ट रूप से बीमा के विषय में समझाने के बाद जब ग्राहक आस्वस्त हो जाते है तो काम आसान हो जाता है।

भारतीय जीवन बीमा निगम एजेंट के लिए  फ्लेक्सिबल टाइम

कोई भी महिला एजेंट अपने घर और बच्चों के देखभाल के साथ पैसे कमा सकती है और सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके लिये काम के घंटे निर्धारित नहीं होते और बीमा एजेंट के रूप में आप जितनी बीमा लायेंगे उतना ही कमीशन पायेंगे अर्थात जितनी मेहनत उतनी आमदनी।

आज हर पढ़ी लिखी महिला कुछ करना चाहती है, लेकिन कई बार नौकरी पाने और अपनी नौकरी जारी रखने में वो कई कारणों से वंचित रह जाती है। ऐसे में कुछ खुद का काम करना सबसे अच्छा विकल्प होता है। बीमा एजेंट के रूप में मिलने वाला अवसर आज महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रहा है।

बिना किसी तरह के निवेश के एक महिला अपने पैरों पे खड़ी हो सकती है और ख़ास कर ग्रामीण और छोटे शहर की महिलाओं के लिये भारतीय जीवन बीमा निगम एजेंट या एलआइसी बीमा एजेंट के रूप में कार्य करना और अपनी आमदनी प्राप्त कर आत्मनिर्भर बनना एक प्रशंसनीय प्रयास है।

मूल चित्र: Airtel Via Youtube 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020