कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड में शामिल हैं डार्क चॉकलेट और ये 6 चीज़ें

मछली, अंडे से लेकर डार्क चॉकलेट तक, अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड की सूची में ये चीज़ें आप शामिल कर सकते हैं।

मछली, अंडे से लेकर डार्क चॉकलेट तक, अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड की सूची में ये चीज़ें आप शामिल कर सकते हैं

करोना केसेज़ दिन प्रति दिन बढ़ रहे है जिसके कारण कई जगह पर लॉक डाउन लग रहे और लोगों को घर रहने को कहा जा रहा। घर रह अपने आप को सुरक्षित रहने के साथ-साथ अपने शरीर को स्वस्थ्य रखने और उससे बीमारी से लड़ने के लिए सक्षम बनाना भी ज़रूरी है। 

इसी विषय में सरकार ने हाल ही में इम्यूनिटी का निर्माण करने के लिए मछली, अंडे से लेकर डार्क चॉकलेट तक, जैसे खाद्य पदार्थों की सूची ‘mygovindia’ ट्विटर हैंडल पर साझा की। कोविड की इस महामारी में हमारे स्वास्थ्य पर घातक प्रभाव हो रहा है। हमारे शरीर को कोरोना वायरस की लहर से बचाने के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व लेना वास्तव में जरूरी हो गया है। 

रागी, जई और अमरंथ जैसे साबुत अनाज की सलाह दी जाती है

दिशानिर्देशों में लिखा गया कि “कोविड रोगियों के लिए मुख्य ध्यान उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना है जो मांसपेशियों, प्रतिरक्षा और ऊर्जा के स्तर के पुनर्निर्माण में मदद करेंगे। इसके लिए रागी, जई और अमरंथ जैसे साबुत अनाज की सलाह दी जाती है।”

साबुत अनाज उन सभी प्राकृतिक विटामिन और खनिजों को बरकरार रखता है जो इन कोरोनावायरस समय में आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाते हैं। यह बहुमुखी सुपरफूड अपने साथ कैल्शियम, ग्लूटेन-फ्री प्रोटीन, ढेर सारा फाइबर और बहुत सारे अमीनो एसिड की शक्तियां लाते है। यह सब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है। 

चिकन, मछली, अंडे, पनीर, सोया, नट और बीज की सिफारिश की जाती है

प्रोटीन के अच्छे स्रोत जैसे चिकन, मछली, अंडे, पनीर, सोया, नट और बीज के सेवन की सिफ़ारिश की जाती है।

मांसपेशियों के नुकसान के खिलाफ शरीर की रक्षा करने और मांसपेशियों और ऊतकों को हुए नुकसान को ठीक करने के लिए प्रोटीन का सेवन महत्वपूर्ण रहता है। प्रोटीन, प्रतिरक्षा प्रणाली और ऊर्जा को भी बढ़ाता है।  

स्वस्थ वसा भी लेना चाहिए

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड लिस्ट में अखरोट, जैतून का तेल और सरसों के तेल जैसे स्वस्थ वसा भी लेना चाहिए।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

वसा तीन आवश्यक मैक्रोन्यूट्रिएंट्स में से एक है जो शरीर को कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के साथ चाहिए। वसा का सेवन जब सही मात्रा में किया जाता है, तो वास्तव में आपके मस्तिष्क और प्रतिरक्षा स्वास्थ्य का समर्थन करता है।

रंगीन फल और सब्ज़ियाँ खाने का सुझाव

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड लिस्ट में पर्याप्त विटामिन और खनिज प्राप्त करने के लिए रंगीन फलों और सब्जियों की 5 सर्विंग लेने का भी सुझाव दिया गया है।  

फल और सब्ज़ी खा के अपने शरीर को पोश्तिक अहार दे उससे स्वास्थ्य रखना ज़रूरी है। क्यूँकि आज के समय में जहां लोग जंक फ़ूड का सेवन बहुत करते हैं, उससे कई बीमारियाँ जैसे कार्डियोवैस्कुलर या मेटाबॉलिक बीमारी पहले से ही कई लोगों में पाई जाती हैं जिससे प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया कमजोर हो जाती है, जिससे वायरल आक्रमणकारियों को एक शुरुआत मिलती है।

जब ऐसा होता है, तो शरीर अधिक तीव्र उतेजिक प्रतिक्रिया के साथ काम करता है, और वायरस के साथ स्वस्थ ऊतक क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

फल और सब्ज़ियों से हमें महत्वपूर्ण पोषक तत्व और विटामिन मिलते है। पोषक तत्व हमें ठीक से बढ़ने और स्वस्थ रहने में मदद करते हैं साथ ही प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में मदद करते हैं। 

कुपोषण से जुड़े विलंबित प्रतिक्रियाओं के विपरीत, विटामिन ए खसरा सहित कई संक्रामक रोगों से लड़ता है। विटामिन डी प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करता है और इसकी अधिकता को रोकने में मदद करता है। विटामिन सी, एक एंटीऑक्सीडेंट, मुक्त कणों से हमारी रक्षा करता है।

डार्क चॉकलेट भी इम्युनिटी बढ़ाने में लाभदायक हो सकती है

कहा जाता है कि कम से कम 70 प्रतिशत कोको के साथ डार्क चॉकलेट की छोटी मात्रा ने चिंता से छुटकारा पाने की सिफारिश भी करते हैं। इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड लेने के साथ स्ट्रेस को कण्ट्रोल करने की कोशिश करें।

फ्लेवनॉल्स चॉकलेट और कोको में पाए जाने वाले मुख्य प्रकार के फ्लेवोनोइड हैं। फ्लेवनॉल्स के एंटीऑक्सीडेंट गुणों के साथ अन्य संभावित प्रभाव होते हैं, जैसे रक्तचाप को कम करना, मस्तिष्क और हृदय में रक्त के प्रवाह में सुधार, और रक्त प्लेटलेट्स की क्लॉटिंग को कम सक्षम बनाना।

साथ ही डार्क चॉकलेट कोविड के दौरान महसूस हो रही ऐंज़ाइयटी पर भी काम कर उसे कम करेगा। 

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड लिस्ट में दिन में एक बार हल्दी दूध शामिल करें

अपने औषधीय लाभों और एडाप्टोजेनिक लाभों के कारण, बीमारियोज में हल्दी का उपयोग करने की एक लंबी विरासत रही है। हल्दी एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली सुनिश्चित करती है। हल्दी के प्रमुख सक्रिय घटक, ‘करक्यूमिन’ में कई जीवन-वर्धक गुण होते हैं और यह शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और विरोधी भड़काऊ गुणों से भरा होता है।

शारीरिक व्यायाम भी ज़रूरी

दिशानिर्देश बताते हैं कि नियमित शारीरिक गतिविधि जैसे योग और साँस लेने के व्यायाम (प्राणायाम) को सहिष्णुता के अनुसार किया जाना चाहिए।आप रोजाना सुबह या शाम की सैर के लिए भी जा सकते हैं लेकिन आरामदायक गति से।


कोविड रोगी के लिए अन्य बातों के अलावा दिशानिर्देशों यह सुझाव देता है कि चूंकि स्वाद, गंध, और निगलने में कठिनाई आमतौर पर अनुभव होती है, इसलिए भोजन में एक चुटकी अमचूर डालने के साथ-साथ छोटे अंतराल पर नरम भोजन करना महत्वपूर्ण है।

मूल चित्र: NDTVFood Via Youtube

टिप्पणी

About the Author

Mrigya Rai

A student with a passion for languages and writing. read more...

35 Posts | 274,596 Views
All Categories