कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

ये 6 बातें कोरोना काल में सकारात्मक सोच के साथ अपनानी ज़रूरी हैं

Posted: मई 12, 2021

कोरोना काल में सकारात्मक सोच और अपने अंदर आत्मविश्वास बनाए रखने की कोशिश करें। जो आपका ख्याल रख रहे हैं उन पर विश्वास करें। 

आजकल जब हर तरफ़ उदासीन और निराशा भरा वातावरण है, ऐसे में अपने विचारों पर संयम रखना, शांत रहना और जीवन के प्रति सकारात्मक रहना अति आवश्यक हो गया है ऐसा करने से, ना हम केवल स्वयं का अपितु अपनों का भी ध्यान रख पाएँगे। एक दूसरे को कोरोना युद्ध के प्रति तैयार कर सकेंगे। 

इस समय कुछ बातें है जिन्हें विशेष तौर पर हमें ध्यान में रखना चाहिए। कहते हैं किसी भी युद्ध में विजय प्राप्त करने के लिए हमें शस्त्र को ज़रूरत पड़ती है। 

सावधानी को अपना शस्त्र बनाएँ। जितना हो सके आप बाहर जाने से बचें। लोगों से सम्पर्क ना करें।अपने क़रीबियों का सुख दुःख जानने के लिए आजकल, इतनी अच्छी टेक्नॉलजी, मोबाइल फ़ोन का उपयोग करें जिससे कि आप अपनों का ध्यान भी रख पाएँगे और संक्रमण का ख़तरा भी नहीं रहेगा। 

कोरोना काल में सावधानी को अपना शस्त्र बनाएँ

जब भी बाहर निकलें तो मास्क का उपयोग अवश्य करें। किसी से बात करते समय दूरी अवश्य बनाएँ। ऐसा करने से ना केवल आप खुद को अपितु सामने वाले इंसान की भी सुरक्षा करते हैं। 

कहीं बाहर से आने पर अच्छे से हाथों को साफ़ करें। स्नान करें ओर वस्त्रों को गर्म पानी से धोएँ। 

कहते है किसी भी लड़ाई को जीतने के लिए जो सबसे अधिक आवश्यक होता है वो होता है, आत्मविश्वास। 

कोरोना होने पर घबराहट में ग़लत उपचार ना करें

ऐसा देखा जा रहा है की बहुत से लोग घबराहट में आकर ज़रूरत से ज़्यादा काढ़े का सेवन कर ले रहे है और उसकी वजह से भी उन्हें स्वास्थ्य सम्बंधी परेशानियाँ  हो रही हैं।

कोई भी सिम्प्टम होने पर एकदम से धैर्य न खोएं

कोई भी सिम्प्टम होने पर एकदम से धैर्य न खोएं। दूसरों से जितने मदद हो सके लें। अपने मस्तिष्क को शांत रखने की कोशिश करें और अपने आप को क्वारन्टीन करें। अगर आपको खुद को संभालना बहुत मुश्किल लग रहा है तो किसी काउंसलर की मदद लें। 

15 दिन के कोरोना कोर्स को पूरा करें। साफ़ सफ़ाई का ध्यान अवश्य रखें। अपने डॉक्टर के कहे अनुसार, प्राणायाम या हल्का-फुल्का योगा करें जिससे आप का मन भी शांत रहेगा और शरीर में रक्त संचार भी अच्छे से होगा जो आपके इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाएगा। 

कहना आसान है, लेकिन आत्मविश्वास बनाये रखने की कोशिश करते रहें

सबसे ज़रूरी बात तो सके तो खुश रहने की कोशिश करें। कहना आसान है, लेकिन कोशिश करें कि मन ठीक रहे। 

अपने अंदर आत्मविश्वास बनाये रखने की कोशिश करें। जो आपका ख्याल रख रहे हैं उन पर विश्वास करें।

कुछ रचनात्मक करें

किसी भी सिम्प्टम को इग्नोर ना करें

कोरोना के बारे में कहा जा रहा है कि शुरू के किसी भी सिम्प्टम को इग्नोर ना करें। हर छोटी सी छोटी चीज़ का ध्यान रखें। हर छोटे सिम्प्टम को ट्रीट करें – स्टीम, गारगल, गर्म खाना, ज़रूरत के अनुसार सही मात्रा में पानी पीना, और डॉक्टरी सलाह से कई लोग घर पर ही ठीक हो रहे हैं। 

कोरोना काल में सकारात्मक सोच और कोई भी ढिलाई नहीं 

कोरोना काल में सावधानी अपनाएं, जितना हो सके सकारात्मक जानकारी को पढ़ें , सुने और देखें। 

कोरोना भी एक लड़ाई है जिस तरह जब सेना लड़ाई पर जाती है तो वो दुश्मन की गोलियों से बचने का उपाय सोचती है और जीत हासिल करती है बिलकुल वैसे ही हमें अपने को सुरक्षित रखना है। 

कोरोना के आक्रमण से बचने के लिए सूझबूझ को अपनाना होगा। कोई भी ढिलाई नहीं। 

आशा करती हूँ कि इस मुश्किल के समय में मेरे ये विचार आपको जीवन के प्रति सकारात्मक नज़रिया देने में मदद करेंगे और आपके आत्मविश्वास को बढ़ाएँगे!

ये एक जंग है और हमें तैयार रहना है इसे जीतने के लिए! 

डिक्लेमर : इस लेख में दिए गए टिप्स को डॉक्टरी सलाह न समझें। ज़रुरत पढ़ने पर तुरंत अपने एक्सपर्ट डॉक्टर से संपर्क करें। 

मूल चित्र : Still from Eastern Condiments Ad, YouTube

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020