कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय जो आपको जानने ज़रूरी हैं

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय हर माता पिता को जानने ज़रूरी हैं। जब हमारे बच्चे स्वस्थ रहेंगे, तभी हमारा कल स्वस्थ रहेगा। 

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय हर माता पिता को जानने ज़रूरी हैं। जब हमारे बच्चे स्वस्थ रहेंगे, तभी हमारा कल स्वस्थ रहेगा। 

आज के दौर में तेजी से फैलते विश्वव्यापी कोरोना वायरस के बाद अगर किसी चीज के विषय में सबसे ज्यादा बात हो रही है, तो वो है इम्युनिटी बढ़ाने की। ये तो हम सब जानते है की किसी भी बीमारी से लड़ने के लिये इम्यून सिस्टम का मजबूत होना बहुत जरुरी है। इसलिए आज के इस महामारी के दौर में हर कोई अपनी इम्युनिटी मजबूत बनाना चाहता है।

डॉक्टर्स के मुताबिक कमजोर इम्युनिटी कोरोना वायरस के खतरे को बढ़ा देती है। अभी जब हम कोरोना के दूसरी लहर से जूझ ही रहे है, ऐसे में विशषज्ञों द्वारा तीसरी लहर की चेतावनी भी दे दी गई है। और जहां हमारे बच्चे भी इस महामारी से प्रभावित हो सकते हैं, ये ख़बर हर माता पिता को निश्चित रूप से डराने वाली है।

बड़ो के मुकाबले बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होती है इसलिए हर बदलते मौसम के साथ उनके बीमार होने का ख़तरा रहता है। बच्चे मनमर्जी के मालिक होते है, उनको पौष्टिक खाना खिलाना बेहद कठिन काम होता है। खाने पीने को ले कर आनाकानी के कारण बच्चों के शरीर में कई पौष्टिक तत्वों की कमी रह जाती है। जिसका असर उनकी इम्युनिटी पे होना लाजमी है।

आज के इस कठिन समय में अपने बच्चों की चिंता मेरी तरह ही कई माता पिता को है। अपने बच्चों की चिंता ने मुझे इस विषय में जानकारी लेने को प्रेरित किया और अपनी कुछ जानकारी आपके साथ सांझा करने के उद्देश्य से मैं ये लेख ले कर आज प्रस्तुत हूँ।

आइये मेरे साथ और जानिये क्या होती है इम्यूनिटी और कैसे बच्चों में इसे मजबूत बना उन्हें संक्रमण से बचाया जा सकता है।

क्या है इम्यूनिटी

इम्युनिटी या रोग प्रतिरोधक क्षमता को शरीर का सुरक्षा तंत्र भी कहा जाता है। आसान शब्दों में इम्यून सिस्टम को शरीर का गार्ड समझें जो शरीर में किसी भी तरह बैक्टीरिया या वायरस के दाखिल होते ही सक्रिय हो जाता है और शरीर को संक्रमण से बचाता है। यही कारण है की डॉक्टर्स के द्वारा इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ के सेवन की सलाह दी जाती है।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

बच्चों में इम्युनिटी कम होने के लक्षण

बच्चों में इम्युनिटी कम होने को इम्यूनोडेफिशिएंसी भी कहा जाता है। बच्चों का बार-बार बीमार होना, बुखार, दस्त लगना, जल्दी थकान होना, संक्रमण या बीमारी पूरी तरह ठीक ना होना, कान या त्वचा से जुड़ी समस्या का बार-बार होना, आदि, कुछ मुख्य कारण है जिससे बच्चों की कम इम्युनिटी को पहचाना जा सकता है।

बच्चों में इम्युनिटी कम होने के कारण

बच्चों में इम्युनिटी कम होने के मुख्य रूप से निम्लिखित कारण होते है :

  • समय से पहले जन्मे बच्चों की इम्युनिटी बहुत कम होती है।कमजोर होने के कारण वो संक्रमित भी जल्दी हो जाते है।
  • माँ का दूध बच्चों के लिये अमृत समान होता है। ना सिर्फ ये बच्चों का पेट भरता है, साथ ही उनके शरीर में इम्युनिटी को भी मजबूत बनाता है। माँ का दूध ना मिल पाने की स्तिथि में बच्चों की इम्युनिटी कम हो जाती है।
  • कुपोषण या शरीर में पोषण की कमी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता के कम होने का मुख्य कारण है।
  • माता पिता अक्सर बच्चों को भूख लगने पे जंक फूड या नूडल्स बना कर दे देते हैं, जो नुकसान दायक होती है। जंक फूड की अधिकता इम्युनिटी सिस्टम को कमजोर बनाती है।
  • जरुरी टीकाकरण का ना करवाना।
  • किसी-किसी मामले में देखा गया है की कमजोर इम्युनिटी सिस्टम बच्चे को वंशानुगत भी मिलते है।

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय

बच्चे हो या बड़े इम्युनिटी बढ़ाना एक दिन का काम नहीं है। कमजोर इम्युनिटी बढ़ाना मुश्किल तो है लेकिन नामुमकिन भी नहीं। उचित खान पान और कुछ ख़ास बातों को ध्यान में रख माता पिता अपने बच्चों की इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकते हैं। 

लेकिन इसके लिये जरुरी है कुछ बातों को ध्यान में रखा जाये जैसे :

  • जैसा की हम सब जानते है की पोषक तत्व की कमी से इम्यून सिस्टम कमजोर बनता है, इसलिए बच्चों को संतुलित और पौष्टिक भोजन की आदत बचपन से डालनी चाहिये। बाज़ार में मिलने वाले जंक फूड खाना बच्चों के लिये हानिकारक होता है।बच्चों को घर का बना गर्म ताज़ा खाना ही खिलना चाहिये।
  • बच्चों का टीकाकरण जरूर करवाना चाहिये.
  • बच्चों को बचपन से साफ सफाई से जुड़ी बातें बतानी चाहिये। जैसे बार बार हाथ धोना, बिना हाथ धोये खाना नहीं खाना। साफ सफाई से जुड़ी ये आदते बच्चों को सिर्फ कोरोना संक्रमण ही नहीं कई और रोगों से बचने में मददगार होगी।
  • बच्चे को रोज़ थोड़ी देर धूप में बैठने दें।
  • ठंडी चीज़ें और ठंडा पानी बिलकुल ना दे, पीने का पानी गुनगुना ही दें।
  • फल, सब्ज़ियाँ और जूस भरपूर मात्रा में खिलायें।
  • खट्टे फल इम्युनिटी बढ़ाते हैं, इसलिए खट्टे फलों का सेवन ज्यादा करवायें।
  • एक कप हल्दी वाला दूध कई तरह के बैक्टेरियल इन्फेक्शन से बच्चों की रक्षा करेगा।
  • फेफड़ा मजबूत करने वाले योगा और बैलून फुलाने वाले एक्सरसाइज अपनी निगरानी में रोज़ करवाये।
  • हो सके तो बच्चों को हर्बल चीज़ो जैसे शहद, आंवला, काली मिर्च, तुलसी, अदरक का सेवन करवायें।
  • बच्चों के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में नींद भी अहम् रोल निभाता है। माता पिता हमेशा इस बात का ध्यान रखे की उनके बच्चे पूरी नींद ले। अच्छी नींद और आराम बच्चों के स्वस्थ्य के लिये फायदेमंद होता है।
  • बच्चों को फिजिकली एक्टिव रखना चाहिये। बच्चे जितना खेल के मैदान में भाग दौड़ करेंगे पसीना बहायेंगे, उतनी ही मजबूत उनकी इम्युनिटी होगी। आज के समय में जब बाहर जाना बंद है कोशिश करे की बच्चे मोबाइल पे वीडियो गेम्स खेलने के बजाय घर में ही बालकनी या छत पे कोई खेल खेले।

बच्चों में इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद प्रदार्थ

मौसमी फल, ड्राई फ्रूट्स और सब्ज़ियों का सेवन निश्चित रूप से इम्युनिटी बढ़ाने का काम करता है। संतरा, पपीता, तरबूज, अनार, अन्नानास, केला, पालक, गाजर, गोभी टमाटर जैसे फल और सब्ज़ियों के साथ सेवन से बच्चों की इम्युनिटी मजबूत बनती है।

बच्चों को जो भी खाने को दे घर का बना ताज़ा और गर्म खाना ही दे। बासी और ठंडी चीज़ें जैसा आइसक्रीम, कोल्ड्रिंक्स और डब्बा बंद खाना कुछ समय के लिये बिलकुल बंद कर दे।

बच्चों को समझायें, डराये नहीं

माता पिता के रूप में ये जिम्मेदारी हमें बिना डरे और बेहद समझदारी से करनी होगी। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना होगा की हम बच्चों को कोरोना वायरस के बारे में सावधानी से समझायें ना कि उन्हें डराये। बच्चे हम सब के लिये बेहद कीमती हैं तो आइये बिना डरे पूरी तैयारी और पूर्ण विश्वास के साथ अपने बच्चों की मुस्कान और सेहत की रक्षा करें बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय के साथ। 

इन सबके बाद भी अगर कोई परेशानी हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। माता पिता के तौर पे चिंता होना सामान्य है लेकिन विश्वास रखे ये कठिन समय भी बीत जायेगा और हमारे मासूम बच्चों की निश्छल मुस्कान भी बनी रखेगी बस जरुरत है पक्के हौसले, मजबूत इच्छाशक्ति और पक्की तैयारी की।

मूल चित्र: MTR Breakfast Mixes Ad, Youtube 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

167 Posts | 3,787,422 Views
All Categories