कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

ताने सुनने के बावजूद, सबसे छोटे कद की वकील बनीं हरविंदर कौर उर्फ़ रूबी

'हौंसले बुलंद थे इसलिए हालात पर भारी पड़े', कहती हैं भारत की सबसे छोटे कद की वकील हरविंदर कौर उर्फ़ रूबी और उनकी इस बात से हम सहमत हैं। 

Tags:

‘हौंसले बुलंद थे इसलिए हालात पर भारी पड़े’, कहती हैं भारत की सबसे छोटे कद की वकील हरविंदर कौर उर्फ़ रूबी और उनकी इस बात से हम सहमत हैं। 

सफलता लोगों की कद-काठी देखकर नहीं आती है बल्कि मेहनत से आती है। अमूमन देखा जाता है कि लड़कियों की कम लंबाई पर लोग ताने कसते हैं, जिस कारण एक सुंदर लड़की के मापदंड पर खड़ी नहीं होने के कारण कई लड़कियां डिप्रेशन में भी चली जाती हैं।

सामाजिक ताना-बाना ही कुछ ऐसा बुना हुआ है कि लड़कियों की कम लंबाई को लोग लड़कियों की कमज़ोरी से जोड़ देते हैं। हालांकि अब लड़कियां दकियानूसी सोच को पीछे छोड़ते हुए आगे बढ़ रही हैं।

ऐसे भी हौसले अगर बुलंद हो, तब मंज़िल भी कदम झुकाती है और सफलता लोगों की कद-काठी देखकर नहीं आती है बल्कि मेहनत से आती है। इस कथन को सच कर दिखाया है रामामंडी की रहने वाली 24 साल की हरविंदर कौर ऊर्फ रुबी ने।

हरविंदर की लंबाई मात्र 3 फुट 11 इंच है। अपने छोटे कद के लिए उन्होंने भी खूब ताने सुने थे मगर उनसे लड़कर हरविंदर ने उठना स्वीकार किया और भारत की सबसे छोटे कद की वकील बन गईं।

एयर होस्टेस के सपने को छोड़ा

हरविंदर कौर उर्फ़ रूबी का सपना एयर होस्टेस बनने का था मगर कम लंबाई उनके सपने में बाधा बन रही थी। उनहोंने अपनी लंबाई को नोर्मल करने के लिए डॉक्टर का सहारा लिया मगर धीरे-धीरे उन्हें पता चला कि उनकी असल लंबाई ही असली है, जिसे अब बदला नहीं जा सकता। उसके बाद हरविंदर ने एयर होस्टेस बनने का सपना छोड़ दिया और अपनी पढ़ाई पर फोकस करने का फैसला किया। संघर्ष यही नहीं रुका बल्कि लोगों का मज़ाक उड़ाना चलता रहा।

खुद को किया मज़बूत

12वीं के एग्ज़ाम होने के बाद वह अधिकतर समय घर पर बितातीं और मोटीवेशनल वीडियो देखा करतीं। कभी-कभी मन में आत्महत्या के ख्याल भी आती मगर कॉलेज जाने के बाद उनकी ज़िंदगी में बदलाव हुए।

उन्होंने 12वीं के बाद लॉ की तैयारी करने का मन बनाया ताकि खुद की पहचान बन सके। कड़ी मेहनत और हिम्मत के बल पर उन्होंने लॉ की परीक्षा को पास कर लिया और वकील बन गईं।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

कॉलेज आने के बाद उनका नज़रिया बदला और उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों से संवाद बढ़ाए, तब उन्हें एहसास हुआ कि स्वयं से प्यार करना बहुत जरुरी है। हालांकि सोशल मीडिया पर अच्छे-बुरे कमेंट आते हैं, मगर अच्छे कमेंट हमेशा हिम्मत बढ़ाते हैं।

हरविंदर अपनी पहचान से बहुत खुश हैं। वह बताती हैं कि लोग उन्हें बच्ची की तरह ट्रीट करते हैं और बहुत प्यार देते हैं। आगे हरविंदर का सपना जज बनने का है, जिसके लिए उनके कदम मंज़िल को पाने के लिए बढ़ रहे हैं।

हौसले अपने शबाब पर हो, तब सफलता कदम जरुर चूमती है इसलिए अपनी कमियों को नज़रअंदाज करके और लोगों के तानों को सुनने के बाद उन्हें हमेशा गलत साबित करने का मज़ा ही अनोखा होता है।

सबसे छोटे कद की वकील हरविंदर कौर उर्फ़ रूबी को हमारा सलाम!

ऑथर सौम्या ज्योत्सना के अन्य लेख पढ़ें यहां और ऐसे ही अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें  

मूल चित्र : Harwinder Kaur, Instagram

टिप्पणी

About the Author

62 Posts | 228,585 Views
All Categories