कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

सोशल मीडिया पर प्यार, ना बाबा ना…

भावनाओं के समंदर में बहकर अपनी न्यूड तस्वीरें या न्यूड वीडियो कॉल ना करें, जिससे आपके स्क्रीनशॉट की नुमाइश होने लगे।

भावनाओं के समंदर में बहकर अपनी न्यूड तस्वीरें या न्यूड वीडियो कॉल ना करें, जिससे आपके स्क्रीनशॉट की नुमाइश होने लगे।

आजकल सोशल मीडिया हम सभी के टाइम पास का एक बेहतर साधन बन गया है। हालांकि अब लोग सोशल मीडिया द्वारा कमाई भी कर रहे हैं, जिसे सोशल मीडिया का स्मार्ट वर्क कहा जा सकता है।

हालांकि हकीकत यह है कि आज भी सोशल मीडिया का उपयोग लोगों को तंग करने और उन्हें फंसाने के लिए हो रहा है। आये दिन ऐसी खबरें सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं, जिनमें लड़कियों को फंसाया जाता है- कभी प्रेम के जाल में, तो कभी शादी के जाल में। दु:ख की बात यह है कि लड़कियां आज भी फेसबुक पर प्रेमजाल में फंस जाती हैं, और अपनी जिंदगी बर्बाद कर लेती हैं।

हाल ही में व्हाटसएप का मामला ताज़ा रहा है क्योंकि प्राइवेसी की बात पर सभी की भौंहें तन गई थीं, मगर असलियत यह है कि अधिकांश लोगों ने बिना टर्म्स एंड कंडीशन पढ़े, नियमों को एक्सेप्ट कर लिया था। जब बात आगे बढ़ी, तब उन्हें पता चला कि उन्होंने कितनी बड़ी ग़लती कर दी है।

भावनाओं का बनता है व्यापार

अधिकांश मामलों में यही होता है। सोशल मीडिया पर लोग एक दूसरे से बात करते हैं, ताकि अपनी तन्हाई बांट सकें मगर भावनाओं का व्यापार हो जाता है। फेसबुक पर शेयर होने वाले पोस्ट और फ्रेंड लिस्ट में शामिल लोगों द्वारा फेसबुक आपके टेस्ट को पहचानना शुरू करता है ताकि आप वही देख सकें, जो आप देखना चाहते हैं। ऐसे ही धीरे-धीरे सोशल मीडिया और बिताने वाला समय बढ़ते चला जाता है।

कुछ समय बाद पोस्ट को देखकर लड़के-लड़कियों को मैसेज करना शुरू कर देते हैं। जैसे, ‘अकेली हो?’ ‘कोई दोस्त नहीं है?’ इसमें ऐसे मैसेजेस शामिल होते हैं, जिसमें लड़कियां भावनात्मक रूप से बहने लगती हैं और लड़कों की मंशा पूरी हो जाती है। धीरे-धीरे वीडियो कॉल और फोन कॉल का सिलसिला शुरू हो जाता है। टेक्नोलॉजी जहां, एक ओर वरदान साबित होती है, वहीं स्क्रीन शॉट से बर्बादी का कलंक। लड़के-लड़कियों की न्यूड तस्वीरें निकाल लेते हैं, उसके बाद लड़कियों को ब्लैकमेल करने लगते हैं।

शादी, प्यार-व्यार का वादा झांसा बन जाता है और सोशल मीडिया लड़की के गले की फांसी।

आपके सर्च का व्यापार

जब हम कोई चीज़ अमेज़न या कहीं भी सर्च करते हैं, तब उसी चीज़ या उससे मिलती-जुलती चीज़ हम फेसबुक पर एड में देखते हैं। यहां तक कि हमारी पोस्ट के जरिए ही फेसबुक यह अंदाज़ा लगा लेता है कि इंसान के विचार कैसे हैं, तभी वह फेसबुक में पाए जाने वाले गेम्स में आपकी पर्सनेलिटी बताने लगता है।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

सभी जगह एक ही तरह की चीजें दिखनी लगती है, यह सब एल्गोरिथम और पर्सनल लाइफ पर नज़र रखने का नतीजा है।

ना पड़ें फेसबुकिया प्यार में

लड़कियों को ऑनलाइन प्यार और फेसबुक के चक्कर में कतई नहीं पड़ना चाहिए क्योंकि फेक और विर्च्यूल दुनिया में लोग केवल फायदा उठाएंगे।

ऐसे कई केस हैं 

भोपाल में ही एक लड़की, रोहिणी को प्यार का झांसा देकर एक लड़के ने फंसा लिया था। अपनी प्रोफाइल पर लड़के, अजय गलार ने अपने एक रिश्तेदार सौरभ मेहता की तस्वीर लगा दी थी और कहा था कि मैं डॉक्टर हूं, जबकि वह लड़का एक इंजीनियर था। लड़की लड़के के झांसे में फंस गई और लड़के ने उससे 30 लाख रुपए ठग लिए। हालांकि पुलिस छानबीन और लड़की की सूझबूझ से वह पकड़ा गया, मगर यही सूझबूझ सोशल मीडिया इस्तेमाल करते हुए भी रखनी चाहिए।

ऐसे कई केस आते हैं, मगर बुद्धिमानी इसी में है कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल सतर्कता से किया जाए।

प्यार का महीना चल रहा है, मगर इसे अपनी बर्बादी का महीना ना बनने दें। किसी भी ऐसे इंसान से मिलने से पहले हज़ार बार सोच लें, जिसे आप जानती नहीं हैं और फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई है। यह भी ध्यान रखें कि भावनाओं के समंदर में बहकर न्यूड तस्वीरें या न्यूड वीडियो कॉल ना करें, जिससे आपके स्क्रीनशॉट की नुमाइश होने लगे।

सावधानी रखें, क्योंकि सोशल मीडिया का इस्तेमाल स्मार्ट वर्क में होना चाहिए ना कि किसी के जाल में फंसने में।

मूल चित्र : Martin Dimitrov from Getty Images Signature via Canva Pro 

टिप्पणी

About the Author

62 Posts | 228,654 Views
All Categories