कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

सबसे अच्छा च्यवनप्राश अब बनेगा आपके घर पर इस रेसिपी से

च्यवनप्राश में मौजूदा आयुर्वेदिक गुण के बारे में तो हम सभी जानते हैं पर इस बार सबसे अच्छा च्यवनप्राश बनेगा आपके घर में इस रेसिपी से...

च्यवनप्राश में मौजूदा आयुर्वेदिक गुण के बारे में तो हम सभी जानते हैं पर इस बार सबसे अच्छा च्यवनप्राश बनेगा आपके घर में इस रेसिपी से…

च्यवनप्राश तो हम सभी ने बचपन में बहुत खाया होगा और आज भी घर में बुजुर्ग अपने दिन की शुरुआत च्यवनप्राश से करते है। घर में किसी भी उम्र का इंसान हो ठंड में बिना च्यवनप्राश खाये घर से नही निकलता हैं।

च्यवनप्राश में मौजूदा आयुर्वेदिक गुण से शरीर को कई तरह के फायदे होता है। इसे अपने दिनर्चया में लाने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता हैं साथ ही यह आपकी इंम्यूनिटी को बढ़ाता है।

यह सभी बातें तो हम सभी को पता है लेकिन आज के इस समय में जहां कदम-कदम पर नकली चीज़ें मिलती हैं वहाँ अच्छा एंव पूर्ण रुप से आयुर्वेदिक च्यवनप्राश मिलना मुश्किल है।

इसीलिए आज हम आपको च्यवनप्राश को घर में बनाने की तरीका बतायेगे। जिससे आप हर सर्दी में अपने परिवार के लिए बना सकती हैं।

सबसे अच्छा च्यवनप्राश बनेगा आपके घर पर 

आप इससे अपने परिवार के सदस्यों के अनुसार बना सकते हैं। जैसे किसी भी घर में चार से पांच सदस्य मौजूद रहते हैं, इनमें बुजुर्ग से लेकर छोटे बच्चों तक सभी शामिल रहते हैं। इस रेसिपी का इस्तेमाल आप कभी भी कर सकती हैं।

कितना वक्त

समय- 1.5 से 2 घंटे तक

सामग्री-

  • 50 ग्राम बिदरीकंद
  • 1 किलो आंवला
  • 50 ग्राम सफेद चंदन
  • 50 ग्राम मुलेठी घी 250 ग्राम
  • 50 ग्राम वसाका
  • 50 ग्राम शतावरी
  • 50 ग्राम ब्राह्मी
  • 50 ग्राम बिल्व
  • 50 ग्राम अकरकरा
  • 50 ग्राम छोटी हर्रा (हरड़)
  • 50 ग्राम पुश्करमूल
  • 50 ग्राम कमल केसर
  • 50 ग्राम जटामानसी
  • 50 ग्राम गोखरू
  • 50 ग्राम बेल
  • 50 ग्राम नागरमोथा
  • 50 ग्राम लौंग
  • 50 ग्राम काकडसिंघी
  • 50 ग्राम दशमूल
  • 50 ग्राम जीवन्ती
  • 50 ग्राम कचूर
  • 50 ग्राम पुनर्नवा
  • 50 ग्राम अंजीर
  • 50 ग्राम अश्वगंधा
  • 50 ग्राम गिलोय
  • 50 ग्राम सोंठ
  • 50 ग्राम तुलसी के पत्ते
  • 50 ग्राम मीठा नीम
  • 50 ग्राम दालचीनी
  • 50 ग्राम मुनक्का
  • 250 ग्राम तिल का तेल
  • 3 किलो चीनी
  • 100 ग्राम पिप्पली
  • 150 ग्राम बंशलोचन
  • 20 ग्राम तेजपत्र
  • 20 ग्राम नागकेशर
  • 2 ग्राम केसर
  • 20 ग्राम छोटी इलायची
  • 250 ग्राम शहद

विधि-

  • घर में च्यवनप्राश बनाने के लिए सबसे पहले तेज आंच पर एक बड़े भगोने में पानी रख दें। इसमें सारी जुड़ी बूटियां और बंधे हुए आंवले को पोटली में बांधकर उबलने के लिए रख दें।
  • उबाल आने के बाद आंच को धीमा कर दें और आंवलों के नरम होने कर उबलने दें।
  • आंवले नरम होने पर गैस बंद कर दें और आंवले और जड़ी बूटियों को रातभर भगोने में ढककर रख दें।
  • अगले दिन आंवलों का कलर बदल जाएगा तो घबराइए नहीं। इनकी गुठलियां निकाल कर अलग कर लें। जड़ी बूटियों को छान कर इसका पानी स्टोर कर लें।
  • अब ग्राइंडर में आंवला और जड़ी बूटियों को पानी डालकर पेस्ट बनाएं और इसको छान लें।
  • मीडियम आंच पर लोहे की कड़ाही में तिल का तेल डालकर गर्म कर लें। इसमें स्टील की कड़ाही का इस्तेमाल न करें।
  • तेल के गर्म होते ही कढ़ाही में घी डालकर गर्म करने के लिए रख दें। अब आंवले का पेस्ट डालकर चलाते हुए पका लें।
  • इसमें उबाल आने पर चीनी डालें और चलाते हुए गाढ़ा होने तक पका लें।
  • मिश्रण के गाढ़ा होने पर गैस बंद कर दें और 4-5 घंटों के लिए इसे ढककर रखे दें। अब ग्रांइडर में छोटी इलायची छीलकर, पिप्पली, बंशलोचन, दालचीनी,तेजपत्र, नागकेशर को पीस लें।
  • इस पाउडर को शहद और केसर में मिलाकर आंवले के मिश्रण में मिला दें।

तैयार च्यवनप्राश को कांच या प्लास्टिक के बॉक्स में भरकर रख दें। तो तैयार है आपके घर में बना सबसे अच्छा च्यवनप्राश इस रेसिपी के साथ।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

आप इससे और बेहतर तरीके से समझने के लिए  शेफ निशा मधुलिका का वीडियो भी देख सकते हैं-

मूल चित्र : Canva Pro 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

14 Posts | 44,608 Views
All Categories