कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

कंगना रनौत की भाषा इतनी ख़राब है कि उनकी हर बात मुझे गलत लगती है

Posted: फ़रवरी 4, 2021

कंगना, कंगना, कंगना क्या कहें हम आपको! डर लगता है कुछ कह देंगे तो आप भड़क जाएंगी। ऐसा पहली बार नहीं जब कंगना रनौत ख़बरों में हैं…

कंगना, कंगना, कंगना क्या कहें हम आपको। डर लगता है कुछ कह देंगे तो आप भड़क जाएंगी। ऐसा पहली बार नहीं जब कंगना रनौत ख़बरों में हैं ये तो उनका डेली रूटीन है कि सोशल मीडिया पर आए दिन उनका कोई ना कोई ट्वीट ऐसा होता ही है जिसपर न्यूज़ बन ही जाती है। कंगना किसी को नहीं छोड़तीं। लेकिन मुझे उनकी बातों से ज्यादा उनकी भाषा से तकलीफ़ है। चलिए भले ही हम मान लें कि वो किसी पार्टी विशेष के पक्ष में बात करती भी हैं, लेकिन जिन शब्दों का वो इस्तेमाल करती हैं, उसकी वजह से, अगर कोई सही बात भी है, तो वो भी गलत ही लगती है।

सबसे पहले अभी हाल ही की बात करते हैं। पॉप स्टार रिहाना ने जब किसान आंदोलन को लेकर एक ट्वीट करते हुए लिखा, “हम इस पर बात क्यों नहीं कर रहे?” तो कंगना रनौत ने उन्हें जवाब में लिखा “कोई भी बात इसलिए नहीं कर रहा क्योंकि ये किसान नहीं आतंकवादी हैं। चुप रहो मूर्ख, हम तुम बेवकूफों जैसे अपने देश को नहीं बेच रहे हैं।”

इसके बाद कंगना जी ने एक के बाद एक ट्वीट्स की झड़ी दी। उन्होंने रिहाना को ‘लेफ्ट विंग रोल मॉडल’ और ‘लिब्रू रोल मॉडल’ जैसे नाम दे दिए। इन ट्वीट की भाषा आप ख़ुद ही देख लीजिए।

हालांकि इसके बाद कंगना दीदी के चाहने वालों ने उनकी ही कुछ तस्वीरें करके उन्हें जवाब भी दे दिया। बात सिर्फ ये थी कि जैसे कंगना एक प्रोफेशनल एक्टर हैं वैसे ही रिहाना एक प्रोफेशनल सिंगर हैं और अपने-अपने प्रोफेशन की डिमांड के मुताबिक ये लोग काम करते हैं। लेकिन आप मुद्दे से उतर ऐसे लो ग्रेड ट्वीट करके क्या साबित करना चाहती हैं? जिन लोगों को आपकी बात समझनी थी वो समझ गए थे।

अब बात तापसी पन्नू Vs कंगना की

तापसी पन्नू ने गणतंत्र दिवस के दिन ही आंदोलन के दौरान हुई हिंसा पर बेबाकी से अपनी बात रखी थी। रिहाना के ट्वीट के बाद अचानक से सरकार समर्थक सेलिब्रिटीज की फौज ने ट्वीट्स करने शुरू कर दिए जिसके बाद तापसी ने लिखा, “अगर एक ट्वीट से आपकी एकता को धक्का लगता है, अगर एक चुटकुले से आपके विश्वास या एक शो से आपकी धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचती है तो आप ही हैं जिसे अपने वैल्यू सिस्टम को मजबूत बनाना है न कि दूसरों के लिए ‘प्रोपेगैंडा टीचर’ बन जाएं।”

तापसी के इस ट्वीट जवाब में हमारी ‘क्वीन’ ने बहुत अच्छे शब्दों में कुछ यूं लिखा ‘बी ग्रेड लोगों की ब्री ग्रेड सोच’!

दिलजीत दोसांझ और कंगना के ट्वीट वॉर

दिलजीत दोसांझ और कंगना के ट्वीट वॉर के बारे में तो आपने पहले भी सुना ही होगा लेकिन अभी फिर से ये शुरू हुआ है। कंगना दिलजीत के लिए लिखती हैं, ‘देश सिर्फ भारतीयों का है, खालिस्तानी का नहीं, बोल तू खालिस्तानी नहीं है। अगर तू ऐसा कहेगा तो मैं मान लूँगी कि तू सच्चा देशभक्त है।”

कंगना मेरी पसंदीदा कलाकारों में से एक हैं लेकिन उनकी ऐसी भाषा पढ़कर मुझे लगता है कि उन्हें क्या ही हो गया है

सिर्फ कंगना ही नहीं किसी भी नेता, सेलिब्रिटी या स्टार की भाषा ऐसी नहीं होनी चाहिए। अपनी बात को सही साबित करने के लिए दूसरों के साथ जब आप अभद्र भाषा में बात करेंगे तो आप खुद ही ग़लत बन जाएंगे। कंगना की भाषा गली के किसी गुंडे जैसी लगती है कि तू पागल है, बेवकूफ है, बी ग्रेड की लडकी। ऐसा कोई उन्हें बोले तो कैसा लगेगा?

“नफरत हो जाएगी तुझे, अपने ही किरदार से,

अगर मैं तेरे ही अंदाज में, तुझसे बात करूं”।

नोट : हो सकता है कंगना के कुछ ट्वीट्स आप ना भी देख पाएं क्योंकि ट्विटर ने अभद्र भाषा के नियमों का उल्लंघन करने की वजह से उन्हें डिलीट कर दिया है। अपने बयान में ट्विटर ने लिखा है “हमने उन ट्वीट्स पर कार्रवाई की है, जो हमारे भाषा के नियमों का उल्लंघन कर रहे थे।” हां, उनके पुराने ट्विट्स के स्क्रीनशॉट्स आपको हर जगह फिर भी मिल ही जाएंगे। बस बात इतनी सी है कि ट्विटर से पहले अगर कंगना को खुद से बात समझ में आती तो उनकी बात शायद ज्यादा सुनी जाती।

मूल चित्र : Kangana Ranaut Instagram

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020