कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

किस्मत वाले होते हैं वो जिन्हें मिलती हैं उम्र की ये हसीन निशानियां!

Posted: जून 7, 2020

ज़रा सोच कर देखें, उम्र की ये निशानियां किस्मत वालों को ही मिलती हैं वरना यूं न जाने कितने ही लोग इस उम्र तक पहुंच ही नहीं पाते। 

उम्र जब एक लंबा सफर तय कर अपने आखिरी पड़ाव का ओर अग्रसर होती है तो अपने साथ कई अनमोल तोहफे भी लाती है। वह जहां केशों को चमचमाती, झिलमिलाती चांदनी से रौशन कर देती है वहीं अनुभव, विश्वास और वातसल्य की निशानियों के रूप में हमारे चेहरे को भी अनगिनत रेखाओं से नवाज़ देती है।

बढ़ती उम्र के इन तोहफों को सहर्ष स्वीकार कर लें

यह सब एक बेहद खूबसूरत अनुभव होना चाहिए लेकिन इसके विपरीत न जाने क्यों उम्र द्वारा नवाज़े गए इन उपहारों को हम दुनिया की नजरों से छिपाने की भरसक कोशिश करने लगते हैं। मेरा मानना है कि यदि बढ़ती उम्र के इन तोहफों को सहर्ष स्वीकार कर लें तो आगे का सफर एकदम तनावमुक्त हो जाएगा।

स्वयं को आइने में निहारते हुए मुस्कुराइए

40+ की उम्र एक अलग तरह की खूबसूरती लेकर आती है उसका भरपूर आनंद लीजिए! अपनी आंतरिक सुंदरता का मूल्य पहचानिए। स्वयं को आइने में निहारते हुए मुस्कुराइए! बच्चों संग उन्हीं की तरह खिलखिलाइए। न जाने क्यों जब किसी उम्रदराज महिला की झुर्रियां को मेकअप के पीछे छिपे हुए देखती हूं, तो लगता है कि जैसे एक खूबसूरत चेहरे पर मुखौटा लग गया है।

ये निशानियां किस्मत वालों को ही मिलती हैं

कितनी औरतों के साथ ऐसा होता है। काश! वे अपने वास्तविक चेहरे की खूबसूरती आँक पातीं और उसे मेकअप की परतों के पीछे छिपाने की प्रयास न करतीं। याद रखिए ये सब कुदरती होता है जब उम्र बढ़ने पर त्वचा से लेकर बालों तक मे बदलाव आता है। उम्र की ये निशानियां किस्मत वालों को ही मिलती हैं वरना यूं न जाने कितने ही लोग इस उम्र तक पहुंच ही नहीं पाते। खुशकिस्मत हैं वे जो इस उम्र के जीते हैं।

उम्र की इन निशानियों को गर्व से स्वीकार कीजिए

अरे! हमारा तो जन्म की मरने के लिये हुआ हैं, तो कभी ना कभी तो मरना ही है। अभी तक बाज़ार में अमृत बिकना शुरू नही हुआ। तो बस, उम्र की इन निशानियों को गर्व से स्वीकार कीजिए और जीवन के इस पड़ाव को एक त्यौहार की तरह मनाइए। यही सच्चा आनंद है।

वाकई खूबसूरत हैं वे लोग जो उम्र की इन निशानियों को सहर्ष स्वीकार कर गर्व से जीते हैं।

मूल चित्र : Canva 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

महिलाओं का मानसिक स्वास्थ्य - महत्त्वपूर्ण जानकारी आपके लिए

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020