कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

राधिका आप्टे – वो हीरोइन जिसे किसी हीरो की ज़रूरत नहीं

Posted: जून 18, 2020

जल्द ही रिलीज़ होने वाली हॉलीवुड फिल्म लिबरेट :अ कॉल टू स्पाई में राधिका आप्टे, नूर इनायत खान नाम की महिला जासूस का किरदार निभाती नजर आएंगी।

कुछ साल पहले तक राधिका आप्टे का नाम बॉलीवुड का ऐसा नाम था जो फिल्मों में नज़र तो आता था लेकिन उनकी अभिनय प्रतिभा के मुताबिक ना तो उन्हें रोल मिलते थे और ना ही सराहना। लेकिन जब नेटफ्लिक्स पर अभिनेत्री राधिका आप्टे की एक के बाद एक सीरीज़ आई तो उन्हें ओमनीप्रेज़ेंट राधिका आप्टे कहा गया। ओमनीप्रेज़ेंट यानि जो एक समय में हर जगह हो।

राधिका अब बॉलीवुड के बड़े-बड़े नामों को पछाड़ कर बहुत आगे निकल गई हैं। ऐमी अवॉर्ड नॉमिनी राधिका आप्टे अपनी बेमिसाल एक्टिंग प्रतिभा से इंटरनेशनल फिल्मों में भी कदम रख चुकी हैं।

राधिका आप्टे की हॉलीवुड फिल्म लिबरेट :अ कॉल टू स्पाई को लेकर अनाउंसमेंट हुई है

अभी हाल में ही उनकी हॉलीवुड फिल्म लिबरेट :अ कॉल टू स्पाई को लेकर अनाउंसमेंट हुई है जिसे राधिका ने सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए अपनी ख़ुशी ज़ाहिर की है। ख़बर ये है कि IFC फिल्म्स ने इस फिल्म के नॉर्थ अमेरिकन राइट्स खरीद लिए हैं। अब यह फिल्म सितंबर महीने में रिलीज़ हो सकती है।

ऑस्कर नॉमिनेटेड डॉक्यूमेंट्री प्रोड्यूसर लीडिया डीन पिल्चर के डायरेक्शन में बनी राधिका आप्टे की अ कॉल टू स्पाई वर्ल्ड वॉर द्वितीय की माहिर महिला जासूसों पर बनाई गई है। इस फिल्म में राधिका, नूर इनायत खान नाम की महिला जासूस का किरदार निभाती नजर आएंगी।  सच्ची घटनाओं पर आधारित यह फिल्म 75 साल पहले द्वितीय विश्व युद्ध के बैकग्राउंड पर सेट की गई है।

राधिका आप्टे अ कॉल टू स्पाई में अपने किरदार के बारे में कहती हैं

राधिका आप्टे ने अ कॉल टू स्पाई  में अपने किरदार के बारे में बताया कि वह इसमें एक ब्रिटिश महिला जासूस का किरदार निभा रही है जो एक शांतिवादी महिला है लेकिन युद्ध के मुश्किल हालातों में फंसी हुई है। नूर ब्रिटेन में जन्मी और रूस में रहने वाली ऐसी महिला थीं जिनकी मां एक अमेरिकन महिला और पिता एक भारतीय मुस्लिम थे। दूसरे विश्व युद्ध के समय नूर ब्रिटिश प्राइम मिनिस्टर विंस्टन चर्चिल के एक खुफिया दस्ते की सदस्य थीं और उन्हें फ्रांस में जासूसी करने के लिए भेजा गया था। वहां उन्हें पकड़ लिया गया था लेकिन उन्होंने खुफिया जानकारी नहीं दी थी। अंत में कैद में ही नूर की मौत हो गई थी और मरने से पहले उनका आखिरी शब्द ‘लिबरेट’ था।

डेब्यू से लेकर अब तक राधिका आप्टे का सफर

राधिका आप्टे ने 2005 में फिल्म ‘वाह, लाइफ हो तो ऐसी’ में एक छोटे से किरदार से अपना फिल्मी करियर शुरू किया था। लेकिन उसके 10 साल बाद 2015 में जब उनकी तीन फिल्में बदलापुर, हंटर और मांझी आई, तब उनका करियर ग्राफ बॉलीवुड में अचानक बढ़ गया।

बदलापुर में किया उनका बोल्ड सीन चर्चा का विषय बना लेकिन उन्होंने अपनी इमेज सिर्फ बोल्ड किरदारों तक सीमित ना रखते हुए अपनी एक्टिंग के असली टैलेंट को दर्शकों के बीच दर्ज कराया। 2016 में उनकी फिल्म फोबिया और पार्च्ड ने उन्हें वो जगह दे दी जिसे फिल्मी डिक्शनरी में हम स्टार नहीं कलाकार कहते हैं।

राधिका आप्टे किसी भी रोल में काम नहीं, कमाल करती हैं

राधिका आप्टे ऐसी कलाकार हैं, जो किसी भी रोल में काम नहीं, कमाल करते हैं। उनकी तुलना स्मिता पाटिल, शबाना आज़मी, दीप्ति नवल जैसी लीक से हटकर काम करने वाली अभिनेत्रियों से की जाने लगी। माने वो हीरोइन जिसे किसी हीरो की ज़रूरत नहीं।

राधिका के हाथ में अब एक से बढ़कर एक प्रोजेक्ट थे। राधिका ने ख़ुद को कभी बड़े पर्दे तक ही बांध कर नहीं रखा। वो मानती हैं कि कलाकार थिएटर की स्टेज पर हो, टीवी शो में हो या फिल्म में, उसका काम किरदार को निभाना है और अच्छा काम दर्शकों की वाहवाही बटोर ही लेता है। साल 2018 में उनकी पहली हॉलीवुड आई थी दे वेडिंग गेस्ट जिसमें उनके साथ देव पटेल ने काम किया था।

राधिका की कामयाबी का एक बहुत बड़ा हिस्सा नेटफ्लिक्स प्लेटफॉर्म पर उनकी तीन वेबसीरीज़ को जाता है, लस्ट स्टोरीज़, सेक्रेड गेम्स और  घाउललस्ट स्टोरीज़ के लिए राधिका आप्टे को इंटरनेशनल एमी अवॉर्ड में बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नॉमिनेट भी किया गया था जिसने उन्हें इंटरनेशनल स्टार बना दिया।

राधिका हिंदी सिनेमा के अलावा मराठी, बंगाली, तमिल, तेलगु, मलयालम में  भी काम कर चुकी हैं। ऑलराउंडर राधिका की एक शॉर्ट फिल्म है‘अहल्या’ जिसे आपको बिलकुल मिस नहीं करना चाहिए।

मुश्किलें थीं पर पार कर गयीं

राधिका जब पुणे में थिएटर कर रही थीं तो फिल्मों में काम करने की इच्छा लेकर मुंबई चली गईं लेकिन मुंबई में उनके अनुभव कुछ खास नहीं रहे इसलिए उन्होंने वापस पुणे आने का फ़ैसला किया। अचानक ही राधिका ने एक साल के लिए लंडन के Trinity Laban Conservatoire of Music and Dance में जाने का फ़ैसला किया। राधिका कहती हैं कि लंडन में बिताया उनका समय प्रोफेशनली बहुत अच्छा अनुभव था क्योंकि वहां उन्हें काफी स्वतंत्र वातावरण मिला।

राधिका आप्टे के पति भी हैं कलाकार

राधिका शादीशुदा हैं। ये बात तो उनके फेमस होने के बाद भी कई लोग नहीं जानते थे। जब वो लंडन में थी तो उनकी मुलाकात म्यूज़िशियन बैनडिंक्ट से हुई और दोनों ने कुछ साल बाद शादी कर ली। अपने पुराने अनुभव के कारण राधिका वापस मुंबई नहीं जाना चाहती थी लेकिन एक साल उन्होंने हामी भर दी एंड रेस्ट इज़ हिस्ट्री।

राधिका उन चंद एक्ट्रेसेस में से हैं जिन्हें अपने रंग और अनकन्वेंशनल लुक्स की वजह से बॉलीवुड में काफ़ी ना-ना का सामना किया। राधिका असल  ज़िंदगी में भी बहुत बोल्ड हैं और आज के दौर में हिंदी सिनेमा की सबसे मजबूत एक्ट्रेस में से एक हैं। वे निडर हैं और अपने करियर को लेकर जरा भी असुरक्षित महसूस नहीं करती। लेकिन बदलते परिदृश्य और परिपक्व होते दर्शकों ने राधिका को परख लिया और सिनेमा को मिला एक असली कलाकार, राधिका।

मूल चित्र : इंस्टाग्राम

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020