कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

हार्दिक-नताशा की ख़ुशखबरी सुन कर अनुष्का शर्मा के क्यों पीछे पड़े हैं सब?

Posted: जून 2, 2020

हार्दिक-नताशा के माता-पिता बनने पर सब खुश हैं लेकिन हमारे ट्विटर ट्रोल्स को तो विराट-अनुष्का के अब तक माता-पिता ना बनने की चिंता हैं!

कल क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और उनकी मंगेतर नताशा स्टेनकोविक ने घोषणा की वह माता-पिता बनने वाले हैं।

एक तरफ इस खबर को उत्साह से लिया गया और इस कपल को सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर काफ़ी बधाइयाँ दी गई। तो दूसरी तरफ ट्रोल्स ने उनका काफी मज़ाक भी उड़ाया। हार्दिक पांड्या के ‘प्रदर्शन’ के बारे में से लेकर नताशा के भारतीय ना होना और इसी वजह से शादी के पहले माँ बन जाने तक। ट्रोल्स ने हार्दिक-नताशा की जोड़ी को शर्मसार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

— अभय ✍ (@Abhay_Mahadik_) May 31, 2020

हार्दिक-नताशा के साथ साथ एक और शख्स जिसको ट्रोल्स ने शर्मसार करने से छोड़ा वो थी अभिनेत्री अनुष्का शर्मा। ट्रोल्स ने हार्दिक पांड्या और नताशा का उदहारण देते  हुए अनुष्का और विराट के अभी तक माता पिता न बन पे सवाल उठाए। अनुष्का शर्मा और विराट कोहली ने  इस  दिसंबर 2017 में शादी की थी। जब ये दोनों डेट कर रहे थे तभी से अनुष्का शर्मा ट्रोल्स का हमेशा से निशाने पर रहती थीं।

अनुष्का शर्मा  – ट्रोल्स का पसंदीदा निशाना

2017 में अपनी शादी से पहले भी, अनुष्का शर्मा को मैचों के दौरान कोहली के खराब प्रदर्शन के लिए लगातार ट्रोल किया जाता था। कोहली का अभ्यास या मैचों पर पूरा ध्यान ना  देने के लिए भी अनुष्का को दोषी ठहराया जाता था। क्योंकि आखिर ये तो सत्य हैं ना की हमारे समाज के लिए पुरुष इतने भोले हैं कि महिलाएं उन्हें आसानी से ‘भ्रष्ट’ कर सकती हैं, है ना?

जब उनकी शादी हो गई, तब भी अनुष्का हर बार कोहली के खराब प्रदर्शन के लिए ट्रोल की गई थीं। अनुष्का के साथ शादी के बाद विराट के क्रिकेट मैचेस में ख़राब प्रदर्शन करना और हमारे समाज का इसका ठीकरा अनुष्का पे फोड़ देना हमारी पितृसत्ता से बहरी सोच को दर्शाता है। हमारे समाज को घर में सब कुछ गलत होने के लिए नई बहू को दोष देना बहुत आसान लगता है। व्यापर में नुकसान से लेकर घर में सुई के खो जाने तक हर छोटी से बड़ी चीज़ के लिए नई बहु को दोष देना उसे ‘मनहूस’ का लेबल देना हमारे पितृसत्ता से भरे समाज की खासियत है।

यह देखते हुए, यदि आपको लगता है कि अनुष्का शादी होने के बाद पहले साल में ही एक बच्चा होने पर भी को ट्रोलिंग से बच जातीं, तो शायद आप गलत हैं! हालाँकि ये ज़रूर हो सकता है कि अगर शादी के एक साल बाद ही अनुष्का माँ बन जाती और फिर अगर विराट मैच में खराब प्रदर्शन देते तो अनुष्का के साथ साथ उनके बच्चे को भी सोशल मीडिया पर भारत के लिए ‘मनहूस’ घोषित कर दिया जाता।

उसके साथ साथ, वह शायद अपने करियर को मारने के लिए ट्रोल की जाती।

लेकिन अब जब शादी के दो साल पूरे हो जाने के बावजूद भी उनका कोई बच्चा नहीं है, तब भी अनुष्का को विराट कोहली को बच्चा नहीं देने के लिए ट्रोल किया जाता है।

इस कहानी का मूल  यह है कि भले ही  शादी से पहले हो या शादी के शुरुआती दिनों हो गर्भवती होने पर एक महिला को ट्रोल किया जाता है। उसके साथ साथ अगर काफी समय से शादीशुदा होने के बावजूद वह गर्भवती नहीं हो पाती है, या फिर शादी के काफ़ी समय बाद गर्भवती होती है तब भी उसे ट्रोल किया जाता हैं! उसे गर्भावस्था के वजन बढ़ने के लिए और अपने बच्चे के लिए कुछ भी करने के लिए ट्रोल किया जाता है। क्योंकि हमारे समाज के लिए गर्भावस्था और बच्चा एक महिला की एकमात्र जिम्मेदारी है। यह मानसिकता इतनी गंभीर है कि मशहूर हस्तियां भी इससे अछूती नहीं हैं।

आखिर कब हम मशहूर हस्तियों को अपनी ज़िन्दगी जीने देंगे?

मशहूर लोगों को ट्रोल करने और उनके उनके जीवन पे अपनी टिपण्णी देने के प्रयास में लोग अक्सर भूल जाते हैं कि ये मशहूर हस्तियां भी इंसान हैं। और यह बात भी की उनमे भी भावनाएँ होती हैं।

इन मशहूर हस्तियों का जीवन आम लोगों की नज़र में खुले रहने के कारण निरंतर आलोचना का भी शिकार होता है। लेकिन किसी भी अन्य इंसान की तरह, आलोचना उन्हें भी प्रभावित करती है।

कोई भी व्यक्ति अपने जीवन को एक मजाक के रूप में देखना पसंद नहीं करता है, कोई भी जिन चीज़ों  के लिए वो जिम्मेदार ना हो उनके लिए समाज के द्वारा खुद को दोषी ठहरना मंजूर नहीं करता। लगातार ट्रोलिंग इन मशहूर हस्तियां के मानसिक स्वास्थ्य पर भी भारी प्रभाव करता है। याद रखें, उनके पास भी भावनाएं हैं!

अनुष्का शर्मा को विराट के ख़राब प्रदर्शन के लिए ट्रोल किए जाने से उनके मानसिक स्वास्थ्य पर पर काफ़ी प्रभाव पड़ा था। और यह इतना गंभीर था की उन्हें  लोगों को यह एहसास दिलाने के लिए कि सेलेब्स भी इंसान हैं, एक बयान जारी करना पड़ा। कोहली हमेशा से अनुष्का के प्रति  बहुत सहयोगी रहे हैं और हमेशा अनुष्का को ट्रोल करने वाले लोगों के खिलाफ उन्होंने अपने बयान भी दिए हैं।

लेकिन यह हालिया जिसमें हार्दिक-नताशा और अनुष्का-विराट को ट्रोल किया गया, वह मशहूर हस्तियों की गोपनीयता का सम्मान करने की हमारी आवश्यकता पर कई सारे सवाल उठाता है। हमारे समाज के लिए यह समझना बहुत ज़रूरी हैं की मशहूर हस्तियां भी अंत में आखिर हम सब की तरह इंसान हैं। उन्हें मानवता के लेंस के साथ देखने की आवश्यकता है और उनकी गोपनीयता को वास्तव में सम्मान करने की आवश्यकता है!

मूल चित्र : Instagram

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

I read, I write, I dream and search for the silver lining in my life.

और जाने

घर के बाहर काम करने से क्या मैं बुरी माँ बन जाऊँगी?

टिप्पणी

Women In Corporate Allies 2020

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

Women In Corporate Allies 2020