कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

अगर है हमें प्यार चुनने का हक़, तो समाज की ये बंदिशें क्यों?

Posted: May 30, 2020

प्यार रूह से किया जाए तो प्यार कहलाता, गर जिस्म से हो जाए तो समाज बीच में आ जाता? जिंदगी जीने और प्यार चुनने का हक है तो यह समाज बंदिशें क्यूं लगता?

प्यार रूह से किया जाए तो प्यार कहलाता,
गर जिस्म से हो जाए तो समाज बीच में आ जाता?
जिंदगी जीने और प्यार चुनने का हक है गर हमें,
तो यह समाज जाति प्रकृति की बंदिशें क्यूं लगता?

माना सोच थोड़ी अलग है और जिंदगी जीने का
नजरिया भी,
पर उनकी पसंद नापसंद पर अपनी सहमति की
मोहर लगाए
यह भी तो उचित नहीं!

मिले कई अधिकार उन्हें मौलिक अधिकारों के नाम
पर,
पर प्यार चुनने का हक नहीं उन्हें समाज के नाम पर,
देते अछूत का दर्जा उन्हें समलैंगिकता के नाम पर,
बेरहमी से मार भी डालते उन्हें समाज मर्यादा के नाम
पर?

इंसानियत का सार है उनमें और इश्क़ का मर्म भी,
समान्य की तरह कम से कम दरिंदगी वो फैलाते तो
नहीं,
भले ही अलग है वो हमसे और सामान्य जिंदगी का
हिस्सा नहीं,
पर जुड़ नहीं सकते वो समाज से उनके साथ इंसाफी
भी तो नहीं।

जोड़ कर देखो उन्हें समाज से मुख्यधारा में यह खुद
आएगा,
गिराकर गंदी सोच की दीवार को यही साथ में हमारे
नया समाज बनाएगा!

नोट : जून प्राइड मंथ है, और हम इसे चिह्नित करने के लिए लेखों की एक श्रृंखला रख रहे हैं, जिसमें एलजीबीटीक्यूए + समुदाय और उनके सहयोगियों की आवाज़ें शामिल हैं, जिनमें विमेंस वेब कम्युनिटी भी शामिल है। ये लेख उसी श्रृंखला की एक कड़ी है। 

मूल चित्र : Canva

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

Online Safety For Women - इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार (in Hindi)

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?