कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

माँ तुम सच में ईश्वर का भेजा हुआ अमूल्य रत्न हो …

कहते हैं माँ के पैरों के नीचे जन्नत है, यह बात कितनी सार्थक  लगती है क्योकि माँ जैसी हस्ती दुनिया में है कहाँ, नहीं मिलेगा वो दिल चाहे ढूंढ ले सारा जहाँ...

कहते हैं माँ के पैरों के नीचे जन्नत है, यह बात कितनी सार्थक  लगती है क्योकि माँ जैसी हस्ती दुनिया में है कहाँ, नहीं मिलेगा वो दिल चाहे ढूंढ ले सारा जहाँ…

माँ, तुम कितनी प्यारी हो,
तुम एक सुदृढ़ नारी हो,
ममतामयी छवि है और कृशकाय काया है तुम्हारी,
बच्चों के लिए जीते हुए कभी नहीं तुम हारी।

हौसलों की मिसाल हो तुम,
त्याग की प्रतिमूर्ति हो तुम,
बच्चों की सुखद छांव है आँचल तुम्हारा,
उनकी सफलताओं पर खिलती मुस्कान तुम्हारी।

माँ तुम न्यारी हो,
ईश्वर की अद्भुत कलाकारी हो!

मूल चित्र : Canva 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

14 Posts | 40,430 Views
All Categories