कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

लारा दत्ता-रिंकू राजगुरु की सीरीज़ हंड्रेड में है कॉमेडी, एक्शन और एक जानदार एक्टिंग!

लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की वेब सीरीज़ हंड्रेड में कॉमेडी, इमोशनज़, एकदम खतरनाक एक्टिंग, बहुत अपीलिंग है और यह इस वेब सीरिज़ को खास बना देती है।

लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की वेब सीरीज़ हंड्रेड में कॉमेडी, इमोशनज़, एकदम खतरनाक एक्टिंग, बहुत अपीलिंग है और यह इस वेब सीरिज़ को खास बना देती है।

स्पॉइलर अलर्ट 

लॉकडाउन के मौजूदा दौर में जब सिनेमा थियेटर बंद किए गए हैं, लोगों के मनोरंजन के लिए ओटीटी प्लेटफार्म राहत बनकर उभरा है। जहां नये पहचाने बनाने के लिए संघर्षरत कलाकार ही नहीं, नामी-गिरामी कलाकार भी अपने अभिनय का जलवा बिखेर रहे हैं। साथ ही साथ ट्रेंड से बाहर हो चुके पुराने कलाकारों ने भी ओटीटी प्लेटफार्म से पैसा और शोहरत दोनों कमा रहे हैं। अपनी रूठी किस्मत बदलने के लिए अभिनेत्री लारा दत्ता और अपनी डेब्यू फिल्म से नाम कमा चुकी रिंकू राजगुरू दोनों का ही डिजिटल डेब्यू डिज्नी प्लस हांटस्टार वीआईपी पर रिलीज वेब सीरीज़ हंड्रेड ने किया है।

हंड्रेड एक कॉमेडी एक्शन वेब सीरीज़ है

हंड्रेड एक कामेडी एक्शन वेब सीरीज़ है जिसकी कहानी दो विपरीत शख्यित की महिलाओं के चारों तरफ घूमती हैं। इस कहानी को बयां कर रहे है निर्देशक रूचि नारायण, आशुतोष शाह और ताहिर शब्बीर, इन चारों ने कहानी को बड़े ही रोचक तरीके से बुना है। लारा और रिंकू का साथ इस कहानी में करण वाही, सुधांशु पांडे, परमीत सेठी, रोहित हट्टंगडी, अरून नलावड़े और मकरंद देशपांडे दे रहे हैं।

लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की वेब सीरीज़ हंड्रेड में सब कुछ है

आठ एपिसोड्स में रिलीज़ हुई कहानी शुरू होती है एक बीमार लड़की से जिसकी जिंदगी के आखिरी 100 दिन बचे हैं और वह अपनी बाकी की जिंदगी में रोमांच की तलाश में है। दूसरी तरफ सौम्या(लारा दत्ता) है जो एक प्रमोशन की चाहत रखने वाली महिला पुलिस अफसर है। पुलिस प्रशासन में मौजूद पुरुष वर्ग चरित्र उसे पुलिस महकमें का पोस्टर इमेज बनाकर रखना चाहता है।

पुलिस महकमें में महिलाकर्मियों के साथ किए जाने वाले पुरुषवादी व्यवहार को सही अंदाज में कहने की कोशिश की गई है। सौम्या असिस्टेंट कमिश्नर है, मगर उसको लाइफ में अपने काम के लिए कोई पॉप्युलैरिटी नहीं मिली है। उसका अपना हसबैंड उसके रास्ते का रोड़ा है। सौम्या को कैसे भी खुद को फेमस करना है। उसके पास केसेस भी हैं, लेकिन मेहनत करे यह ले जाये कोई और उसके साथ ये हर बार होता है। ऐसे में मुंबई में, जो कि इत्तेफाकों का शहर है, अचानक उसकी मुलाकात एक ऐसी लड़की नेत्रा ( रिंकू) से होती है, जिसको डॉक्टर ने कहा है कि उसको ट्यूमर है और उसके पास सिर्फ 100 दिन हैं। दोनों अपने लक्ष्य को 100 दिन में पाने के लिए एकजुट हो जाती हैं जिससे कहानी में कुछ अलग-अलग मोड़ भी आते हैं। नेत्रा के पास दिमाग है और सौम्या के पास ताकत। दोनों एक दूसरे का डिमांड पूरा करते हुए एक दूसरे का कैसे इस्तेमाल करते हैं?

बहरहाल कहानी आगे बढ़ती है सौम्या जब (नेत्रा)रिकूं को एक अंडरकवर एंजेट के तौर पर नियुक्त्त करती है। अचानक कहानी में एक बड़ा ट्विस्ट आता है, जब क्वीन अपने प्यादे के साथ एक गेम खेलती है। अब शो में यह देखना ही दिलचस्प है कि क्वीन कौन है और प्यादा कौन? चार निर्देशकों ने शो की कहानी अच्छे से प्रेजेंट की है।

Never miss real stories from India's women.

Register Now

पुलिस प्रशासन की पुरुषवादी राजनीति यह इस कहानी की सबसे अच्छी बात है जिसे फीमेल पॉइंट ऑफ व्यू से दिखाया है, इसके आगे लारा दत्ता और रिंकू दोनों ने अपने अभिनय के साथ न्याय किया है। कॉमेडी तो कॉमेडी, इमोशनल तो इमोशनल, एकदम खतरनाक एक्टिंग हैं जो बहुत कांफिडेंट और बहुत अपीलिंग है यह इस बेव सीरिज को खास बना देती है।

खासकर उस दौर में जब सिनेमाघर और थियेटर में अलादीन के ताले लटके पड़े है, ये कोई नहीं जानता लॉकडाउन खुलने के बाद भी सिनेमाघरों और थियेटरों को समान्य होने में कितना वक्त लगेंगा। जाहिर है आने वाले महीनों में ओटीटी प्लेटफार्म ही मनोरंजन का पयार्य रहेगा जब तक स्थिति समान्य नहीं हो जाती है।

मूल चित्र : YouTube 

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

240 Posts | 611,353 Views
All Categories