कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

कविता

Posted: April 16, 2020

कविता शब्द का अर्थ सिर्फ यह नहीं के ताल और तुक मिले कविता का अर्थ है “निचोड़” किसी भी भाव का निचोड़ जो आपकी मनोभावना को प्रदर्शित आप अपने भाव के अनुरूप अपने शब्दों को एक लय में बाँध देते हैं 

यूँ तो आसां नहीं होता किसी कविता का बन जाना ,

हर वक़्त मुमकिन नहीं होता लफ़्ज़ों का आकार ले लेना

दिल के दर्द जब पिघल कर बनते हैं शब्द….

तब होती है इक कविता मुकम्मल !

दिल के घाव जब नासूर बन रिसते हैं ,

तब होती है इक कविता मुकम्मल !

कहीं दूर तक अंधेरे गलियारों में

यूँ ही बिना वजह भटकने के बाद ,

जब कहीं रोशनी न आये नज़र

तब होती है इक कविता मुकम्मल !!

कभी कभी प्रेम रस से भीगे से

लफ़्ज़ जब करते हैं अठखेलियाँ ,

तब होती है इक कविता मुकम्मल !

कभी ख़ुशियों की सौग़ात मिल जाए ,

और दिल के तार झंकृत हो जाएँ

तब होती है इक कविता मुकम्मल !

जब कभी यादों की पोटली खुल जाए ,

और सोये किरदार बाहर निकल आएँ

फिर होती है इक कविता मुकम्मल !!

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

Online Safety For Women - इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार (in Hindi)

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?