कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

मैं दोबारा जन्म लेकर इस दुनिया में आना चाहती हूं मगर तब जब…

Posted: November 19, 2019

ऐसा नहीं है कि मैं दोबारा जन्म नहीं लेना चाहती पर इस बार मेरी अपनी कुछ शर्तें होंगी, क्या आप इन्हें मानने के लिए तैयार हैं?   

मैं दोबारा जन्म लेकर इस दुनिया में आना चाहती हूं…

पर, मैं आऊं, तो कोई परिपाटी ना हो,
गल्तियों की हो जगह, महानता अनिवार्य ना हो,
मेरी कुछ सीमाएं हैं? मुझे पता ना हो?
जब मैं आऊं, तो मेरा आना किसी को खला ना हो।

दो-दो घरों के लाज की, ज़िम्मेदारी ना हो,
पल प्रति पल, झुकने का, प्रशिक्षण ना हो।
मुझे बिना कारण कोई लक्ष्मी, दुर्गा ना पुकारे,
ना कोई, मेरे पैर पूजे, और ना ही कोई दुत्कारे।
मेरी रक्षा, मेरी स्वयं की, ज़िम्मेदारी हो।
मुझ पर पिता, भाई, बेटे, पति की, ना कोई दावेदारी हो।

मूल चित्र : Unsplash

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

Online Safety For Women - इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार (in Hindi)

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?