कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

आस्था और तर्क के बीच ताल-मेल बनाए रखना कितना ज़रूरी है?

Posted: October 3, 2019

निराहार से दादी की तबियत गड़बड़ होने लगी, पर बिना कलश स्थापना किए खाने को तैयार ही नहीं थीं इससे घर के सभी सदस्य परेशान होने लगे।

चार दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश के कारण जन जीवन एकदम अस्त-व्यस्त हो गया था और आज नवरात्रि का प्रथम दिन था। मनु की दादी तथा माँ दोनों ही उस दिन व्रत रखती हैं और पंडित जी के द्वारा कलश स्थापना का अनुष्ठान सम्पन्न होने पर ही फलाहारी भोजन ग्रहण करती हैं। यह सिलसिला वर्षों से चला आ रहा था।

पर इस साल जगह-जगह जल-जमाव व बारिश के कारण उनके पंडित जी को बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। रात के आठ बज रहे थे और पंडित जी नदारद।

निराहार से दादी की तबियत गड़बड़ होने लगी, पर बिना कलश स्थापना किए खाने को तैयार ही नहीं थीं। घर के सभी सदस्य परेशान होने लगे। दस वर्षीय मनु भी अपनी दादी की हालत देखकर चिन्तित होने लगा।

वह आकर दादी से बोला, “दादी! पंडित जी नहीं आ पाएंगे तो आप कब तक भूखी रहेगी? ये तो माँ दुर्गा को भी अच्छा नहीं लगेगा। और मुझे भी।”

दादी आश्चर्य से भर उठीं, इस तरह से तो उनकी माँ उनसे कहती थीं । इससे पहले वह कुछ कहतीं, वह बोल पड़ा, “चलिए! मैं माँ की तस्वीर के आगे धूपबत्ती व घंटी बजा कर माँ का आह्वान करता हूँ।”

दादी की आँखें भर आईं। और वह उठकर उसके साथ चल दीं, बुदबुदाते हुए , “माँ का तो आह्वान हो गया।”

मूल चित्र : Pexels

पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

Vaginal Health & Reproductive Health - योनि का स्वास्थ्य एवं प्रजनन स्वास्थ्य (in Hindi)

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?