कोरोना वायरस के प्रकोप में, हम औरतें कैसे, इस मुश्किल का सामना करते हुए भी, एक दूसरे का समर्थन कर सकती हैं?  जानने के लिए चेक करें हमारी स्पेशल फीड!

नर तू जीवनदात्री बिन पूर्ण नहीं

सम्मान करो उसकावह तो जीवनदात्री हैउड़ने दो उन्मुक्त गगन में उसकोजिसकी वह अधिकारी हैनारी बिन नर का अस्तित्व नहींनर! नारी बिन कभी पूर्ण नहीं

सम्मान करो उसका, वह तो जीवनदात्री है, उड़ने दो उन्मुक्त गगन में उसको, जिसकी वह अधिकारी है, नारी बिन नर का अस्तित्व नहीं, नर नारी बिन कभी पूर्ण नहीं

मत तिरस्कृत करो नारी को
नारी नर की जननी है
नारी बिन नर का अस्तित्व नहीं
नर! नारी बिन कभी पूर्ण नहीं

मां, बहन, पत्नी, बेटी रूप में
पग-पग पर देती सुखद एहसास तुम्हें
नारी का ही पा सानिध्य नर,
बनता खरा दमकता कंचन है
नारी बिन नर का अस्तित्व नहीं
नर! नारी बिन कभी पूर्ण नहीं

सम्मान करो उसका
वह तो जीवनदात्री है
उड़ने दो उन्मुक्त गगन में उसको
जिसकी वह अधिकारी है
नारी बिन नर का अस्तित्व नहीं
नर! नारी बिन कभी पूर्ण नहीं

मूल चित्र : Unsplash


पसंद आया यह लेख?

पाइये विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स मे!

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

टिप्पणी

About the Author

10 Posts | 19,959 Views
All Categories